Advertisment

Period Talks: अपने बेटे को पीरियड्स के बारे में कैसे बताएं?

अपने बेटे को पीरियड्स के बारे में बताना एक महत्वपूर्ण कदम है जो उन्हें संवेदनशील, समझदार और सहायक बनने में मदद करता है। यह बातचीत न केवल महिलाओं के प्रति उनके दृष्टिकोण को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है।

author-image
Srishti Jha
New Update
kfnsdmngbvjNJNBds

Image Credit: Stayfree India

How to tell your son about periods: अपने बेटे को पीरियड्स के बारे में बताना एक महत्वपूर्ण कदम है जो उन्हें संवेदनशील, समझदार और सहायक बनने में मदद करता है। यह बातचीत न केवल महिलाओं के प्रति उनके दृष्टिकोण को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है, बल्कि उन्हें सामाजिक और शारीरिक प्रक्रियाओं को बेहतर ढंग से समझने में भी मदद करती है। यहाँ कुछ सुझाव दिए गए हैं जो इस विषय पर बात करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

Advertisment

Period Talks: अपने बेटे को पीरियड्स के बारे में कैसे बताएं?

1. सही समय चुनें 

बच्चों के साथ किसी भी संवेदनशील विषय पर बातचीत के लिए सही समय चुनना महत्वपूर्ण है। यह बातचीत तब शुरू करें जब वह आरामदायक और सुरक्षित महसूस करे, जैसे किसी निजी और शांतिपूर्ण समय पर। यह बातचीत को स्वाभाविक और कम तनावपूर्ण बना सकता है।

Advertisment

2. सरल और स्पष्ट भाषा का प्रयोग करें

पीरियड्स के बारे में बात करते समय सरल और स्पष्ट भाषा का उपयोग करें। तकनीकी या जटिल शब्दों से बचें, खासकर अगर आपका बेटा अभी बहुत छोटा है। 

3. विज्ञान पर आधारित व्याख्या करें 

Advertisment

बच्चों को चीजें बेहतर समझ में आती हैं जब वे  विज्ञान पर आधारित होती हैं। आप यह बता सकते हैं कि पीरियड्स एक सामान्य शारीरिक प्रक्रिया है जो महिलाओं को उनके प्रजनन स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करती है। आप सरल शब्दों में यह भी बता सकते हैं कि यह प्रक्रिया कैसे काम करती है और यह हर महीने क्यों होती है।

4. समानुभूति और समर्थन पर जोर दें 

बातचीत के दौरान यह बताना महत्वपूर्ण है कि पीरियड्स के दौरान महिलाओं को शारीरिक और  मानसिक चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। उन्हें बताएं कि वे कैसे इस समय के दौरान अपनी मां, बहन या महिला दोस्तों की मदद कर सकते हैं। समानुभूति और समर्थन पर जोर दें, ताकि वह समझ सकें कि इस समय के दौरान महिलाओं के साथ संवेदनशीलता से पेश आना क्यों महत्वपूर्ण है।

Advertisment

5. प्रश्नों को प्रोत्साहित करें 

अपने बेटे को सवाल पूछने के लिए प्रोत्साहित करें और उसके सभी सवालों का धैर्यपूर्वक उत्तर दें। यदि आप किसी प्रश्न का उत्तर नहीं जानते हैं, तो ईमानदारी से कहें कि आप इसे पता करेंगे। यह उसे दिखाएगा कि यह विषय शर्मिंदगी का नहीं है और वह इस पर खुलकर बात कर सकता है।

6. सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाएं

Advertisment

पीरियड्स के बारे में बात करते समय हमेशा सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाएं। इसे प्राकृतिक, सामान्य और स्वास्थ्य का हिस्सा मानें। इससे यह संदेश जाएगा कि यह जीवन का एक स्वाभाविक हिस्सा है और इसमें कुछ भी  शर्मिंदा करने वाला नहीं है।

7. सांस्कृतिक और व्यक्तिगत संदर्भ जोड़ें 

यदि संभव हो, तो पीरियड्स के बारे में सांस्कृतिक और व्यक्तिगत संदर्भ जोड़ें। यह बच्चों को यह समझने में मदद करता है कि यह विषय उनके अपने जीवन और समुदाय से कैसे जुड़ा है। उदाहरण के लिए, आप परिवार के भीतर पीरियड्स से संबंधित किसी अनुभव को साझा कर सकते हैं।

8. शिक्षात्मक संसाधनों का उपयोग करें

यदि आपको लगता है कि यह चर्चा अकेले करना कठिन है, तो आप शिक्षात्मक पुस्तकों, वीडियो या वेबसाइटों का उपयोग कर सकते हैं जो बच्चों को पीरियड्स के बारे में समझने में मदद कर सकते हैं।

Periods पीरियड्स Period Talks
Advertisment