डॉक्टर तान्या नरेंद्र कहती हैं, “मैं Fertility की फ़ील्ड में काम करती हूँ और रोजाना मेरा सामना ऐसे कई पुरुषों से होता है जो अपना (fertility) टेस्ट नहीं करवाना चाहते क्योंकि वे समझते हैं कि उन्हें (erecticle dysfunction) या सेक्स करने में प्रॉब्लम नहीं होती इसका मतलब वे पूरी तरह (fertile) हैं ! जबकी ऐसा ही हो यह जरूरी नहीं है। इम्पोटेंस (Impotence) और पुरुष बांझपन दो बिल्कुल अलग अलग चीज़ें हैं जिसे हम सब अक्सर गलत समझ लेते हैं।  

image

तो आइए डॉक्टर तान्या से इस टाॅपिक को डिटेल मे जानते और समझते हैं। 

(Potent) और (Fertile) होने में अंतर 

(Potence) का मतलब आपको (erection) या (orgasm) होता है या नहीं। अगर आप ये दोनों चीज़ें कर सकते हैं तो आप पोटेंट(Potent) हैं। Fertility का मतलब है की आपके स्पर्म इतने हैल्दी हैं की अपने पार्टनर को प्रेग्नेंट/conceive करा सकते हैं।

बहुत सारे पुरुषों का मानना है कि अगर वे पोटेंट हैं( erection और orgasm कर सकना) तो इसका मतलब की वे (Fertile) भी हैंं, और फिर प्रेग्नेंसी ना होने पर महिलाओं को ब्लेम करते हैं। जबकी ऐसा बिल्कुल भी सही नहीं है।  डॉक्टर तान्या कहती हैं, Infertility के बारे में बात करना बहुत जरूरी है क्योंकि यह दुनिया के 48 मिलियन लोगों को अफेक्ट करता है। सोचने की बात तो यह है की इनमें से ⅓ यानी की 16.1 मिलियन केस पुरुष बांझपन (Male Fertility in Hindi) के कारण होते हैं। 

पुरुष बांझपन (Male Infertility in Hindi) होने के कारण

डॉक्टर तान्या के अनुसार, पुरुष बांझपन (Male Infertility in Hindi) और स्पर्म की कम (fertile rate) के बहुत सारे कारण हो सकते हैं। जैसे की बचपन में जब MMR (mumps, measels and Rubela) की Vaccine नहीं लगवाते तो इससे (Mumps) होने पर कई बार लड़कों के टेस्टोस्टेरोन(Testosterone hormone) को नुकसान पहुंचता है, जिसका नतीज़ा स्पर्म की क्वालिटी (Sperm quality) पर पड़ता है। 

दूसरा कारण लड़कों के testicles पर चोट लगना हो सकता है। यहां चोट लगने से स्पर्म के (Production) पर अफेक्ट पड़ता है और कई बार यह पुरुष बांझपन ( Male Infertility in Hindi )का बड़ा कारण बन जाता है। बीमारियाँ जैसे की डायबीटीज Diabetes से भी स्पर्म की क्वालिटी कम हो जाती है।

डॉक्टर तान्या कहती हैं, लोगों को यह भी समझना चाहिये की अधिक मात्रा में ड्रग्स और शराब लेने से भी fertility पर असर पड़ता है क्योंकि यह आपके स्पर्म क्वालिटी को काफी हद तक नीचे गिरा देता है। और तो और स्ट्रेस, Anxiety, डिप्रेशन से भी Fertility पर गहरा फर्क पड़ता है।

अगर Infertility है तो भी बच्चे conceive हो सकते हैं

डॉक्टर तान्या कहती हैं, अगर कपल को इनफर्टिलिटी infertility है तो IVF(In-vitro fertilization) के आर्टिफिशियल तरीके से डॉक्टर बच्चे conceive हो सकते हैं। इसके साथ ही आप Viagra का भी इस्तेमाल कर सकते हैं ताकि पेनिस तक ब्लड फ़्लो ज्यादा पहुंचे और Erection में प्रॉब्लम ना हो।

अपनी लाइफस्टाइल भी सुधारें 

डॉक्टर तान्या के अनुसार, हमारी लाइफस्टाइल का सेक्स ड्राइव और (Fertility) पर गहरा असर पड़ता है इसलिए लाइफस्टाइल सुधारें। अपनी डाइट को बेहतर बनाएँ, रेगुलर एक्सरसाइज करें और शराब को लिमिट में consume करें। 

और पढ़ेंजानिए इरेक्टाइल डिस्फंक्शन क्या है और इसे कैसे ठीक करें

Email us at connect@shethepeople.tv