Board Exam 2023: पेपर पैटर्न के साथ स्ट्रांग और वीक यूनिट को पहचानें

करिअर-कौशल/ ब्लॉग : बोर्ड एग्ज़ाम आने में अब ज़्यादा दिन दूर नहीं। ऐसे में हमें एक स्टैटजी बनाते हुए पढ़ाई को आगे जारी रखना है। हमें फ़ोकस करना है पेपर पैटर्न पर।

Prabha Joshi
28 Jan 2023
Board Exam 2023: पेपर पैटर्न के साथ स्ट्रांग और वीक यूनिट को पहचानें

बोर्ड एग्ज़ाम के लिए ज़रूरी है सही स्ट्रैटजी

Board Exam 2023: बोर्ड एग्ज़ाम को अब कुछ ही दिन बाक़ी हैं, ऐसे में एग्ज़ाम की तैयारी बहुत ज़रूरी हो जाती है। वैसे तो आपने बहुत कुछ अब तक पढ़ लिया होगा, फिर भी एग्ज़ाम को अच्छा कैसे बनाएं, ये विषय आपके माइंड में हर समय आ रहा होगा। कुछ ही समय बाक़ी है, ऐसे में बिना समय वेस्ट किए जानें कैसे करें एग्ज़ाम के प्रति अपने को प्रिपेयर :-

पेपर पैटर्न समझें 

अब सब कुछ पढ़ाई कर  लेने के बाद आपको चाहिए आप अपने बोर्ड के प्रीवियस पेपर उठाएं और उन्हें पढ़ना शुरु करें। अपने को जांचे कि आप कितना कर पा रहे हैं। इस पेपर पैटर्न को समझने में समय को फ़िक्स न करें। अच्छा समय लें और देखें कि कौन से चैप्टर से कितने प्रश्न पूछे जा रहे हैं, टोटल कितने क्वेसचंस हैं। इससे आपको समझ में आएगा आप किस यूनिट में स्ट्रांग हैं और किस में वीक।

यूनिट्स पर फ़ोकस करें 

जब आपको पता लग जाए कि आप किस यूनिट में स्ट्रांग हैं और किस में वीक, तो एक बार वीक यूनिट में ज़रूर जाएं। हो सकता है स्कोरिंग क्वेसचेंस इसी यूनिट से आते हों। अगर आपको लग रहा है ये यूनिट आपके लिए ज़रूरी है तो इसे थोड़ा समय दें। पढ़ें अच्छे से। अभी भी आपके पास समय है। ध्यान रखें, आप रटे नहीं। अपने टीचर्स से वीक प्वाइंट्स पर चर्चा करें। हो सकता है ये वीक यूनिट आपकी सबसे स्ट्रांग यूनिट बन जाएं। बता दें कई बार बिना किसी वजह हम दिमाग़ में बैठा लेते हैं, हम ये नहीं कर पाएंगे पर असलियत उससे परे होती है। 

स्ट्रांग यूनिट पर फ़ोकस करें 

अगर आपको लगता है अब आपको ज़्यादा नहीं पढ़ना है, तो आप फ़ोकस करें वापिस अपने स्ट्रांग यूनिट्स पर। आप एक बार पूरी तरह हर यूनिट और उसके चैप्टर्स की समरी में जाएं। अपने नोट्स को पढ़ें और देंखें कि पेपर में आने वाले कोई महत्वपूर्ण प्वाइंट्स आपके उस यूनिट से छूट तो नहीं गए। उनको शामिल करें और आगे बढ़ें।

पेपर साल्व करना शुरू करें 

जब आपको अंदर से लगने लग जाए, हां! आप एग्ज़ाम के लिए पूरी तरह तैयार हैं, तो अब आप पेपर साल्व करना शुरू करें। ये आप समय के भीतर करें। देखें आप कितना सॉल्व कर पा रहे हैं, कहां पर आप अटक रहे हैं, क्या कारण है आप इतना पढ़कर भी वो नहीं कर पा रहे जो आप चाहते हैं। अगर आपको कोई भी डाउट हो रहा है तो तुरंत सब्जेक्ट टीचर की हैल्प लें। 

चिंता न करें 

ये बात गांठ बांध कर रख लें कि एग्ज़ाम के अंक आपकी आगे की ज़िंदगी से वास्ता नहीं रखते। केवल पढ़ाई मायने रखती है। अच्छे से समझ कर पढ़ें। नंबर आपको मिल जाएंगे। बहुत बार नंबर के टेंशन की चिंता में हम अपना समय न केवल वेस्ट कर देते हैं बल्कि हमें तनाव भी हो जाता है। ऐसे में अपने को एक ही बार में समझा लें कि पढ़ाई पहले है और बाद में नंबर। बस पढ़ाई पर फ़ोकस करें। 

इस तरह आप देखेंगे कि बोर्ड के एग्ज़ाम में आप अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। बोर्ड एग्ज़ाम हमें लाईफ़ का एग्ज़ाम लगता है। ऐसा नहीं है। ये तो लाइफ़ के एग्ज़ाम की बस पहली सीढ़ी है। 

अगला आर्टिकल