हमारे मूड और भोजन के बीच एक अत्यंत गहरा संबंध है। सेरोटोनिन हार्मोन जो हमारे मूड, नींद, भावनाओं को स्थिर करने में मदद करता है, उसका 90% आंत में उत्पन्न होता है और फिर न्यूरोट्रांसमीटर के माध्यम से हमारे मस्तिष्क में पहुंचता है।

इसलिए, सेरोटोनिन को बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से हमारे मूड को ठीक करने में मदद मिल सकती है। अच्छे पोषण के साथ मूड को अच्छा रखने की कुंजी सही खाद्य पदार्थों का सेवन करना है।

आइए जानें ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में जिन्हें आहार में शामिल करने से निश्चित रूप से आपके मूड को ठीक करेंगे

1) नट और बीज

नट और बीजों में ट्रिप्टोफैन होता है, एक एमिनो एसिड जो मूड-बूस्टिंग सेरोटोनिन का उत्पादन करता है । कद्दू, तिल, और सूरजमुखी के बीज, साथ ही बादाम, काजू, मूंगफली, और अखरोट, इसके अच्छे स्रोत हैं। वे आहार का एक बड़ा कंपोनेंट हैं, जो स्वस्थ शरीर और मस्तिष्क का साथ देते हैं।

2) डार्क चॉकलेट

डार्क चॉकलेट खाने से आपका मूड बेहतर होता है और आप शांत और खुश महसूस करते हैं। डार्क चॉकलेट के सेवन से हमारे मस्तिष्क में एंडोर्फिन नामक केमिकल उत्पन्न होता है, जो खुशी और आनंद की भावना पैदा करता है। डार्क चॉकलेट आपके मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को बढ़ाती है, सूजन को कम करती है और मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बढ़ाती है, ये सभी मूड को अच्छा बनाएं रखते हैं।

3) जामुन खाद्य पदार्थ मूड बेहतर 

अधिक फल खाने से डिप्रेशन होने की संभावनाएं कम है। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर आहार डिप्रेशन और अन्य मूड विकारों को कम करता है। जामुन में एंटीऑक्सीडेंट और फेनोलिक कंपाउंड्स होते हैं, जो ऑक्सीडेटिव तनाव को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। जामुन रोग से लड़ने वाले एंथोसायनिन से भरपूर होते हैं, जो डिप्रेशन के जोखिम को कम करते हैं।

4) सैल्मन

सैल्मन ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर होता है, जो हमारे मूड को बेहतर बनाने में मदद करता है। ओमेगा 3 फैटी एसिड हमारे शरीर की कोशिकाओं के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यह हमारे बालों और त्वचा को चमकदार बनाता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है। जो लोग ओमेगा 3 से भरपूर मछली खाते हैं, उनमें सेटिस्फेक्शन की भावना बढ़ती है और वे आमतौर पर खुश रहते हैं।

5) पालक खाद्य पदार्थ मूड बेहतर 

पालक में मैग्नीशियम होता है, जो सेरोटोनिन के स्तर पर सकारात्मक प्रभाव डालता है और आपके मूड को बूस्ट करता है। जिन लोगों में मैग्नीशियम की मात्रा कम होती है उनमें डिप्रेशन और चिंता का खतरा बढ़ जाता है।

इसके अलावा, ऐसे खाद्य पदार्थ खाने से जिनमें एक आवश्यक अमीनो एसिड ‘ट्रिप्टोफैन’ होता है, शरीर को सेरोटोनिन उत्पादन बढ़ाने में मदद करता है। ट्रिप्टोफैन विशेष रूप से उन खाद्य पदार्थों में पाया जाता है जिनमें प्रोटीन होता है जैसे अंडे, मुर्गी पालन, आदि। ये खाद्य पदार्थ स्वाभाविक रूप से सेरोटोनिन उत्पादन को भी बढ़ावा देते हैं।

एंडोर्फिन एक और हैप्पी हार्मोन है और कुछ खाद्य पदार्थ जो एंडोर्फिन के उत्पादन को प्रोत्साहित करते हैं और खुशी और आनंद की भावनाओं को प्रोत्साहित करते हैं, वे हैं अश्वगंधा, काली मिर्च और हरी मिर्च।

Email us at connect@shethepeople.tv