वजाइना एक ऐसी चीज है जिस पर हम आम तौर पर चर्चा नहीं करते हैं, भले ही यह हमारे शरीर का इतना महत्वपूर्ण हिस्सा है। ज्यादातर महिलाएं इस विषय से शर्माती हैं या शर्मिंदा हो जाती हैं, लेकिन इसमें शर्मिंदा होने की कोई बात नहीं है।

image

जानिए वजाइना से जुड़ी कुछ बेहद दिलचस्प बातें 

1. वजाइना शरीर के अंदर है – यह मस्कुलर केनल है जो गर्भाशय (Uterus) को बाहरी दुनिया से जोड़ती है। जो हिस्सा आपके कपड़ों को छूता है, वह वल्वा है।

2. वजाइना में “गुड” बैक्टीरिया की एक सेना होती है , जो इसे स्वस्थ रखने में मदद करती है। ये बैक्टीरिया वेजाइनल इको-सिस्टम को हेल्थी रखने के लिए एक साथ काम करते हैं।

पीनिस की तरह वजाइना में भी इरेक्शन होता है ये और बात है कि वजाइना का इरेक्शन हम देख नहीं पाते लेकिन उत्तेजना के उन पलो में वजाइना भी वैसे ही रिऐक्ट करती है जैसे पीनिस

3. Pubic Hair एक मैकेनिकल बैरियर के तौर पर और स्किन की सुरक्षा के लिए काम करते है। एक लिमिट तक वजाइना अपनी सफाई और सेहत का ध्यान खुद रखती है।

4. कई लोग मानते हैं कि उन्हें अपने वजाइना के स्मेल को मॉडिफाई करने के लिए प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने की जरुरत है, लेकिन इन सबकी जरूरत नहीं होती है। यह एक सेल्फ-क्लीनिंग ओवन है।

5. पीनिस की तरह वजाइना में भी इरेक्शन होता है ये और बात है कि वजाइना का इरेक्शन हम देख नहीं पाते लेकिन उत्तेजना के उन पलो में वजाइना भी वैसे ही रिऐक्ट करती है जैसे पीनिस।

6. अगर आपकी वजाइना से सीमित मात्रा में वाइट डिस्चार्ज हो रहा है। इसमें किसी तरह की स्मेल या इसकी वजह से इचिंग, बर्निंग जैसी समस्या आपको नहीं हो रही है तो यह इस बात का संकेत है कि आपकी वजाइना स्वस्थ है और अंदर की सफाई खुद कर रही है।

7. अगर आपको लगता है कि पीरियड्स के दौरान टैंम्पून और सेक्स के वक्त कॉन्डम अंदर जाकर आपके यूट्रस या दूसरे बॉडी पार्ट को हर्ट कर सकता है तो परेशान ना हों क्योंकि वजाइना और यूट्रस के बीच एक बैरियर होता है।

8. सामान्य तौर पर वजाइना का रंग लाइट होता है लेकिन एक्साइटमेंट के दौरान ब्लड फ्लो बढ़ जाने के कारण इसके आउटर एरिया का रंग पहले से डार्क होने लगता है।

पढ़िए : वजाइना से जुड़े मिथ और सच

Email us at connect@shethepeople.tv