दिल्ली सरकार ने सोमवार को शराब पीने की उम्र में बदलाव किया। पहले राजधानी में पीने की उम्र 25 वर्ष थी ,जिसे कम कर के अब 21 वर्ष कर दिया गया है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि नए कानून सुधारों के अनुसार, शहर में “शराब माफिया” पर नियमों के साथ सुरक्षित पीने की व्यवस्था रखी जाएगी। दिल्ली ड्रिंकिंग एज लिमिट

मनीष सिसोदिया ने एक press conference में कहा, कि राष्ट्रीय राजधानी में कोई नई शराब की दुकानें नहीं खोली जाएंगी और सरकार कोई भी शराब की दुकान नहीं चलाएगी।

सरकार दिल्ली 60 प्रतिशत authorised शराब स्टोर चलाती है, जबकि दिल्ली में 2000 के करीब अवैध स्टोर संख्या है। डिप्टी सीएम ने कहा, “सरकार शराब की दुकानों का समान वितरण (equitable distribution) सुनिश्चित करेगी ताकि शराब माफियाओं को व्यापार से बाहर निकाला जाए।”

पढ़िए ,दिल्ली में शराब पीने की उम्र सीमा पर लोगों की प्रतक्रियाएँ :

दिल्ली की रहने वाली एक स्टूडेंट साक्षी ने इस बदलाव की बात करते हुए कहा, यह बहुत देर हुआ है लेकिन यह एक पॉजिटिव स्टैप है। “दिल्ली में पीने की उम्र हमेशा अनफेयर थी, बेंगलुरु जैसे राज्यों और विदेशो में हमेशा 21-वर्ष की आयु सीमा होती है। मुझे खुशी है कि आखिरकार दिल्ली में भी बदलाव आ गया। मैं अब शांति से अपनी ड्रिंक को एन्जॉय कर पाऊँगी। ”

24 साल की वकील आस्था वर्तमान में दिल्ली में रहती हैं, उन्हें लगता है कि पीने की उम्र में गिरावट responsible drinking को बढ़ावा देगी। “कानूनी अनुमति के बाद से, युवाओं को डरपोक तरीके शराब खरीदने की आवश्यकता नहीं होगी। ” दिल्ली ड्रिंकिंग एज लिमिट

यह है सोशल मीडिया पर लोगों का मानना :

 

 

 

 

Email us at connect@shethepeople.tv