Happy Hormones: खुश रहने के लिए हैप्पी हार्मोन को समझिए

हम खुशी या दुख महसूस करते हैं तो उसके पीछे हमारे शरीर में मौजूद कुछ हार्मोन जिम्मेदार होते हैं। अगर शरीर में इन हार्मोंस का इंबैलेंस हो जाता है तो इंसान दुख महसूस करने लगता है और उसके स्वास्थ्य पर भी असर पड़ता है। पढिए हैप्पी हॉर्मोन्स को इस ब्लॉग में-

Monika Pundir
16 Nov 2022
Happy Hormones: खुश रहने के लिए हैप्पी हार्मोन को समझिए

Happy Hormones

आप जो भी महसूस करते हैं उसका संबंध हमारे शरीर में मौजूद कुछ हार्मोन से होता है। अगर आप सभी हार्मोन की अच्छी जानकारी रखते हैं तो आप अपने हार्मोन का अच्छा बैलेंस बना सकते हैं जिससे आप अपनी भावनात्मक स्थिति को भी कुछ हद तक कंट्रोल में कर सकते हैं। अगर शरीर में हार्मोन का इंबैलेंस होता है तो हमारी भावनात्मक स्थिति पर भी काफी प्रभाव पड़ता है इसलिए खुश रहने के लिए जरूरी है कि आप हैप्पी हार्मोन की जानकारी रखें। आइए जानते हैं हैप्पी हार्मोन के बारे में इस ब्लॉग में-

Happy Hormones:  हम अगर खुशी या दुख को महसूस करते हैं तो उसके पीछे हमारे शरीर में मौजूद कुछ हार्मोन जिम्मेदार होते हैं। अगर आपको स्वस्थ रहना है तो उसके लिए हमारा खुश रहना आवश्यक होता है और अगर खुश रहना है तो उसके लिए स्वस्थ होना आवश्यक होता है।यह पूरी तरीके से हमारे शरीर में मौजूद हार्मोन पर निर्भर करता है इन्हें हैप्पी हार्मोन कहा जाता है। अगर हमारे शरीर में इन हार्मोंस का इंबैलेंस हो जाता है तो इंसान दुख महसूस करने लगता है, उसका मूड प्रभावित होता है और उसके स्वास्थ्य पर भी इसका असर पड़ता है।

1. डोपामाइन (Dopamine)

हमारे शरीर में यह हार्मोन हमें खुश करने के लिए जिम्मेदार होता है। जब कोई इंसान अपनी किसी अचीवमेंट को पूरा कर लेता है तो वह खुश होता है इसके पीछे डोपामाइन हार्मोन ही जिम्मेदार होता है। अपने शरीर में इस हार्मोन को बैलेंस रखने के लिए आपको रोजाना व्यायाम करना चाहिए साथ ही सुबह की धूप को लेना चाहिए।

2. एंडोर्फिन (Endorphins)

यह हार्मोन हमारे मस्तिष्क को शांत रखने के लिए जरूरी होता है। अगर हमारे शरीर में इस हार्मोन का इंबैलेंस हो जाता है तो हम अशांत रहते हैं। साथ ही तरह-तरह के ख्यालों से घिर जाते हैं। इस हार्मोन को अपने शरीर में बढ़ाने के लिए आप रोजाना एक्सरसाइज करें। डार्क चॉकलेट खाने से भी फायदा होता है।

3. सेरोटोनिन (Serotonin)

सेरोटोनिन हार्मोन की अगर हमारे शरीर में कमी हो जाती है या यह इंबैलेंस हो जाता है तो इसका असर हमारे पाचन तंत्र पर पड़ता है और हमारा डाइजेशन प्रोसेस खराब हो जाता है। जिस कारण स्वास्थ्य प्रभावित होता है। इस हार्मोन को अपने शरीर में बढ़ाने के लिए आपको घी, नट्स आदि का सेवन करना चाहिए, रोजाना एक्सरसाइज करनी चाहिए।

4. ऑक्सीटॉसिन (Oxytocin)

ऑक्सीटोसिन हार्मोन को लव हार्मोन के नाम से भी जाना जाता है। यह हार्मोन हमारे रिश्तो को अच्छा बनाए रखने के लिए जरूरी होता है। इस हार्मोन से हमें हमारे रिश्तों के प्रति हमारी भावनाओं को व्यक्त करने का साहस मिलता है। इसका इंबैलेंस ठीक करने के लिए आप अच्छी नींद लें अपने, रिश्तो के साथ वक्त बिताएं और रोजाना एक्सरसाइज करें।

अनुशंसित लेख