New Zealand: प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने की इस्तीफ़े की घोषणा

न्यूज़ : न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने अपने इस्तीफ़े की घोषणा कर सबको चौंका दिया है। आपको बता दें प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न सबसे छोटी उम्र की पहली महिला प्रधानमंत्री थीं।

Prabha Joshi
19 Jan 2023
New Zealand: प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने की इस्तीफ़े की घोषणा

प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न

New Zealand: न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने अपने इस्तीफ़े की घोषणा कर सबको चौंका दिया है। आपको बता दें प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न सबसे छोटी उम्र की पहली महिला प्रधानमंत्री थीं। प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न का कार्यकाल 7 फरवरी को समाप्त हो रहा है। उन्होंने 2017 में न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री के रूप में कमान संभाली थी। 

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने गुरुवार को घोषणा की कि वह अगले महीने इस्तीफ़ा  दे देंगी। उन्होंने अपनी लेबर पार्टी के सदस्यों की एक बैठक में कहा कि उनके लिए यही समय है। उन्होंने कहा कि उनके पास अगले चार वर्षों के लिए पर्याप्त उर्जा नहीं है।

एजेंसी की माने तो 2017 में अर्डर्न एक गठबंधन सरकार में प्रधानमंत्री बनीं। फिर उन्होंने तीन साल बाद एक चुनाव में भारी जीत के लिए अपनी सेंटर-लेफ़्ट लेबर पार्टी का नेतृत्व किया। हाल ही के चुनावों में जैसिंडा अर्डर्न  ने देखा कि उनकी पार्टी और ख़ुद उनकी लोकप्रियता अब गिर गई है। 

उन्होंने अपनी पार्टी के ऐनुएल कॉकस रिट्रीट में बताया कि उन्हें उम्मीद थी कि ब्रेक के दौरान उन्हें नेता बने रहने के लिए पर्याप्त उर्जा मिल जाएगी, पर वो ऐसा कर नहीं पाई। यह बात उन्होंने एक महीने पहले संसद के ग्रीष्मकालीन अवकाश के जाने के बाद अपनी सार्वजनिक उपस्थिति में कही। उन्होंने बताया कि अगला आम चुनाव शनिवार, 14 अक्टूबर को होगा। वह एक निर्वाचक सांसद के रूप में तब तक  बनी रहेंगी।

अपनी बात को जारी रखते हुए उन्होंने कहा कि वो इसलिए नहीं जा रही हैं कि अगला चुनाव वे लोग जीत नहीं सकते बल्कि इसलिए कि अगला चुनाव भी वो लड़ सकते हैं और जीत सकते हैं। उन्होंने बताया कि उनक इस्तीफ़ा 7 फरवरी से पहले प्रभावी होगा और पार्टी 22 जनवरी को एक नए नेता को चुनेगी। 

प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने कहा कि उनके इस्तीफ़े के पीछे कोई रहस्य नहीं है। उन्होंने कहा कि वो एक इंसान हैं। हम उतना देते हैं जितना हम दे सकते हैं और जब तक दे सकते हैं फिर आख़िर समय आ जाता है। और उनके लिए अब वही समय आ गया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि वो जा रही हैं क्योंकि इस तरह की विशेषाधिकारित नौकरी बहुत-सी ज़िम्मेदारी लाती है। वो ज़िम्मेदारी जिसमें आपको पता चलता है कि आप कब सही व्यक्ति हैं नेतृत्व के लिए और कब नहीं।

Read The Next Article