शाहीन भट्ट एक राईटर है जिन्होने ‘ I’ve Never Been (Un) Happier’ के नाम से एक किताब लिखी है। इस किताब में शाहिन ने डिप्रेशन के साथ रहने और ज़िंदगी जीने के बारें में बात की है।  शाहीन भट्ट, जो आलिया भट्ट की छोटी बहन भी है, उन सेलिब्रिटीज़ में से एक है जो डिप्रेशन के टॉपिक पर खुल कर सामने आएं हैं और अपने विचार साझा किए हैं। आइए, जानते हैं क्या कहती है शाहीन भट्ट डिप्रेशन के साथ स्ट्रगल और सपनों के बारें में

image

डिप्रेशन से स्ट्रगल करने वाले लोगों के लिए  शाहीन भट्ट का एडवाइस

भट्ट का मानना है कि डिप्रेशन सभी को होता है लेकिन उससे जुझने का तरीका सबका अलग-अलग होता हैं। हालांकि सबको एक ही प्रोसेस से होकर गुज़रना पड़ता है। भट्ट ऐसी फैमिली से आती है जहां मेटल हेल्थ का स्टिग्मा नहीं है लेकिन फिर भी भट्ट को किसी से हेल्प मांगने में, बात करने में काफी वक्त लगा।

भट्ट कहती हैं कि अब समय बदल रहा है। मेंटल हेल्थ अब इतना बड़ा टेबू नही है जितना 5 साल पहले था। लोग धीरे-धीरे इसे समझना शुरू कर रहे हैं। भट्ट यही एडवाइस देती है लोगों को कि उन्हें जो करना है वो करें, जो उनके लिए और दूसरों के लिए अच्छा है वो करें, बिना सोचें कि बाकी लोग उनके बारें में क्या सोचेंगें।

खुद को अकेले ना रखें

डिप्रेशन से गुज़र रहें लोग अक्सर बाकी लोगों से दूर होने लगते हैं, खुद को अकेले रखने लगते हैं। भट्ट कहती है कि इस चीज़ की बिल्कुल ज़रूरत नही है और ना ही किसी को अपने साथ ये करना चाहिए। जितना हो सके उतना लोगों से मिलें, बात करें लेकिन खुद को अकेला ना रखें।

शाहिन अपने सपनों के बारें में बात करते हुए कहती है कि-

उनके सपने हर वक्त बदलते रहते हैं। अभी उनका सपना है कि वो जितना हो सके उतना लोगों से जुड़े और उनसे बात करें। इससे किसी की जिंदगी और भी ज्यादा खूबसूरत हो जाती है।

पढ़िए : आलिया भट्ट की इन 5 फिल्मों ने किया 100 करोड़ से ज़्यादा का बिज़नेस

Email us at connect@shethepeople.tv