Asexuality: क्या असेक्सुअल लोग सेक्स से नफरत करते हैं

हर सेक्सुअलिटी की अपनी एक विशेषता है, उसी के साथ हर सेक्सुअलिटी को अपने मुताबिक प्यार करने का भी अधिकार है। लेकिन असेक्सुअल लोगों के लिए कुछ अवधारणाएं है कि उन्हें सेक्स से नफरत होती है। आइए जानते हैं इस अवधारणा की सच्चाई इस ब्लॉग में।

Aastha Dhillon
23 Dec 2022
Asexuality: क्या असेक्सुअल लोग सेक्स से नफरत करते हैं

Asexuality

Asexuality: हम आज एक ऐसे युग में रह रहे हैं जहां हर प्रकार के जेंडर को अपनाया जाता है। जन्म के समय किसी का जेंडर कुछ भी हो परंतु उनकी sexuality एडल्ट बनते बनते ही आती है। सेक्सुअलिटी में आते हैं, मेल-फीमेल, lesbian, gay और न जाने कितने ही और सेक्सुअलिटी के लोग। हर सेक्सुअलिटी की अपनी एक विशेषता है, उसी के साथ हर सेक्सुअलिटी को अपने मुताबिक प्यार करने का भी अधिकार है।

ऐसी ही एक सेक्सुअलिटी है असेक्सुअल(asexual) लोगों की, ये लोग भी एलजीबीटीक्यू कम्युनिटी(LGBTQ Community) में आते हैं और अन्य एलजीबीटीक्यू कम्युनिटी के लोगों की तरह इनके साथ भी अनेक अवधारणाएं जुड़ी है, ऐसी ही एक अवधारणा है कि उन्हें सेक्स से नफरत होती है आइए जानते हैं इस अवधारणा की सच्चाई इस ब्लॉग में।

क्या सच में असेक्सुअल लोग नफरत करते हैं सेक्स से? क्या है उनसे जुड़े अन्य मिथ?

1.क्या असेक्सुअल लोग सेक्स से नफरत करते हैं?

इसका बेहद ही सरल उत्तर है "नहीं", असेक्सुअल लोगों को सेक्स करना नहीं पसंद परंतु उन्हें सेक्स के आईडिया से कोई भी दिक्कत नहीं है।
उनकी इस नापसंद को ही नफरत में बदल दिया जाता है या ऐसे अनुमान लगाए जाते हैं कि अभी तक इन्हें सही इंसान नहीं मिला।

2.क्या असेक्सुअल लोग किसी से अट्रैक्ट नहीं होते?

यह अवधारणा भी असेक्सुअल लोगों के बारे में गलत है, ऐसा नहीं है की असेक्सुअल लोग अट्रैक्ट(attract) नहीं होते बस फर्क इतना है की वे लोग इमोशनली इंटेलेक्चुअली(intellectually) और मेंटली किसी से अट्रैक्ट होते हैं ना कि सेक्सुअली।

3.क्या धर्म रोकता है उन्हें सेक्स करने से

बिल्कुल भी नहीं। असेक्सुअलिटी किसी धर्म से नहीं जुड़ी तो ऐसे में कोई भी धर्म असेक्सुअल लोगों को सेक्स करने से नहीं रोकता।

4.असेक्सुअल लड़कियों को पीरियड्स नहीं आते?

अक्सर यह अवधारणा भी बनती है की यदि कोई असेक्सुअल लड़की है तो उसके पास युटेरस नहीं होगा या उनको पीरियड्स नहीं आते होंगे पर यह बिल्कुल गलत है।

 असेक्सुअल वूमेन को भी आम महिलाओं की तरह 28 दिन के साइकिल पर पीरियड्स(periods) नियमित आते हैं। हमें ऐसी अवधारणा बनाने से पहले यह समझना होगा की असेक्सुअलिटी एक पहचान है इसका बायोलॉजिकल फैक्टर से कोई संबंध नहीं है।

5.क्या असेक्सुअल लोग नहीं होते मेडिकली ठीक? 

अक्सर देखा गया है कि लोग इस चीज को सच भी मान लेते हैं परंतु यह भी एक उन्होंने रूप से मिथ है। इस असेक्सुअलिटी कोई बीमारी नहीं है जिसे ठीक किया जाए। यह उनकी पहचान है और उन्हें इसके ऊपर प्रश्न नहीं किया जाना चाहिए।

6.क्या असेक्सुअल लोग नहीं करते शादी?

यह अवधारणा भी बिल्कुल गलत है। असेक्सुअल लोग शादी करते हैं और वे एक Platonic रिलेशनशिप मेंटेन करते हैं। ऐसे रिलेशनशिप में वह किसी भी प्रकार की सेक्सुअल एक्टिविटी नहीं करते।

Read The Next Article