Taliban Bans Women From TV Shows: तालिबान ने महिला एक्टर्स वाले टीवी शो पर बैन लगाया, महिला पत्रकारों को स्क्रीन पर हिजाब पहनने का आदेश दिया 

Taliban Bans Women From TV Shows: तालिबान ने महिला एक्टर्स वाले टीवी शो पर बैन लगाया, महिला पत्रकारों को स्क्रीन पर हिजाब पहनने का आदेश दिया  Taliban Bans Women From TV Shows: तालिबान ने महिला एक्टर्स वाले टीवी शो पर बैन लगाया, महिला पत्रकारों को स्क्रीन पर हिजाब पहनने का आदेश दिया 

SheThePeople Team

22 Nov 2021


Taliban Bans Women From TV Shows: एक नए 'धार्मिक गाइडलाइन' में अफगानिस्तान के तालिबान ने देश के टेलीविजन चैनलों को महिला अभिनेताओं वाले नाटक और सोप ओपेरा को दिखाने से रोकने के लिए कहा है। अगस्त में जब तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा किया था, तब जनता को भरोसा दिलाया कि इस बार यह पुराने समय से अलग होगा। समूह ने आश्वासन दिया कि महिलाओं को अधिक स्वतंत्रता होगी और उनके अधिकारों की रक्षा होगी। हालाँकि, उनके कार्यों में उनके द्वारा कही गई बातों के बिल्कुल विपरीत नजर आ रहा है। 

तालिबान ने किन चीजों पर पाबंदी लगाईं? 

अफगानिस्तान के तालिबान अधिकारियों ने रविवार को गाइडलाइन जारी की कि टीवी चैनल महिला अभिनेताओं की भूमिका वाले नाटक दिखाना बंद कर देंगे। अफ़ग़ान मीडिया को इस तरह के पहले निर्देश में मंत्रालय द्वारा वर्च्यू को बढ़ावा देने और बुराई की रोकथाम के लिए जारी किया गया था, इसके साथी ही तालिबान ने महिला टेलीविजन पत्रकारों से अपनी रिपोर्ट पेश करते हुए इस्लामिक हिजाब पहनने को कहा। 

मंत्रालय ने चैनलों से उन फिल्मों या कार्यक्रमों को एयर नहीं करने के लिए कहा जिनमें पैगंबर मुहम्मद या अन्य सम्मानित व्यक्ति दिखाए जाते हैं। मंत्रालय के स्पोकमैन हकीफ मुहाजिर ने एएफपी को बताया कि, "ये नियम नहीं बल्कि धार्मिक गाइडलाइंस हैं।" 

कितने नए नियम लागू किए गए हैं? 

तालिबान के गाइडलाइंस का लेटेस्ट सेट, जो अफगान टेलीविजन चैनलों को जारी किए गए हैं, में 8 नए नियम शामिल हैं। उन कार्यक्रमों और फिल्मों पर प्रतिबंध लगाने को कहा जो इस्लामी और अफगान मूल्यों के खिलाफ हैं और अरब पुरुषों के शरीर के अंतरंग हिस्सों को एक्सपोज़ करने वाले फुटेज प्रतिबंधित हैं। 

कॉमेडी और मनोरंजन वाले शो जो धर्म का अपमान करते हैं और अफ़गानों के लिए आक्रामक माने जा सकते हैं, वह भी माना है। अफगान टेलीविजन चैनल मुख्य महिला पात्रों के साथ ज्यादातर विदेशी नाटक दिखाता है लेकिन नई गाइडलाइन के हिसाब से, तालिबान ने जोर देकर कहा है कि विदेशी सांस्कृतिक मूल्यों को बढ़ावा देने वाली विदेशी फिल्मों का प्रसारण नहीं किया जाना चाहिए।

अफगानिस्तान के पत्रकारों का प्रतिनिधित्व करने वाले एक संगठन के सदस्य हुज्जतुल्लाह मुजाद्दीदी ने कहा कि, नए रिस्ट्रिक्शंस की घोषणा अनएक्सपेक्टेड थी। उन्होंने बताया कि कुछ नियम प्रैक्टिकल नहीं थे और अगर इसे लागू किया गया तो ब्रॉडकास्टर्स को मजबूर होकर बंद होना पड़ सकता है। 

लड़कियों और युवतियों को घर पर रहने का आदेश देने के तालिबान के इस फैसले ने, अफगानिस्तान को दुनिया का एकमात्र ऐसा देश बना दिया जिसने अपनी आधी आबादी को शिक्षा प्राप्त करने से रोक दिया। इसके साथ, राजधानी काबुल के मेयर ने नगर निगम की महिला कर्मचारियों को भी घर पर रहने को कहा, जब तक कि उनकी नौकरी कोई पुरुष नहीं भर सकता। 


अनुशंसित लेख