Advertisment

जानें शिलॉन्ग री भोई महिलाएं कितनी उत्साहित हैं G20 मीट के लिए

न्यूज़: महिलाएं NHAI के साथ एक दैनिक वेतन अनुबंध पर हस्ताक्षर करेंगी। उन्होंने 30 मार्च को काम शुरू किया और 1 अप्रैल को उनका काम समाप्त हो गया। जानें अधिक इस ब्लॉग में-

author-image
Vaishali Garg
03 Apr 2023
जानें शिलॉन्ग री भोई महिलाएं कितनी उत्साहित हैं G20 मीट के लिए

Shillong Ri Bhoi Women

Shillong Ri Bhoi Women: शिलॉन्ग री भोई महिलाएं 17-18 अप्रैल तक होने वाली जी20 बैठक को लेकर काफी उत्साहित हैं।  महिलाएं विदेशी प्रतिनिधियों के दौरे का बेसब्री से इंतजार कर रही हैं।

Advertisment

G20 Nari Shakti Model: जानें आखिर शिलॉन्ग री भोई महिलाएं कितनी उत्साहित हैं

उम्सॉव और कुनैन गांवों की महिलाएं जोरबात से उमियम तक जाने वाले राजमार्ग की सफाई के लिए सेना में शामिल हो जाती हैं। वे भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) के तहत वहां के डिवाइडर को पेंट भी करती हैं।

महिलाएं NHAI के साथ एक दैनिक वेतन अनुबंध पर हस्ताक्षर करेंगी।  उन्होंने 30 मार्च को काम शुरू किया और 1 अप्रैल को उनका काम समाप्त हो गया। मेघालय के राज्यपाल बीडी मिश्रा ने एक सार्वजनिक घोषणा की कि उनका शहर अंतरिक्ष पर विदेशी प्रतिनिधियों का स्वागत करने वाला जी20 मेजबान होगा। आपको बता दें की बीडी ने गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान शिलांग के पोलो ग्राउंड में यह घोषणा की।

Advertisment

भारत के G20 प्रेसीडेंसी के तहत नारी शक्ति मॉडल महिलाओं से अधिक भागीदारी का वादा करता है। जैसा कि शिलांग री भोई महिलाओं और कई अन्य उदाहरणों में देखा जा सकता है जहां महिलाओं ने खुद को अधिक शामिल किया है। बैंकिंग के संदर्भ में महिलाओं को आर्थिक रूप से शिक्षित करने के लिए ग्रामीण स्तर पर डिजिटल अभियान भी आयोजित किए जाते हैं ताकि वे आर्थिक रूप से स्वतंत्र हो सकें।

महिलाओं के लिए विशेष ऋण योजनाएं उपलब्ध हैं जो उन्हें अपने व्यवसाय के लिए ऋण लेने में मदद करती हैं। इस वर्ष कृषि में महिलाओं की अधिक भागीदारी देखने की उम्मीद है क्योंकि शैक्षिक कार्यशालाओं में उन्हें अपने कृषि व्यवसाय को कैसे विकसित किया जाए, इस पर ट्रेनिंग दिया जाएगा। आपको बता दें की डिजिटल साक्षरता अभियान महिलाओं को खुद को आर्थिक रूप से आत्मविश्वासी बनाने में मदद कर रहा है।

शिलांग री भोई महिलाएं ही ऐसी महिलाओं का समूह नहीं हैं जो आगामी जी20 बैठक में अपने कौशल को शामिल करना चाहती हैं। शिगमोत्सव के दौरान सभी महिला रोमटामेल परफॉर्मर्स ग्रुप जी20 मंच पर नजरें गड़ाए हुए हैं। भारत की नारी शक्ति जमीनी स्तर पर महिलाओं की मदद करने और उन्हें सशक्त बनाने का वादा करती है। बहुत सारी महिलाओं ने अब अपने पेशेवर लक्ष्यों तक पहुंचने की उम्मीद करना शुरू कर दिया है क्योंकि महिलाओं को अपने लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए सरकार द्वारा योजनाएं और नीतियां बनाई जा रही हैं।

Advertisment
Advertisment