Baseless Assumptions About Women: 4 बातें जो महिलाओं के बारे में सोचना गलत है

Baseless Assumptions About Women: 4 बातें जो महिलाओं के बारे में सोचना गलत है Baseless Assumptions About Women: 4 बातें जो महिलाओं के बारे में सोचना गलत है

SheThePeople Team

11 Oct 2021


Baseless Assumptions About Women:  भारत के लोगों ने महिलाओं के बारे में कुछ धारणाएं बना रखी हैं। जिसे वो सालों से हर नई पीढ़ी की महिलाओं पर लागू करते हैं। हमारे समाज के लोगों के लिए बहुत आसान होता है किसी भी व्यक्ति के बारे में मंघड़न कहानियां, बातें बनाने की जिसका कोई अर्थ नहीं होता। इन बातों को सिर्फ पुरुष और बड़े बुज़ुर्ग ही नहीं बल्कि महिलाएं खुद भी करती है। कितने लोग एक राह चलते आदमी के बारे में अपनी राय बनाने लगते हैं जिन्हें वो वास्तव में जानते भी नहीं। आज हम उन्हीं कुछ धारणाओं के बारे में बात करेंगे जो आज भी लोगों के मन में महिलाओं के बारे में है। 

महिलाओं के बारे में 4 बातें जो सोचना गलत है: Baseless Assumptions About Women


1. लाल लिपस्टिक, लड़को का ध्यान चाहिए 

लाल लिपस्टिक काफी महिलाओं की मनपसंद लिपस्टिक शेड्स में से एक होती है। लाल रंग निडरता, शक्ति और साहसी होने का प्रतीक है। लाल रंग सबसे बोल्ड और सबसे ज्यादा अट्रैक्टिव रंग मना जाता है। इसलिए लोगों का मानना है कि जो लड़कियां और महिलाएं लाल लिपस्टिक लगाती हैं वो लड़को का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने की कोशिश करती हैं। हकीकत में ऐसी बहुत कम लड़कियां हैं जो दूसरों को अपनी तरफ खींचने के लिए लाल रंग की लिपस्टिक लगाती है क्योंंकि आज के दौर की लड़कियों को किसी लड़के के लिए तैयार होने कि जरूरत नहीं है। एक लड़की सिर्फ अपने लिए तैयार होती है जिससे लोग अक्सर समझ नहीं पाते। 

2. काम यां नौकरी में तरक्की, बॉस के साथ चक्कर होगा

भारत में लोगों के लिए ये हज़म करना इतना मुश्किल होता है कि एक लड़की अपने काम, और काबिलियत की वजह से नौकरी और काम में तरक्की पा सकती है। कुछ लोग  लड़कियों को आज भी लड़को से कमजोर समझते हैं जिसकी वजह से अगर लड़की एक पुरुष सहयोगी से आगे बढ़ जाए तो लोग न जाने किस तरह की घटिया बाते करने लगते हैं उस लड़की के कैरेक्टर पर। इस तरह की बातें उस लड़की की इजत और सम्मान को पूरी तरह तोड़ कर रख सकता है इसलिए किसी पर इस प्रकार का लांछन लगाने से पहले पूरी बात जान लेनी चाहिए। 

3. महलियाएं खराब ड्राइविंग करती हैं

महिलाओं का खराब ड्राइवर होना सदियों पुराना मीथ है। जब भी कोई महिला कार चला रही होती है, तो लोग कहने लगते हैं इस कार के पीछे मत चला लड़की चला रही है। समानता के युग में महिला चालकों पर फेंके जाने वाले बयानों को सुनकर हैरानी होती है। ड्राइविंग क्षमताओं को किसी के लिंग से परिभाषित नहीं किया जाता लेकिन फिर भी हमारे समाज की इस सोच को बदलना बेहद मुश्किल होता है। हकीकत में पुरषों की तुलना में महिलाएं नियम कम तोड़ती हैं और जानलेवा ऐक्सिडेंट का खतरा भी कम होता है। 

4. रिश्तों में चीजों को धीरे-धीरे लेना चाहती है, सेक्सुअल रिलेशनशिप में नहीं आना चाहती

लड़कियां लड़को कि तुलना में काफी जल्दी मैच्योर होती हैं जिसकी वजह से वो हर रिश्ते को बड़ी सोच समझ कर बनती और निभाती हैं। अगर एक लड़की रिश्ते में चीज़ों को धीरे लेना चाहती है तो इसका यह अर्थ नहीं कि वो सेक्सुअल रिलेशनशिप में नहीं आना चाहती। हर व्यक्ति को जीवन में किस समय, क्या करना है, क्या नहीं, और कब करना चाहिए उसका हक होता है और पार्टनर को एक दूसरे को फोर्स नहीं करना चाहिए। अगर एक लड़की आपके साथ सेक्सुअल रीलनशनशिप में नहीं आना चाहती तो उसका कोई कारण होगा। क्या पता वो अपने पार्टनर को और जानना और समझना चाहती हो। इसलिए किसी भी प्रकार के निर्णय को बनाने से पहले अपने पार्टनर से बात चीत करें।


अनुशंसित लेख