Consent From Women: आखिर क्यों नहीं समझते लोग, ना का मतलब होता है नहीं

आखिर हम कैसे समाज में जी रहे हैं जहां महिलाओं को बोलने तक का हक नहीं है? जहां महिलाओं के कंसेंट की वैल्यू नहीं की जाती। आखिर क्यों महिलाओं की ना को भी हां की तरह समझा जाता है? आइए जानते हैं यह सब इस ब्लॉग के जरिए

Aastha Dhillon
11 Jan 2023
Consent From Women: आखिर क्यों नहीं समझते लोग, ना का मतलब होता है नहीं

Consent

नहीं का मतलब होता है ‘नहीं’ :यह बहुत छोटी सिंपल और ऑब्वियस बात है कि 'नहीं' का मतलब नहीं होता है लेकिन कुछ लोग इस बात को भी नहीं समझते। उनके हिसाब से अगर आप किस चीज से मना कर रहे हैं तब भी आप उस चीज को कर सकते है।

No Means No: लड़की की ना का मतलब ‘नहीं’ ही होता है!

हम अपने आस-पास ऐसी बहुत सी घटनाएँ देखते है लड़की ना भी बोलती है लेकिन फिर भी उसके साथ 'रेप' होता है और ‘सेक्शूअल हर्रासमेंट’(Sexual Harassment) के कितने केस सामने आते है। यह इस लिए होता है क्योंकि क्योंकि औरत की 'नहीं' में मर्द को ‘हां’ सुनाई देता है। मर्द अपने घर की औरत के साथ चाहता है उसके साथ कुछ गलत ना हो लेकिन किसी दूसरी के बहन, बेटी को कुछ नहीं समझता है। उसके साथ गलत करने में उसे जरा भी शर्म नहीं आती है।


‘लड़की के ना में हाँ है’ का साइकोलॉजिकल रीजनिंग: 

बात बस इतनी है की लड़के चाहते हैं की लड़की शर्मीली और ना ना करने वाली हो। इससे सबकॉन्शियसली पता चलता है कि वह किसी और मर्द के अप्रोच को भी ‘ना’ ही कहेगी।

दूसरी बात यह है की ओपनली सेक्स में इंटरेस्ट दिखने या डेट के लिए पहले अप्रोच करने वाली लड़की को समाज के द्वारा ‘तेज़’, ‘करक्टेरलेस’ या ‘चालू’ बुलाया जाता है। इसका असर लड़के और लड़की, दोनों पर पड़ता है। लड़किया सोचती है की अगर वे हाँ कहें, उन्हें ख़राब माना जायेगा, और लड़के सोचते हैं की अगर लड़की आसानी से मान जाये तो उसका ‘कैरेक्टर ढीला है’।

लड़की के ‘ना में हाँ है’ वाली सोच के दुष्परिणाम 

1. एक लड़की के पीछे पड़ जाने को सही माना जाता है

कई लोग लकीर नहीं बना पाते और वे स्टाकिंग और बुलइंग जैसे काम करते हैं। यह लड़की के लिए स्ट्रेसफुल होता है। कई छोटे उम्र की लड़कियाँ इस स्ट्रेस को नही संभाल पाई, और आत्म हत्या का रास्ता चुनना।

2. ब्लैकमेल (Blackmail)

ब्लैकमेल यानी किसी चीज़ को पाने के लिए व्यक्ति को धमकी देना। कई लड़के जिस लड़की को पसंद करते हैं, उन्हें सुसाइड, या लड़की के किसी प्रियजन को चोट पहुंचने की धमकी देते हैं। ऐसे भी केसेस हैं जहाँ लड़की शादी के लिए सिर्फ इसलिए मान गयी क्योंकि लड़के ने ऐसा कोई धमकी दिया है। यह एक इंसान के स्वतंत्रता को पूरी तरह खा जाता है। 


3. रेप 

अगर लड़की के ना में हाँ है, तो कंसेंट काम कैसे करेगा? तिहार जेल में की गयी एक सोशियोलॉजिकल सुर्वे बताता है की 28% रेपिस्ट रेप करते हैं क्योंकि उनके अनुसार लड़की केवल शर्मा रही थी। उसको सेक्स चाहिए था, पर शर्म के कारण वह ‘ना’ कह रही थी।

Read The Next Article