कितनी ही बार हम सभी किसी ना किसी को पसंद करने लग जाते हैं कॉलेज में या ऑफ़िस में, लेकिन समझ नहीं आता की पहला कदम कैसे बढाएँ, क्या कहें या कैसे कहें? और कितनी ही बार लड़कियाँ तो लड़कों के पहला कदम उठाने के इन्तज़ार में ही बैठी रह जाती हैं जबकी यह सिर्फ लड़कों की ही ज़िम्मेदारी नहीं होनी चाहिये। तो आइए जानते हैं कि कैसे अपने क्रश का दिल जीतें

सबसे पहले Rejection के डर को खुद से दूर करें।

ऐसा कितनी ही बार हमारे साथ होता है की Rejection के डर से हम आगे बढ़ते ही नहीं और ना ही कुछ कर पाते हैं। यह हमारे आत्मविश्वास को भी बुरी तरह से प्रभावित करता है। इसलिए सबसे पहले अपने मन से इस Rejection के डर को निकालें, क्योंकि अगर हम कोशिश करेंगें तभी तो पता चल पाएगा की सामने वाला भी इंटरेस्टेड है या नहीं। 

अगर कोशिश ही नहीं की तो कभी बात ही नहीं बढ़ेगी। और अगर सामने वाला इंटरेस्टेड ना हो तो वो भी पता चल जाएगा और हम move on कर पाएँगे, वरना तो एक ही जगह अटके रह जाएँगे।

लड़कियों को भी पहला कदम ज़रूर बढ़ाना चहिये।

हम लड़कियों के लिये भी पहली बार अपने पसंद के इन्सान को ask-out करना काफी empowering हो सकता है। यह आपके आत्मविश्वास को काफी बूस्ट-अप करेगा। आपको जो इन्सान पसंद हो आप उसे जरूर अप्रोच करें, क्योंकि इस सोसाइटी में आप सिर्फ उन लड़कों तक ही सिमित रह जाती हैं जिन्होनें आपको पहले ही पसंद करके अप्रोच किया है, और आपको मौका ही नहीं मिलता अपनी पसंद को फॉलो करने का सिर्फ अपनी झिझक की वजह से। 

और तो और ज्यादातर लड़कों को यह desperate बिल्कुल नहीं लगता, बल्कि उन्हें भी अच्छा लगेगा अगर उन्हें पहली बार अप्रोच किया गया है तो। कितनी ही बार लड़कियों में डर रहता है की हो सकता है की rejection झेलना पड़ेगा। लेकिन rejection को ऐक्सेप्ट करके आगे बढ़ना सिर्फ लड़कों ही नहीं, लड़कियों को भी सीखना चाहिये। 

और तो और पहला कदम आपके उठाने से यह लड़कों पर से काफी प्रेशर हटायेगा। इस तरह एक रिलेशनशिप की शुरुआत करना सेक्सिस्ट भी नहीं रहेगा और आप खुद को काफी ज्यादा empowered भी महसूस करेंगी।

ऐसा सोचें की आप एक दोस्त बनाने जा रहे हैं।

पहली बार किसी को अप्रोच करने के प्रेशर को कम करने के लिये ऐसा सोचें की आप एक दोस्त बनाने जा रहे हैं। ऐसे में impression बनाने का प्रेशर भी कम होगा और आपका आत्मविश्वास भी बढ़ेगा। 

जब आप पहली बार किसी खास से बात करने जा रहे हों तो उसे दोस्त ही समझकर बात करें। एक बार आप उनके साथ comfortable हो जाएँ तो आगे कदम बढ़ाएँ या उन्हें कॉफ़ी पर जाने के लिये भी पुछ सकते हैं।

Confident रहें, ज्यादा बातें ना सोचें।

पहली बार अप्रोच करने में दिमाग में हज़ारों बातें चलती रहती है और ऐसे में बस कनफ्यूजन होता है। इसलिए ज्यादा ना सोचें, एक फ्रेंड की तरह अप्रोच करें और rejection के डर को निकाल दें। आप उनसे उनके दिन के बारे में बात कर सकते हैं अगर सेम ऑफ़िस या कॉलेज के हो तो। अगर सामने वाला इंटरेस्टेड हो तो उनसे पूछकर आगे कदम बढ़ा सकते हैं

Move on करना भी जरूर सीखें।

यह याद रखें की अगर सामने वाला आपकी तरह फील ना करता हो तो आगे बढ़ जाना चाहिये, ना की इसे पर्सनल तरह से लेना चाहिये। rejection कोई insult नहीं होता है यह जरूर याद रखें और यह बात लड़के और लडकियों दोनों पर लागू होती है। अगर सामने वाला इंटरेस्टेड ना हो तो उन्हें जाने दें और अपनी लाइफ में आगे बढ़ जाएं।

और पढ़ें: 4 ऐसी रिलेशनशिप की गलतियाँ जिससे आपको बचना चाहिये

Email us at connect@shethepeople.tv