क्या आपकी सारी सहेलियां एक-एक करके शादी कर रही हैं? अगर हां, तो ज़ाहिर-सी बात है कि आपकी फैमिली वाले भी आपको शादी करने के लिए बार-बार प्रेशर कर रहें होंगे। लेकिन क्या आप फैमिली प्रेशर से और अपनी सहेलियों को देखकर शादी के बंधन में बधंने का सोच रही हैं, तो ज़रा ठहरिए और अपने आप से पूछिए कि आप क्या चाहती हैं।

image

आपको शादी के लिए मनानें के लिए आपके घर वाले आपको तरह-तरह के कारण बताएंगे और कहीं न कहीं आपका दिल और दिमाग उन बातों को मानने को भी तैयार हो जाएगा। इससे पहले की आप उनकी बातों पर विश्वास करना शुरू करें ज़रूरी है कि आप इस आर्टिकल को पढ़ें और इस खतरें की घंटी से खुद को बचाएं।

शादी करने के लिए आपको कुछ इस तरह की बातें कही जाएंगी, जैसे-

-“यही (20-25 साल) सही उम्र होती है शादी की या यही उम्र है शादी की,कर के काम खत्म करों”

उम्र का फेक्टर सबसे गलत फेक्टर हैं। सबको ज़रूरी है कि इसे शादी के लिए ज़रूरी मानना बंद करें। तुम्हें शादी तभी करनी चाहिए जब तुम उसके लिए तैयार हो और ज़िम्मेदीरियां सम्भालना जानती हों।

-“मां नही बनना क्या तुम्हें?”

महिलाओं की जिंदगी केवल मां बनने तक ही सीमित नही हैं। काफी महिलाएं मां नही बनना चाहती या फिर एक मां का रोल बेबी एडोप्ट करके भी प्ले करना चाहती हैं या कर सकती हैं।

-“ज्यादा पढ़-लिख लोगी तो तुमसे ज्यादा पढ़ा-लिखा लड़का कहां ढूंढेंगे?”

अक्सर लोग लड़की का लड़के से ज्यादा पढ़ा-लिखा होना गलत मानते हैं। मतलब अगर लड़का लड़की से कम पढ़ा-लिखा हुआ तो यह उसके लिए शर्म की बात मानी जाती हैं। लेकिन क्यों हमारी सोसायटी लड़की को लड़के से ज्यादा सक्सेसफुल देखना पसंद नही करती?

-“सोसाइटी का प्रेशर”

खैर, आजकल की लड़कियां इस प्रेशर को इग्नोर करने में माहिर हैं।

-“तुम्हारी जेनरेशन ही खराब है”

जब भी आप शादी के लिए मना कर दें या अपने हक़ की बात करें तो बड़े-बूढ़े कहते हैं कि तुम्हारी जेनरेशन ही खराब है, तुम्हें कॉम्प्रोमाइस करना ही नही आता। अगर अपने लिए स्टेंड लेने से हम गलत है तो हम गलत ही सही।

-“तुम्हें तुम्हारा ख्याल रखने वाला जीवनसाथी मिल जाएगा”

नहीं, अपना ख्याल रखने लिए ज़रूरी है कि आप खुद पर निर्भर रहें ना कि किसी और पर्सन पर।

शादी के बाद भी काफी चीज़े हैं जो परेशान करती हैं और सोसायटी या हमारी फेमिली सपोर्ट नही करती, जैसे-

-मेरिटल रेप एंड डोमेस्टिक वॉयलेंस

आज भी भारत में मेरिटल रेप के अगेमस्ट कोई लॉ नही हैं।

-दहेज के लिए परेशान करना और डॉमेस्टिक वॉयलेंस

यह जरूरी है कि शादी करने से पहले आप लड़के को और उसकी फैमिली को अच्छे से जानें और पहचानें।

-डिवॉर्स

इंडिया की डिवॉर्स रेट 1% से भी कम हैं। क्योंकि यहां की महिलाएं रिश्तें तोड़ने से ज्यादा सहन करने में विश्वास करती हैं।

अब सवाल आता है कि अगर शादी नही तो फिर क्या?
भारत में 1/4 युवा शादी नही करना चाहतें। अब अगर ये लोग शादी नही करना तो क्या वह बहुत अकेले होंगे? बिल्कुल नहीं।
-आप बैचलर लाइफ जी सकते हैं, अपने फ्रेंड्स के साथ रह सकते हैं।
-आप Live-In रिलेशनशिप में रह सकते हैं।
सबसे ज्यादा ज़रूरी है कि आप अपने लिए वही चुनें जिसमें आप सबसे ज्यादा खुश हैं।

पढ़िए:- क्या कोरोना काल आपकी लव लाइफ पर हावी पड़ रहा है ?

Email us at connect@shethepeople.tv