Normalize Sex:कब होगा हमारे समाज में सेक्स नॉमलाइज़्‌?

Rajveer Kaur
04 Oct 2022
Normalize Sex:कब होगा हमारे समाज में सेक्स नॉमलाइज़्‌?

सेक्स को आज भी हमारे समाज में बुरा माना जाता है।ट्रेडिशनल सोच के हिसाब से सेक्स के बारे में खुल कर बात नहीं कर सकते है। यह सिर्फ़ चार दिवारी के अंदर होने वाली चीज़ है। ऐसे खुले में इसके बारे में बात नहीं कर सकते।लड़कियों को तो सेक्स शादी के बाद अपने पति के साथ ही करना चाहिए इससे पहले सेक्स करना बुरी बात होती है। जो लड़कियाँ शादी के पहले करती है उनका चरित्र अच्छा नहीं होता।

शादी के बाद सेक्स क्यों?


लड़कियों को सेक्स शादी के बाद करने को कहा जाता है। आज भी हमारे समाज में लड़के शादी के पहले भी सेक्स कर सकते है। शादी के बाद पत्नी के होते हुए भी अन्य औरतों के साथ सेक्स कर सकते है।तब समाज नहीं कहता कि हमारी इज़्ज़त ख़राब हो रही है लेकिन वही लड़की को सेक्स शादी से पहले नहीं करना चाहिए। उसे सिर्फ़ अपने पति के साथ करना चाहिए जब उसके पति की मर्ज़ी हो।

क्यों लड़कियों को ‘स्लट’ बोला जाता है?


जिन लड़कियों के ज़्यादा सेक्शूअल पार्ट्नर होते है उन्हें क्यों समाज स्लट बोलता है।लड़को के भी ज़्यादा सेक्शूअल पार्ट्नर होते है उन्हें कोई ऐसे गंदी शब्दावली नहीं बोलता ।यह लड़की की अपनी मर्ज़ी है।इसके लिए उसका ऐसे मज़ाक़ बनाना, गंदी शब्दावली बोलना बिल्कुल ग़लत है।

लड़कियों की योन इच्छाएँ नही होती?


हमारे समाज में लड़कियों को योन इच्छा को हमेशा नज़रंदाज़ किया जाता है। उनकी इच्छाएँ को कभी समझा जाता है। बहुत कम पार्ट्नर होते है जो लड़की के बारे में सोचते है उन्हें  क्या चाहिए। उसकी मर्ज़ी सेक्स में है या फिर आज उसका मूड है सेक्स के लिए या नहीं। उसको क्या पसंद है सेक्स में।

सेक्स नोर्मल है!


हमारे समाज में सेक्स को टेबू माना जाता है। उसके बारे में बात करने को भी गंदा समझा जाता है लेकिन ऐसा नहीं है। सेक्स एक नैचरल प्रॉसेस है। जिसको कोई भी कर सकता है। इसमें कोई शर्म वाली बात नहीं है। इसके लिए किसी के चरित्र पर सवाल उठाना बिल्कुल ग़लत बात है।

कन्सेंट है ज़रूरी:-जब भी आप सेक्स करें इसमें आपके पार्ट्नर की रज़ामंदी ज़रूरी है। आप उसकी मर्ज़ी के बिना सेक्स नही कर सकते। चाहे आपकी शादी भी हुई है तब भी आप उसकी मर्ज़ी के बिना सेक्स नहीं कर सकते है।

सेक्स पूरी तरह एक नोर्मल प्रॉसेस है। यह कोई बहुत बढ़ी बात नहीं अगर आप सेक्स कर रहे हो।सेक्स के लिए पूरी एजुकेशन का होना बहुत ज़रूरी है।हमारे में सेक्स एजुकेशन की कमी होने के कारण हमारे मन में बेबुनियाद धारणाएँ बनी होतीं जिनको तोड़ना बहुत ज़रूरी है।

अनुशंसित लेख