सोशल मीडिया पर सोमवार सुबह की गपशप का सबसे बड़ा हिस्सा था हार्दिक पंड्या और नताशा स्टेनकोविक का बताना कि वो माता पिता बनने जा रहे हैं। Pre-Covid-19 के टाइम, 1 जनवरी 2020 को, उन्होंने अपनी सगाई की घोषणा की थी। क्रिकेटर की पेरेंटहुड की घोषणा के बाद से, ट्विटर पे लोगों ने शादी से पहले प्रेग्नेंट होने के लिए कपल को शेम करना शुरू कर दिया है। वे सीक्रेट लॉकडाउन वेडिंग और इसके बारे में सभी जानकारी जानना चाहते हैं।

image

ये सब यहीं नहीं रुकता! लोग यहाँ तक अनुष्का शर्मा को भी ट्रोल कर रहे हैं क्यूंकि उन्होंने अभी तक ऐसी कोई खबर नहीं सुनाई है जबकि वो कप्तान विराट कोहली के साथ उनकी शादी को इतने साल हो चुके हैं! एक बात याद दिला दी जाये, ये 2020 है, इन सबसे ऊपर उठो और कुछ और भी सोचलो!

हार्दिक और नतासा ने बहुत ही सोच समझकर एक निर्णय लिया है। यह निर्णय स्टीरियोटाइप्स तोड़ रहा है जिसकी हमें प्रशंसा करनी चाहिए.

इसके अलावा, कपल ने हाल ही में वडोदरा में एक low – key #QuarantineWedding की थी।

और पढ़िए:यूपीएससी टोपर इरा सिंघल को उनकी शारीरिक अक्षमता के लिए किया गया ट्रोल

हार्दिक ने रविवार शाम को फेसबुक पर लिखा, “नतासा और मैंने एक साथ एक ग्रेट जर्नी की है और यह अब और भी बेहतर होने वाला है! एक साथ हम बहुत जल्द अपने जीवन में एक नए जीवन का स्वागत करने के लिए उत्साहित हैं। हम अपने जीवन के इस नए फेज के लिए बहुत थ्रिलड हैं और आपका आशीर्वाद और शुभकामनाएँ चाहते हैं। ” मुझे लगता है कि यह एक सुंदर और प्यारा तरीका है बताने का। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे शादीशुदा हैं या नहीं। वे दो सहमति रखने वाले एडल्ट्स जो अपने काम की पूरी जिम्मेदारी लेते हैं। शादी को लेकर इतना ओबसेशन क्यों? और डियर ट्रोलर्स, माता-पिता बनने के लिए हमेशा शादी करने की आवश्यकता नहीं है, इसमें सिर्फ एडल्ट्स के कंसेंट की ज़रुरत है।

माता-पिता बनने के लिए उनकी पसंद का उनकी लोकप्रियता से कोई लेना-देना नहीं है, यह एक पर्सनल चॉइस है

और पढ़िए: बंगाल: ’युद्ध ना चाहने’ के लिए शहीद की विधवा को ट्रोल किया जा रहा है

माता-पिता बनने के लिए उनकी पसंद का उनकी लोकप्रियता से कोई लेना-देना नहीं है, यह एक पर्सनल चॉइस है और वह इस निर्णय को लेने के लिए स्वतंत्र हैं जब भी वह और उनके साथी इसके लिए तैयार होते हैं। इसके अलावा, वो इसके लिए अपने कप्तान के इशारे का इंतज़ार क्यों करे? और अनुष्का या विराट को इस बातचीत में क्यों घसीटा जा रहा है? उन्हें अपनी पर्सनल लाइफ के निर्णय लेने का पूरा अधिकार है। हार्दिक और नतासा ने बहुत ही सोच समझकर एक निर्णय लिया है। यह निर्णय स्टीरियोटाइप्स तोड़ रहा है जिसकी हमें प्रशंसा करनी चाहिए.

 

Email us at connect@shethepeople.tv