Career Anxiety: कैरियर की टेंशन से कैसे डील करें?

एक सर्टिफिकेट साइकोलॉजिस्ट आपको आसानी से यह चीज सिखा सकती है कि कैसे स्ट्रेस को कम किया जाए, कैसे अधिक सोचना (overthinking) को बंद करें। जाने अधिक जानकारी इस ब्लॉग में-

Vaishali Garg
11 Jan 2023
Career Anxiety: कैरियर की टेंशन से कैसे डील करें?

career anxiety

Career Anxiety: हम सभी ने कभी ना कभी अपने जीवन में किसी ना किसी प्रकार की चिंता का अनुभव जरुर किया होगा। एक बच्चा होगा तो हो सकता है वह खिलौनों को लेकर चिंता करता हो, थोड़ा बड़ा होगा तो पढ़ाई को लेकर, कोई कॉलेज स्टूडेंट होगा तो करियर को लेकर। आजकल आप में से कई लोगों ने देखा होगा कि कैरियर और पढ़ाई की टेंशन इतनी ज्यादा हो जाती है कि एक व्यक्ति अपने जीवन तक खत्म करने की सोच लेता। इतना अधिक मानसिक टेंशन ले लेता है की उसको समझ ही नहीं आता है हम आगे क्या करें।

आप में से बहुत से लोगों ने यह खबरें सुनी होंगी अधिकतर बच्चे खुदकुशी कर लेते हैं क्योंकि वह पेपर में फेल हो जाते हैं, करियर में फेल हो जाने के कारण वह अपना जीवन खत्म (Suicide) कर लेते हैं। लेकिन क्या यह सही है? नहीं ना! इसलिए आइए आज के इस ब्लॉग में हम जानते हैं कि कैसे करियर की टेंशन से या करियर एंजाइटी से डिली किया जाए।

Career Anxiety: क्या है करियर एंजायटी?

कैरियर एंजाइटी एक तनावपूर्ण या चिंतित मन की स्थिति है जिसका सामना आज के समय में बहुत से लोग करते हैं, जब चीजें उनके करियर में चुनौतीपूर्ण हो जाती हैं या फिर उनको कोई नौकरी नहीं मिल पाती है और वह अपनी नौकरी में सही तरीके से काम नहीं कर पाते हैं।

Career Anxiety: कब किसी की मदद लेनी चाहिए?

हमें जब किसी की मदद लेनी चाहिए जब हम अधिक फिजिकल समस्याओं का सामना करते हैं, जैसे- दिल की धड़कन एकदम से तेज हो जाना, शरीर का कांपना, समझ नहीं आना अब क्या करें ऐसा लगता है अब बस सब खत्म हो जाए, जब हम छोटी-छोटी बातों में चिड़ने लगे, अपना ध्यान अपने काम से हटने लगे तब।

Career Anxiety: इसे कैसे दूर किया जाए?

  • जब आपको लगे आप बहुत ज्यादा तनावग्रस्त हैं और आपको कुछ समझ ना आए, तो आप अपने आसपास के लोगों से बात करें, आप अपने घर वालों से बात करें या फिर अपने दोस्तों से बात करें। कई बार ऐसा होता है कि हम बड़ी से बड़ी समस्याओं का हल नहीं ढूंढ पाते लेकिन सिर्फ और सिर्फ किसी से इस बारे में बात करने से हम को आसानी से उस समस्या का हल मिल जाता है।
  • बड़े से बड़े मुद्दे को आसानी से लोगों के सामने रखें, भले आपको कितनी भी कठिनाई आ रही हो।मेंटल इलनेस के बारे में लोगों से बात करें। क्योंकि मेंटल इलनेस एक फिजिकल प्रॉब्लम्स से ज्यादा इमोशनल प्रॉब्लम्स अधिक है।
  • यदि आपको लग रहा है कि चीजें बहुत ज्यादा खराब हो गई है,आप सो नहीं पा रहे हैं ढंग से, कुछ खा नहीं पा रहे हैं। ऐसे में आप प्रोफेशनल हेल्प लें, प्रोफेशनल हेल्प मतलब आप किसी काउंसलर के पास जाएं या साइकोलॉजिस्ट की मदद ले, वह आपको बहुत आसानी से आपकी समस्याओं को हल करने में मदद करेंगे।
  • एक सर्टिफिकेट साइकोलॉजिस्ट आपको आसानी से यह चीज सिखा सकती है कि कैसे स्ट्रेस को कम किया जाए, कैसे अधिक सोचना (overthinking) को बंद करें और अपनी बॉडी को कैसे रिलैक्स रखें।
image widget

Read The Next Article