पीरियड्स के दिनों में एक्‍सरसाइज (exercise), एक ऐसा मुद्दा है जो महिलाओं को तमाम प्रश्नों और आशंकाओं से घेरे रखता हैं। आज के दौर में, जहां हर महिला खुद की सेहत के लिए फिक्रमंद हो गई है, उसपर एक्‍सरसाइज से जुड़ा यह प्रश्न बेहद महत्वपूर्ण है और बड़ी भूमिका निभाता है।

image

तो आइए जानते है, पीरियड्स में एक्‍सरसाइज करना कितना सही है और कितना गलत।

पीरियड्स में एक्‍सरसाइज करना सही है ?

पीरियड्स में एक्‍सरसाइज (exercise) करना बिल्कुल सही है। बस, इस बात का ध्यान रहे कि जितनी क्षमता हो उतनी ही एक्‍सरसाइज करें। अपने शरीर के साथ बिल्कुल भी जबरदस्ती करना ठीक नहीं है।

यह एक पुरानी और गलत धारणा है कि पीरियड्स में एक्‍सरसाइज नहीं करनी चाहिए। जबकि, पीरियड्स में एक्‍सरसाइज करने के तमाम फायदे हैं जो आपको ज़रूर पता होने चाहिए।

पीरियड्स में एक्‍सरसाइज करने के फायदे

  • पीरियड्स में एक्‍सरसाइज (exercise) करने से, उन दिनों पेट मे होने वाली मरोड़ से आराम मिलता है।
  • पीरियड्स में हल्की एक्‍सरसाइज करने से, शरीर में एन्डोरफीन (endorphin) नामक रसायन बनता है, जो आपको अच्छा महसूस कराने के लिए जिम्मेदार होता है।
  • पीरियड्स के दिनों की गई एक्‍सरसाइज से, उन दिनों का तनाव कम होता है। और आपको बेहतर महसूस करने के लिए बेहद मदद मिलेगी।
  • कई अध्ययन के बाद ये तय हुआ है कि पीरियड्स में एक्‍सरसाइज करने से, अनियमित पीरियड्स ठीक होते है।
  • ब्लड सर्क्यलैशन (blood circulation) ठीक रहता है।
  • पीरियड्स के दिनों की गई एक्‍सरसाइज थकान, सिरदर्द जैसी कई समस्याओं से राहत देती है।

इन बातों का रखें ध्यान

  • एकदम तेज एक्‍सरसाइज (exercise) करने से बचें।
  • शरीर पर एक्‍सरसाइज को भार न बनाएँ।
  • हल्के से शुरू करके आप अपने शरीर को एक्‍सरसाइज करने के लिए तैयार कर लें। ऐसा करने से, आपके शरीर को एक्‍सरसाइज का ज्यादा से ज्यादा लाभ मिलेगा।
  • जितना हो सके, पीरियड्स में मेंस्ट्रुअल कप (menstrual cup) का इस्तेमाल करें। इससे एक्‍सरसाइज करते वक्त आप एकदम आरामदायक महसूस करेंगी।
  • एक्‍सरसाइज करने से थोड़ा पहले कुछ फलों का सेवन जरूर कर लें।

पढ़िए : आपके चिड़चिड़ेपन की वजह कहीं PMS तो नहींं?

Email us at connect@shethepeople.tv