प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम एक ऐसी समस्या हैं जों महिलाओं को हर महीने पीरियड्स शुरू होने से कुछ दिन पहले अफेक्ट करती हैं। इसके दौरान महिलाओं को फिजिकली और इमोशनली कमजोरी महसूस होती हैं। PMS कोई मिथ नहीं है। इसके मुख्य लक्षण हैं – मूड स्विंग, टेंडरिंग ब्रेस्ट, फूड क्रेविंग, थकान, चिड़चिड़ापन और डिप्रेशन आम हैं।

रोजाना एक्सरसाइज और सही तरह की डाइट पीएमएस से जुड़े ब्लोटिंग, डिप्रेशन, मुड स्विंग और चिड़चिड़ापन को कंट्रोल कर सकता है। एक्सपर्ट हफ्ते में 3-4 बार कम से कम 45 मिनट एक्सरसाइज करने की सलाह देते हैं।इसके साथ ही लगभग आठ घंटे की नींद लेने की कोशिश करें। नींद की कमी एंजाइटी और डिप्रेशन से जुड़ी हुई है और पीएमएस के लक्षण जैसे मूड को खराब कर सकती है। प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (PMS) से लड़ने के 5 तरीके (PMS remedies)

1.पत्तेदार हरी सब्जियों का सेवन बढ़ाएं

डाईट में कई पत्तेदार हरी सब्जियों को शामिल करने से पीएमएस से जुड़ी थकान को दूर करने में मदद मिल सकती है। पालक, ब्रोकोली, धनिया, पुदीना, सलाद और पत्ता गोभी, कुछ पत्तेदार हरी सब्जी हैं जो आपके डाइट का एक हिस्सा होना चाहिए।

2.अपने आप को अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रखें

 आपको हर दिन कम से कम तीन लीटर पानी पीना चाहिए।  आप अतिरिक्त स्वाद और स्वास्थ्य लाभ के लिए अदरक या धनिया के साथ पानी का स्वाद ले सकते हैं।

3. कैल्शियम का अधिक सेवन करें

 दूध, दही, तिल, रागी, डेयरी दूध कैल्शियम के अच्छे स्रोत हैं। पीएमएस के कम लक्षणों का अनुभव करने के लिए उन्हें नियमित रूप से खाएं।

4. whole grains अधिक खाएं

प्रोसेस्ड एंड रिफाइंड फूड प्रोडक्ट जैसे आटा बाजरे, ज्वार, जौ, चावल या टूटे हुए गेहूं के साथ लें। ऐसा करने से सेरोटोनिन को कम करने में मदद मिल सकती है, इस प्रकार लो मुड, एंजाइटी, डिप्रेशन या चिड़चिड़ापन में कमी आती है।

5. अधिक Iron rich प्रोडक्ट खाएं

आयरन युक्त खाद्य पदार्थ खाने से खून की कमी से निपटने में मदद मिल सकती है , जो कि पीरियड्स के दौरान होती है। इसलिए, आपके पीरियड्स से पहले, पीएमएस के लक्षणों को कम करने के लिए अनार, पालक, खुबानी, खजूर, अंजीर, फलियां, अंडे, चिकन, मछली और अन्य आयरन युक्त खाद्य पदार्थ लें।

पढ़िए : पीरियड्स के दर्द से हैं बेहाल? जानें 4 आसान सुझाव

Email us at connect@shethepeople.tv