Advertisment

Mindful Parenting:बनना चाहते हैं अच्छे माता-पिता? तो अपनाएं ये 5 टिप्स

Blog: माइंडफुल पेरेंटिंग का अर्थ है अपने इमोशन और बिहेवियर को मैनेज करना और यही बात अपने बच्चों को सिखाना। माइंडफुल पेरेंटिंग करना बच्चों में कई तरह से फायदेमंद होता है। जानें अधिक इस ब्लॉग में-

author-image
Vaishali Garg
New Update
parent

Benefits Of Mindful Parenting

Benefits Of Mindful Parenting: जब भी पेरेंटिंग की बात आती है तब कई तरह के विकल्प पेरेंट्स के सामने आते हैं प्रत्येक माता-पिता यह सोचते हैं कि वह अपने बच्चे के लिए बेस्ट पैरेंट किस तरह बन सकते हैं। पेरेंटिंग की दुनिया में आज हम बात करेंगे माइंडफुल पेरेंटिंग के बारे में। 

Advertisment

माइंडफुल पेरेंटिंग का मतलब क्या होता है? 

यह पेरेंट्स कि वह साइड है जिसमें पेरेंट्स और बच्चे दोनों को खुदको सुधारने का मौका मिलता है। माइंडफुल पेरेंटिंग करने के लिए सबसे पहले आपको अपनी भावनाओं पर काबू होना चाहिए। पेरेंटिंग से जुड़ी कई बातें सुनने के बाद सामने आता है माइंडफुल पेरेंट्स। माइंडफुल पेरेंटिंग का अर्थ है अपने इमोशन और बिहेवियर को मैनेज करना और यही बात अपने बच्चों को सिखाना। माइंडफुल पेरेंटिंग करना बच्चों में कई तरह से फायदेमंद होता है। माइंडफुल पेरेंटिंग करने से बच्चे इमोशनली स्ट्रांग बनते हैं, जिस वजह से वह इमोशनली कोई डिसीजन नहीं लेते। बच्चे सोच समझकर वह डिसीजन लेते है जो फ्यूचर में उनको काम आएगा। हम आपको बताएंगे माइंडफुल पेरेंटिंग करने के कुछ फायदों के बारे में।

5 Benefits Of Mindful Parenting

Advertisment

1. इमोशनल इंटेलिजेंस को बढ़ाता है

माइंडफुल पेरेंटिंग के दौरान पेरेंट्स अपने इमोशंस के बारे में अधिक अवेयर होते हैं साथ-साथ अपने बच्चों की इमोशंस को भी समझते हैं। पेरेंट्स अपने और अपने बच्चों के इमोशंस को एक साथ पहचानते हैं तो ऐसे में उनका रिलेशनशिप स्ट्रांग बन जाता है।

2. बेतहर कम्युनिकेशन

Advertisment

जब किसी भी व्यक्ति की बातें आप ध्यान से सुनते हैं। तब वह व्यक्ति आपसे इंटरेक्ट होता है। माइंडफुल पेरेंटिंग, पेरेंट्स के अंदर सुनने की क्षमता बढ़ाता है। जिस वजह से पेरेंट्स अपने बच्चे से क्लियर कम्युनिकेशन कर पाते हैं। क्लियर कम्युनिकेशन की वजह से पेरेंट्स और बच्चे में इंटरेक्शन बढ़ता है।

3. डिसीजन लेने में सहायक

माइंडफुल पेरेंटिंग के दौरान माता पिता अपने बच्चों को अच्छी तरह समझते और पहचानते हैं। इस वजह से वह अपने बच्चे के लिए बेहतर डिसीजन लेने में सक्षम होते हैं। वह समझते है की उनके बच्चे के लिए क्या डिसिजन बेहतर होगा।

Advertisment

4. खुशी महसूस करना

जब पेरेंट्स अपनी भूमिका अच्छे से निभाते है तब उन्हें बेहद खुसी महसूस होती है। वह अपने बच्चे के करीब होते है, बच्चे उन्हें अपना दोस्त समझते है। बच्चे अपने जीवन का हर उतर चड़ाव अपने पेरेंट्स से डिसकस करते है वह पल पेरेंट्स और बच्चे दोनों को खुशी देता है और ऐसा माइंडफुल पेरेंटिंग की मदद से होता है।

5. बेहतर रिलेशनशिप  

Advertisment

माइंडफुल पेरेंटिंग की मदद से बच्चे और पेरेंट्स में एक पॉजिटिव रिलेशनशिप बनता है जिसके अंदर माता पिता और बच्चे दोनों की म्यूच्यूअल अंडरस्टैंडिंग और एक दूसरे के प्रति सम्मान होता है। 

पेरेंटिंग कम्युनिकेशन रिलेशनशिप
Advertisment