Advertisment

5 बातें जो हमें Laapataa Ladies से सीखनी चाहिए

अपने जुनून को जगाना भी इस फिल्म की सीख है, फिर चाहे वो फूल कुमारी का बड़े सपने देखना हो या मंजू मांजी का अपना व्यापार खड़ा करने का लक्ष्य। साथ ही, ये फिल्म ज़ोर देकर कहती है कि गलत के खिलाफ आवाज उठाना ज़रूरी है।

author-image
Anusha Ghosh
New Update
png 5

image Credit: BookMyShow

Laapataa Ladies: फिल्म हमें आत्मनिर्भर बनने का पाठ पढ़ाती है, जैसा कि जया और फूल कुमारी आर्थिक आजादी पाने के लिए करती हैं। अपने जुनून को जगाना भी इस फिल्म की सीख है, फिर चाहे वो फूल कुमारी का बड़े सपने देखना हो या मंजू माई का अपना व्यापार खड़ा करने का लक्ष्य। साथ ही, ये फिल्म ज़ोर देकर कहती है कि गलत के खिलाफ आवाज उठाना ज़रूरी है।

Advertisment

आइए जानते हैं फिल्म से सीखने लायक 5 महत्वपूर्ण बातें

1. अपने पैरों पर खड़े होना (Financial Independence)

फिल्म में जया और फूल कुमारी दोनों का सफर इसी सीख के इर्द-गिर्द घूमता है। जया अपने शराबी पति से तंग आकर आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने का फैसला करती है। वहीं फूल कुमारी भी शादी के बाद सपने संजोने के लिए खुद कमाना चाहती हैं। फिल्म इस बात को रेखांकित करती है कि पैसा सिर्फ सुरक्षा ही नहीं देता बल्कि महिलाओं को सम्मान और निर्णय लेने की आजादी भी देता है।

Advertisment

2. जुनून और सपनों को जगाना (Following Dreams)

फूल कुमारी एक छोटे शहर की लड़की है, जो बड़े सपने देखती हैं। वह घरेलू हिंसा सहने वाली नहीं है और कुछ बनकर दिखाना चाहती हैं। वहीं मंजू मांजी अपने स्वादिष्ट कलकंद के लिए जानी जाती हैं और उसे व्यापार में आगे ले जाना चाहती हैं। फिल्म यह सिखाती है कि चाहे आप किसी भी उम्र या स्थिति में हों, अपने जुनून को ज़िंदा रखें और उन्हें पाने के लिए मेहनत करें।

3. अपने हक के लिए आवाज उठाना (Speaking Up for Yourself)

Advertisment

जया और फूल कुमारी दोनों ही ऐसे समाज में रहती हैं, जहां महिलाओं की आवाज को दबा दिया जाता है। फिल्म यह सिखाती है कि गलत के खिलाफ आवाज उठाना और अपने हक़ के लिए लड़ना कितना ज़रूरी है। जया अपने पति के अत्याचारों को सहने से इंकार करती है और फूल कुमारी भी दहेज प्रथा जैसी कुरीतियों का विरोध करती है।

4. अपने सपनों के लिए रिश्तों से समझौता न करना (Not Compromising Dreams for Relationships)

फिल्म स्पष्ट करती है कि रिश्ते ज़रूर ज़रूरी हैं, लेकिन उन रिश्तों में रहने का कोई फायदा नहीं, जो आपके सपनों को कुचल दें। जया अपने पति को बदलने की कोशिश करती है, लेकिन जब वह नाकाम रहती है, तो वह उसे छोड़कर आगे बढ़ने का साहस करती है। वहीं फूल कुमारी भी शादी के बाद व्यापार करना चाहती हैं, जो उसके ससुराल वालों को मंजूर नहीं होता।

5. दोस्ती और सहयोग की ताकत (Strength in Friendship and Support)

फिल्म में जया और फूल कुमारी की दोस्ती देखने लायक है। दोनों एक-दूसरे का सहारा बनती हैं और मुश्किलों का सामना साथ मिलकर करती हैं। यह फिल्म इस बात को सिखाती है कि जिंदगी के हर मोड़ पर दोस्तों का साथ और उनका विश्वास कितना महत्वपूर्ण होता है।

Laapataa Ladies अपने हक के लिए आवाज उठाना Not Compromising Dreams for Relationships Strength in Friendship and Support
Advertisment