Toxic Workplace Culture: ऑफिस में टॉक्सिक एनवायरनमेंट के संकेत

क्या आप अपनी वर्कप्लेस पर कुछ ऐसी चीजों का अनुभव करते हैं जो आप पर नकारात्मक प्रभाव डालती है और आपकी ग्रोथ को बढ़ावा नहीं देती है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे साइंस के बारे में जो यह दर्शाती है कि आपका वर्क एनवायरमेंट टॉक्सिक है या नहीं। पढिए यह ब्लॉग-

Monika Pundir
21 Nov 2022
Toxic Workplace Culture: ऑफिस में टॉक्सिक एनवायरनमेंट के संकेत

Toxic Workplace Culture

Toxic Workplace Culture: क्या आपने कभी अपने वर्कप्लेस पर टॉक्सिक एनवायरनमेंट को महसूस किया है। क्या आप अपनी वर्क प्लेस पर कुछ ऐसी चीजों का अनुभव करते हैं जो आपके लिए नकारात्मक प्रभाव डालती है और आपकी ग्रोथ को बढ़ावा नहीं देती है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे साइंस के बारे में जो यह दर्शाती है कि आपका वर्क एनवायरमेंट टॉक्सिक है या नहीं।

1. वर्कप्लेस पर गलतियां करना पड़ जाता है भारी

अगर आपके वर्कप्लेस पर आपको गलतियां करने की कोई गुंजाइश नहीं है और कोई भी गलती हो जाने पर आपको उसका भारी नुकसान सहना पड़ता है, अथवा अपने बॉस से काफी नकारात्मक टिप्पणियों का सामना करना पड़ता है तो यह एक टॉक्सिक वर्कप्लेस का एक मुख्य संकेत है।

2. वर्कप्लेस पर नहीं मिल रही है ग्रोथ

अगर आपको अपनी वर्कप्लेस पर फ्यूचर ग्रोथ की संभावनाएं नहीं दिखती है और अपने कलीग्स या फिर अपने बॉस से ऐसी कोई भी हेल्प नहीं मिलती है जो आपका सही मार्गदर्शन कर सके या आपको आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें। ऐसी टॉक्सिक वर्कप्लेस पर आपको अपनी फ्यूचर ग्रोथ की सारी संभावनाएं खुद ही देखनी पड़ती है और आपको किसी की हेल्प नहीं मिलती है।

3. जरूरी मुद्दों में आपको नहीं किया जाता इंक्लूड

अगर आप कहीं ऐसी वर्कप्लेस पर काम कर रहे हैं जहां जरूरी मुद्दों या मीटिंग्स में आपको हिस्सा नहीं बनाया जाता है या बहुत ही कम हिस्सा बनाया जाता है। इसके अलावा अगर आपके कलीग्स आपके किसी भी आइडिया को आगे नहीं बढ़ाते हैं या उस आईडिया के लिए एंनकरेज भी नहीं कर रहे हैं तो आप एक टॉक्सिक वर्क प्लेस में है।

4. आपको गैसलाइटेड किया जाता है

अगर आपकी वर्कप्लेस पर आपको गैसलाइट किया जाता है। गैसलाइटेड यानी के जब आप खुद से ही सवाल करने लगे, आप खुद की ही क्षमता पर शक करने लगे, खुद की याददाश्त को कमजोर समझने लगे और आपका कॉन्फिडेंस कम होने लगे।

5. काम से ज्यादा होती हैं टॉक्सि गॉसिप्स

हर वर्कप्लेस पर कोई न कोई ड्रामा यह गॉसिप्स होती ही है। लेकिन जब यह गॉसिप्स टॉक्सिक बन जाए और आपके काम में बाधा डालने लगे या आपके क्लीगस के साथ आपकी दोस्ती को प्रभावित करने लगे तो यह टाॅक्सिक वर्कप्लेस का साइन है। अगर आपकी वर्कप्लेस पर रोजाना आपको यह सब फेस करना पड़ता है तो आप एक टॉक्सिक वर्कप्लेस का हिस्सा बन रहे हैं।

अनुशंसित लेख