Wife Material: महिलाओं के आजाद व्यवहार को सीमित करता है यह कांसेप्ट

वाइफ मटेरियल उन लड़कियों को कहा जाता है जिन्हें पुरूष शादी करने के लिए पर्याप्त समझते हैं। महिलाओं से अधिकतर पुरुषों और उनके घरवालों की अपेक्षाएं एक जैसी ही होती हैं। आमतौर पर ये अपेक्षाएं पितृसत्तात्मक समाज की सोच का ही प्रभाव होती है-

Monika Pundir
24 Nov 2022
Wife Material: महिलाओं के आजाद व्यवहार को सीमित करता है यह कांसेप्ट

wife material

Wife Material: समाज लड़कियों से हमेशा ऐसे व्यवहार की उम्मीद करता है जो खुद समाज द्वारा तय किया गया हो। अगर लड़कियों का व्यवहार उसी प्रकार का होता है तो उन्हें संस्कारी समझा जाता है वरना उन्हें बिगडेल और असंस्कारी कहा जाता है। लड़कियों के लिए समाज और घर परिवार की सबसे पहली चिंता शादी की रहती है लेकिन इसमें बहुत से ऐसे तय पैमाने हैं जिन पर अगर एक लड़की खरी उतरे तो ही उसे शादी के क़ाबिल माना जाता है। इन तय पैमानो पर खरी उतरने वाली लड़कियों को 'वाइफ मटेरियल' कहा जाता है।

क्या है वाइफ मटेरियल? 

वाइफ मटेरियल उन लड़कियों को कहा जाता है जिन्हें पुरूष शादी करने के लिए पर्याप्त समझते हैं। इन लड़कियों में यह पुरूष उन सभी गुणों को देखते हैं जिन्हें वह अपनी पत्नी में चाहते है। हालांकि अपने पार्टनर में किसी पर्टिकुलर खूबी को देखना गलत नही है लेकिन जब बात महिलाओं की आती है तो अधिकतर पुरुषों और उनके घरवालों की अपेक्षाएं एक जैसी ही होती हैं। आमतौर पर ये अपेक्षाएं पितृसत्तात्मक समाज की सोच का ही प्रभाव होती हैं।

वाइफ मटेरियल से कुछ सामान्य अपेक्षाएं

जिन महिलाओं को वाइफ मटेरियल माना जाता है उनसे कुछ सामान्य अपेक्षाएं होती है-
• महिलाएं ज्यादा ऑपीनिएटिड नही होनी चाहिए और उन्हें ज्यादा खुलकर सबके सामने मजाक नही करना चाहिए।
• महिलाओं को हमेशा परिवार की देखभाल करनी चाहिए और उनका स्वभाव हमेशा माफ करने वाला होना चाहिए।
• महिलाओं को ज्यादा डिमांडिंग स्वभाव का नही होना चाहिए, वह अपनी सीमाओं को समझे और पूरा परफेक्ट बने।
• महिलाएं पढ़ी लिखी होनी चाहिए लेकिन घर के मुद्दों में उनसे ज्यादा दखल अंदाजी की उम्मीद नही की जाती। इसके अलावा उन्हें बड़ो के सामने भी नही बोलना चाहिए।
• महिलाएं ऐसा व्यवहार करें जिससे घर की इज्ज़त बनी रहे और कोई भी ऐसा काम न करे जिससे घर परिवार को शर्मिंदगी सहनी पड़े।

क्यो 'वाइफ मटेरियल' शब्द का प्रयोग करना गलत है?

वाइफ मटेरियल शब्द महिलाओं से एक ही प्रकार के व्यवहार की उम्मीद करना है। जो महिलाएं वाइफ मटेरियल की परिभाषा में आती हैं समाज की नजरों में वही शादी के लिए परफैक्ट मानी जाती हैं तो फिर दूसरी महिलाओं का क्या? अगर हम सभी को एक परिभाषा में फिट करने लगे तो समाज से विभिन्नता का कोनसेप्ट ही खत्म हो जाएगा, साथ ही यह तय करने वाला कौन है कि एक परिभाषा में फिट आने वाली महिलाएं ही संस्कारी है? समाज अलग अलग तरीको से महिलाओं को दबाता आ रहा है और वाइफ मटेरियल भी इसका ही एक हिस्सा है।

अनुशंसित लेख