फ़ीचर्ड

शादी के कितने दिनों बाद करनी चाहिए बच्चे की प्लानिंग ? जानिए ये 3 टिप्स

Published by
Nayan yerne

मदरहुड एक ऐसी जिम्मेदारी है  जिसे निभाने की बात सुनते ही आज के जमाने की कई लड़कियां घबरा जाती हैं। यही वजह है कि वे तब तक मां बनने के बारे में नहीं सोचती जब तक वे पूरी तरह से इसके लिए तैयार न हो जाएं। यह सिर्फ लड़कियों या महिलाओं की ही बात नहीं है बल्कि कई पुरुष भी ऐसा ही सोचते हैं।

शहरी क्षेत्रों के ज्यादातर कपल्स शादी के कई सालों बाद तक सिर्फ इसलिए पैरंटहुड को नहीं अपनाते क्योंकि उन्हें लगता है कि वे अभी इस जिम्मेदारी के लिए तैयार नहीं हैं। लेकिन पति-पत्नी दोनों की हेल्थ के हिसाब से देखा जाए तो बच्चे होने का भी एक सही समय होता  हैं। क्या अपने कभी इस बारे में सोचा है कि शादी के कितने दिनों बाद करनी चाहिए बच्चे की प्लानिंग? अगर नहीं तो आइये जानते है कि शादी के कितने दिनों बाद करनी चाहिए बच्चे की प्लानिंग :

1. अगर 20 साल से पहले हो जाए शादी:

20 साल की उम्र से पहले किसी भी लड़की को मां नहीं बनना चाहिए। WHO के मुताबिक, दुनियाभर में प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाली डिफीकल्टीज से होने वाली मौतों में 15 से 19 साल की लड़कियां सबसे ज्यादा होती हैं। अगर पहली बार मां बनने वाली लड़की की उम्र 20 साल से कम है तो उसके होने वाले बच्चे की मौत का रिस्क कई गुना बढ़ जाता है। इमोशनली और साइकॉलजिकली भी 20 साल से कम उम्र में माता-पिता बनना सही नहीं होता हैं |

2. 20-25 साल के बीच हो शादी:

अगर आपकी शादी 20 से 25 साल के बीच होती है तो आप शादी के तुरंत बाद बच्चे की प्लानिंग कर सकते हैं क्योंकि यह गर्भधारण (Gestation) का सबसे सही समय होता हैं।25 से 30 कि उम्र में दोनों महिला और पुरुष के होर्मोनेस काफी एक्टिव होते हैं इसलिए इस समय प्रेग्नेंट होने से सेहत कहरब होने का खतरा भी कम होता है। साथ ही 25 साल की उम्र आते-आते कपल्स फाइनैनशियली भी थोड़े स्टेबल हो जाते हैं और बच्चे की जिम्मेदारी उठा सकते हैं।

और पढ़िए : कैसे करे बच्चो के भविष्य और पढाई की फाइनेंशल प्लानिंग ? जानिए 7 जरुरी टिप्स

3. जब 25-30 साल के बीच हो शादी

अगर आपकी शादी 25 से 30 साल के बीच होती  हैं तो आप शादी के तुरंत बाद बच्चे की प्लानिंग कर सकते हैं। ज्यादातर कपल्स का मानना    हैं कि बच्चे के जन्म के लिए यह सबसे सही उम्र  होती  हैं। हालांकि स्वास्थ्य के लिहाज से देखें तो यह उम्र आते-आते महिलाओं की  फर्टिलिटी कम होने लगती है और महिला के प्रेग्नेंट होने के चांसेज कम होने लगते हैं। जहां तक पुरुषों के स्पर्म क्वॉलिटी का सवाल है तो यह पूरी तरह से उनके लाइफस्टाइल पर निर्भर करता हैं। अगर पुरुष शराब और सिगरेट का सेवन करता हैं या उन्हें कोई स्वास्थ्य से जुड़ी समस्या है तो इसका उनके स्पर्म पर भी असर पड़ता  हैं।

4. 35 से 40 साल के बीच अगर हो शादी

इस उम्र में शादी करने के बाद और बच्चे की प्लानिंग करने से पहले अपनी और अपने पार्टनर की अच्छी तरह से जांच करवा लें ताकि यह पता चल सके कि आप एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देने के लिए पूरी तरह स्वस्थ हैं या नहीं। इस उम्र में अगर आप बच्चे को जन्म देने के बारे में सोचते हैं तो होने वाले बच्चे में डाउन सिंड्रोम और ऑटिज्म का खतरा बढ़ सकता है। साथ ही गर्भवती स्त्री के गर्भपात (miscarriage) का खतरा भी कई गुना बढ़ जाता  हैं।

इस आर्टिकल में हमने जाना कि  शादी के कितने दिनों बाद करनी चाहिए बच्चे की प्लानिंग।

Recent Posts

शालिनी तलवार कौन है? हनी सिंह की पत्नी जिन्होंने उनके खिलाफ घरेलू हिंसा का मामला दर्ज कराया है

यो यो हनी सिंह की पत्नी शालिनी तलवार ने उनके खिलाफ 3 अगस्त को दिल्ली…

6 hours ago

हनी सिंह की पत्नी ने दर्ज कराया उनके खिलाफ घरेलू हिंसा का केस, जाने क्या है पूरा मामला

बॉलीवुड के मशहूर सिंगर और अभिनेता 'यो यो हनी सिंह' (Honey Singh) पर उनकी पत्नी…

6 hours ago

यो यो हनी सिंह पर हुआ पुलिस केस : पत्नी ने लगाया घरेलू हिंसा का आरोप

बॉलीवुड सिंगर और एक्टर यो यो हनी सिंह की पत्नी शालिनी तलवार ने उनके खिलाफ…

7 hours ago

ओलंपिक मैडल विजेता मीराबाई चानू पर बनेगी बायोपिक : जाने बायोपिक से जुड़ी ये ज़रूरी बातें

वे किसी ऐसे व्यक्ति की तलाश में हैं जो ओलंपिक मैडल विजेता की उम्र, ऊंचाई…

7 hours ago

मुंबई सेशन्स कोर्ट ने गहना वशिष्ठ को अंतरिम राहत देने से किया इनकार

मुंबई की एक सत्र अदालत ने अभिनेत्री गहना वशिष्ठ को उनके खिलाफ दायर एक पोर्नोग्राफी…

7 hours ago

ओलंपिक मैडल विजेता मीराबाई चानू पर बायोपिक बनने की हुई घोषणा

लंपिक सिल्वर मैडल विजेता वेटलिफ्टर सैखोम मीराबाई चानू की बायोपिक की घोषणा हाल ही में…

8 hours ago

This website uses cookies.