Advertisment

Marriage Tips: सामान्य वैवाहिक चुनौतियों पर काबू कैसे पाएं?

विवाहित जीवन सुखद और सफल हो, ये हर किसी की इच्छा होती है, लेकिन रास्ते में कई तरह की चुनौतियां भी आती हैं। विवाहित जीवन की चुनौतियों से पार पाने के लिए, हर रोज़ थोड़ा प्रयास जरूरी है।

author-image
Anusha Ghosh
New Update
png 41

(Astrotalk)

Marriage Tips: विवाहित जीवन सुखद और सफल हो, ये हर किसी की इच्छा होती है, लेकिन रास्ते में कई तरह की चुनौतियां भी आती हैं। अच्छी बात ये है कि ज़्यादातर परेशानियाँ आम हैं और उन्हें पार पाया जा सकता है। विवाहित जीवन की चुनौतियों से पार पाने के लिए, हर रोज़ थोड़ा प्रयास जरूरी है। 

Advertisment

आइए देखें 5 ऐसी ही चुनौतियों को और उन्हें कैसे हराया जा सकता है

1. बातचीत का अभाव 

शायद शादियों में सबसे आम समस्या है बातचीत का कम होना। व्यस्त जिंदगी, थकान और आदत बन चुका साथ - ये सब बातचीत को कम कर देते हैं। इससे गलतफहमियाँ बढ़ती हैं और दूरी पैदा हो जाती है।  इसका तोड़ है खुलापन और ईमानदारी से बातचीत। रोज़ाना कुछ समय निकालें, एक-दूसरे का दिन कैसा रहा, क्या अच्छा लगा, क्या बुरा लगा, सब कुछ साझा करें। बिना किसी रोक-टोक के खुलकर बात करने से रिश्ते में मजबूती आती है।

Advertisment

2. समय की कमी

ज़िम्मेदारियां बढ़ती हैं तो वक्त कम होता जाता है। काम, घर, बच्चे - इन सबके बीच पति-पत्नी के लिए वक्त निकालना मुश्किल हो जाता है। इससे प्यार और लगाव कम होने लगता है। जरूरी है एक-दूसरे को समय देना (Making Time for Each Other)। हफ्ते में एक शाम या फिर महीने में एक वीकेंड निकालें, सिर्फ एक-दूसरे के लिए। घूमने जाएं, बातें करें, पुरानी यादें ताज़ा करें। इससे रिश्ते में फिर से गर्माहट आती है।

3. बढ़ते हुए मतभेद

Advertisment

शादी के बाद हर किसी का जीवन बदलता है। जिम्मेदारियां बदलती हैं, प्राथमिकताएं बदलती हैं। ऐसे में राय न मिलना या अलग-अलग सोच होना स्वाभाविक है। मगर यही बातें रिश्ते में दरार भी डाल सकती हैं। इससे निपटने के लिए जरूरी है सम्मान के साथ असहमति जताना। अपनी बात रखें, लेकिन सामने वाले की बात भी सुनें। किसी नतीजे पर पहुँचने की कोशिश करें, या फिर मान लें कि राय अलग हो सकती है। हर बात पर ज़ोर ना डालें।

4. नाराजगी जताने का गलत तरीका

गुस्सा आना, बोलना-बचना, ये हर रिश्ते में होते हैं। लेकिन गुस्से का इज़हार गलत तरीके से करने से मामला बिगड़ सकता है। बातचीत बंद हो जाती है और दूरियाँ बढ़ जाती हैं। इसलिए जरूरी है गुस्से को काबू में रखें और बातचीत करना सम्मान के साथ बात करें। गुस्से में बात ना करें, बल्कि शांत होकर समस्या को सुलझाने की कोशिश करें। एक-दूसरे को ब्लेम ना दें, बल्कि समाधान खोजें।

5. प्यार और अंतरंगता की कमी

शादी के साथ ही प्यार और शारीरिक संबंधों में कमी आना भी एक आम समस्या है। इसकी वजह से रिश्ते में खालीपन आ जाता है। जरूरी है प्यार का इजहार करना और शारीरिक संबंधों को बनाए रखना। एक-दूसरे को स्पेशल फील कराएं। छोटे-छोटे तोहफे दें, प्यार से बात करें, एक-दूसरे को स्पर्श करें। रात का खाना साथ में खाएं, या फिर सोने से पहले थोड़ा वक्त साथ बिताएं।

Marriage Tips
Advertisment