कोरियोग्राफर सरोज खान का आज 71 साल की उम्र में निधन हो गया। 20 जून को उनको सांस लेने में तकलीफ की वजह से अस्पताल में भर्ती किया गया था। उनका अंतिम संस्कार मलवानी मलाड में किया जाएगा।

image

दिल का दौरा पड़ने से निधन

उनका निधन गुरु नानक अस्पताल के आई.सी.यू में दिल का दौरा पड़ने से हुआ। 40 साल के करियर में उन्होंने 2,000 से भी ज़्यादा गाने कोरियोग्राफ किये हैं।

निजी जिंदगी

सरोज खान के 3 बच्चे हैं, हामिद खान, हिना खान और सुकन्या खान। निर्मला नागपाल नाम से जन्मी सरोज खान ने अपना करियर ‘नज़राना’ से शुरू किया। उन्होंने इस फ़िल्म में छोटी श्यामा का किरदार निभाया था।

वो इसके बाद ही डांस डायरेक्टर बी सोहनलाल के मेंटरशिप में बैकग्राउंड डांसर बन गईं। उन्होंने बी सोहनलाल से 13 साल की उम्र शादी कर ली जबकि सोहनलाल 41 साल के थे। सोहनलाल पहले से शादीशुदा थे और 4 बच्चों के पिता थे। 14 साल की उम्र में सरोज में अपने पहले बच्चे को जन्म दिया।

पुराने इंटरव्यू

एक पुराने इंटरव्यू में उन्होंने बताया था की वो उस समय स्कूल में पढ़ती थीं। एक दिन डांस मास्टर ने उनके गले मे एक काला धागा बांध दिया और उन दोनों की शादी होगयी।

चमकता करियर

सरोज खान को 3 बार नेशनल अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। उन्होंने श्री देवी के कई आइकोनिक गाने कोरियोग्राफ़ किये हैं और श्री देवी उनकी फेवरेट शिष्य भी रह चुकी हैं।

सरोज खान ने कई बॉलीवुड एक्ट्रेस की गुरु रहकर उन्हें डांस में अव्वल बनाया था। माधुरी दीक्षीत, करीना कपूर खान, आदि।

डांस मास्टर जी के नाम से जाने वाली सरोज खान ने संजय लीला भंसाली की देवदास का गाना ‘डोला रे डोला’, तेज़ाब का माधुरी दीक्षित का ‘एक दो तीन’ और जब वी मेट का ‘ये इश्क़ हाय’ कोरियोग्राफ़ किया था।

वो टी वी में भी कई बार जज के रूप में आचुकी हैं। उनका डांस सीखने सिखाने वाला शो भी काफी पॉपुलर रहा है।

और पढ़िए-बिहार के 93 वर्षीय मिथिला कलाकर, गोदावरी दत्ता से मिलें

Email us at connect@shethepeople.tv