हर कामयाब मर्द के पीछे एक औरत का हाथ होता है, यह कहावत तो बहुत सुनी होगी आपने। पॉपुलर फिल्मों में लड़कियाँ सिर्फ पैसे वाले लड़कों को ही चुनती हैं लेकिन क्या आपने सोचा है की इस तरह के सेक्सिस्ट (sexist) बातों को पीछे छोड़कर अगर औरतें भी फाइनेंशिअल इंडिपेंडेंस (financial independence) हासिल करे तो यह कितना empowering होगा। पैसे कमाने की ज़िम्मेदारी सिर्फ पुरुषों पर ही क्यों? और आइए जानते हैं औरतों का भी पैसे कमाना और अपने पैरों पर खड़ा होना क्यों ज़रूरी है?

image

पैसा कमाने की जिम्मेदारी सिर्फ पुरुषों पर ही क्यों? 

शीदपीपल ने इंस्टाग्राम पर 10K लोगों में एक पोल किया की क्या हम लड़कों को पैसों के लिये objectify करते हैं? इसमें 66% लोगों ने हाँ में जवाब दिया। यह बताता है की घर चलाने की सारी जिम्मेदारी लड़कों पर डाल दिया जाना उनके लिये एक बोझ से कम नहीं, साथ ही यह बात कितनी सेक्सिस्ट है।

इतिहास गवाह है की सालों से औरतों को घर के काम में व्यस्त रखा जाता है और घर के मर्द पैसे कमा कर लाते हैं। प्रॉपर्टी राइट्स भी औरतों को इतने देर से 2005 में मिले। जिसका मतलब है की कितने लम्बे वक़्त तक औरतों को मर्दों पर डिपेंड रहना पड़ा है पैसों के लिये। 

आजकल औरतें इंडिपेंडेंट तो हुई हैं लेकिन 48% महिलाओं की आबादी में ⅓ से भी कम जॉब कर रहीं हैं। इसका कारण भी यही है कि लड़कियों को काम करने के लिये बढ़ावा ही नहीं दिया जाता, इसलिए लड़कियाँ भी ये मानकर बैठ जाती हैं कि मेरा पति
अच्छा कमाएगा और वही घर चलाएगा।

क्यों लड़कियों का करियर होना जरूरी है? 

कितनी ही लड़कियाँ अगर अच्छा करियर नहीं बना पाती तो वे सोचती हैं कि मैं अच्छा कमाने वाले लड़के से शादी कर लूंगी, यही उनका बैक-अप प्लान होता है। ये बैक-अप प्लान बहुत गलत है क्योंकि बिना करियर या जॉब के जब आप शादी करेंगी तो अगर आपकी शादी abusive और बिना प्यार के हो जाती है तो आप उसे छोड़ कर कहीं जा नहीं पायेंगी। 

इसलिए आपका करियर होना बहुत मायने रखता है ताकि आप अपने माता-पिता, रिश्तेदार और सबसे जरूरी है खुद को यह प्रूव कर पाएं कि आप अपनी फाइनेंशिअल जरूरतों का ख्याल खुद रख सकती हैं। 

और पढ़ें: माता पिता को समझना चाहिये कि मेरा करियर शादी से ज़्यादा जरूरी क्यों है

Email us at connect@shethepeople.tv