Violence Against Women: महिलाओं के खिलाफ हिंसा के बारे में कुछ चौंकाने वाले आंकड़े

ईरान में विरोध करने वाली महिलाओं के संघर्ष के बीच महिलाओं के खिलाफ हिंसा के उन्मूलन के लिए अंतरराष्ट्रीय दिवस मनाते हैं, जो आज 25 नवंबर को है। इस ब्लॉग हम कुछ ऐसे आंकड़ों पर नजर डालते हैं जो महिलाओं के खिलाफ हिंसा को खत्म करने के महत्व पर जोर देते हैं-

Vaishali Garg
25 Nov 2022
Violence Against Women: महिलाओं के खिलाफ हिंसा के बारे में कुछ चौंकाने वाले आंकड़े

Violence Against Women

Violence Against Women: हाल ही में बहुत से ऐसे मामले सामने आए जहां महिलाओं की भयानक तरीके से हत्या कर दी गई थी। ईरान में विरोध करने वाली महिलाओं के निरंतर संघर्ष के बीच महिलाओं के खिलाफ हिंसा के एलिमिनेशन के लिए अंतरराष्ट्रीय दिवस मनाते हैं। 15 नवंबर 1960 को डोमिनिकन गणराज्य द्वारा मेरा बल बहनों की हत्या की वर्षगांठ का प्रतीक है कार्यकर्ता बहनों ने राफेल और 2 जिलों की तानाशाही का विरोध किया था और उनकी हत्या ने उन्हें महिला प्रतिरोध के प्रतीक में बदल दिया।

तीन मारी गई बहनों के सम्मान में, संयुक्त राष्ट्र (UN) महासभा ने उनकी डेथ एनिवर्सरी को महिलाओं के खिलाफ हिंसा के एलिमिनेशन के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में समर्पित किया।

आइए आज के दिन हम कुछ ऐसे आंकड़ों पर नजर डालते हैं जो महिलाओं के खिलाफ हिंसा को खत्म करने के महत्व पर जोर देते हैं।

महिलाओं(Women) के खिलाफ हिंसा के बारे में चौंकाने वाले आंकड़े



  • संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनिया गुएटेरेस ने बताया, "हर 11 मिनट में एक महिला या लड़की को एक अंतरंग साथी या परिवार के सदस्य द्वारा मार दिया जाता।
  • वैश्विक स्तर पर 30 प्रतिशत महिलाएं शारीरिक या फिर यौन हिंसा का अनुभव करती हैं।
  • 15 से 19 वर्ष की उम्र की 24 प्रतिशत किशोरियाँ, जो फिजिकल रिलेशन में रही हैं, अपने साथी से शारीरिक या यौन हिंसा का अनुभव करती हैं।
  • संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट के अनुसार 2021 में हर १ घंटे में 5 से अधिक महिलाओं और लड़कियों की परिवार के किसी सदस्य द्वारा हत्या कर दी गई।
  • 2021 में दुनिया भर में लगभग (81,100) महिलाओं और लड़कियों की आधे से अधिक, 56 प्रतिशत (45,000) हत्या उनके पतियों, पार्टनर या परिवार के किसी सदस्यों द्वारा की गई थी।
  • एशिया में करीब 17,800 महिलाओं की उनके रिश्तेदारों के द्वारा हत्या कर दी गई।
  • भारत में 2021 में रेप के 31,677 मामले दर्ज किए गए थे। एक रिपोर्ट के मुताबिक ऐसा बताया गया है कि हर दिन औसतन 86 रेप के मामले दर्ज किए जाते हैं।
  • हर एक घंटे में महिलाओं के खिलाफ अपराध के लगभग 49 मामले दर्ज किए जाते हैं रोज।
  • भारतीय राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) ने बताया, 2020 की तुलना में 2021 में महिलाओं के खिलाफ अपराधों की घटनाओं में 15.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई।
  • एनसीआरबी के आंकड़ों से यह भी पता चलता है कि 2021 में दहेज मृत्यु के लगभग 6,589 मामले दर्ज किए गए थे,जो की 2020 से 3.85 प्रतिशत कम है।


अनुशंसित लेख