Advertisment

बच्चों को Internet Abuse से बचाने के लिए अपनाएं ये तरीके

इंटरनेट बच्चों की लाइफ का एक ज़रूरी हिस्सा है, लेकिन इसका सही इस्तेमाल सिखाना भी जरूरी है। इंटरनेट एब्यूज का खतरा बढ़ रहा है और बच्चों की सुरक्षा पैरेंट्स की जिम्मेदारी है। आइये जानें बच्चों को इंटरनेट एब्यूज से बचाने के कुछ तरीके।

author-image
Niharikaa Sharma
New Update
tips to protect children from internet abuse

Image Credit- Freepik

Adopt These Methods To Protect Children From Internet Abuse: बच्चों को इंटरनेट का सही इस्तेमाल करना सिखाना माता-पिता की जिम्मेदारी है। उन्हें सोशल मीडिया और अन्य इंटरनेट साइटों पर समय सीमित रखना चाहिए ताकि उन्हें इंटरनेट एब्यूज का सामना न करना पड़े। कुछ बच्चें सोशल मीडिया का अधिक इस्तेमाल करने लगते हैं, जिससे उन्हें इंटरनेट एब्यूज का सामना करना पड़ सकता है। इंटरनेट पर अज्ञात लोगों से गाली खाने और उनके फिजिकल रंग-रूप के अपमान का सामना करना पड़ सकता है, जिससे उन्हें नेगेटिविटी फील हो सकती हैं। ऐसे में, बच्चों को इंटरनेट एब्यूज से बचाने के लिए माता-पिता को उनके साथ समय बिताना और उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। आइये जानें बच्चों को इंटरनेट एब्यूज से बचाने के कुछ तरीके।

Advertisment

बच्चों को इंटरनेट एब्यूज से बचाने के लिए अपनाए ये तरीके

पैरेंट कंट्रोल का यूज

बच्चे इंटरनेट पर विभिन्न सामग्री देखते हैं और विभिन्न साइटों पर जाते हैं, जिसकी जानकारी पेरेंट्स को अक्सर नहीं होती। इसलिए, पेरेंटल कंट्रोल के साथ, गूगल, यूट्यूब और इंस्टाग्राम जैसे बड़े प्लेटफ़ॉर्म्स पेशकश करते हैं, जो आपको बच्चों के इंटरनेट इस्तेमाल पर नज़र रखने और उनको नियमित रूप से साइट्स का पता लगाने में मदद कर सकते हैं। इससे उन्हें सुरक्षित और कंट्रोल्ड इंटरनेट एक्सेस मिलता है, जो उनकी भी सुरक्षा और स्ट्रक्चर इंटरनेट इस्तेमाल में मदद करता है।

Advertisment

इंटरनेट के खतरे बच्चों को समझाएं।

अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा इंटरनेट के जोखिमों से बचे रहे, तो उन्हें इंटरनेट के खतरों के बारे में समझाएं और यह समझाएं कि वे कैसे सुरक्षित रह सकते हैं। उन्हें यह भी सिखाएं कि अगर उन्हें कुछ अनुभव या अनजाने में प्रोब्लम होती है, तो वे तुरंत आपको बताएं, ताकि आप उनकी मदद कर सकें।

डिवाइस करें अपडेट

Advertisment

अपने बच्चों को इंटरनेट के जोखिमों से बचाने के लिए सबसे ज़रूरी है कि उनके इस्तेमाल किए जा रहे डिवाइसेज को वायरस और मैलवेयर से सुरक्षित रखा जाए। ऐसा करने से उनकी सुरक्षा सुनिश्चित होती है और आप उनकी ब्राउजिंग हिस्ट्री को भी सुरक्षित रख सकते हैं।

अलग ई-मेल आईडी

एक अलग ई-मेल आईडी बनाने से आप अपने बच्चे को वेबसाइटों पर अनचाहे विज्ञापनों से बचा सकते हैं। इससे आप जान सकते हैं कि आपका बच्चा कौन-कौन सी वेबसाइट्स देख रहा है और क्या खोज रहा है। इस नई आईडी के साथ, आप ब्राउजर की मदद से असुरक्षित वेबसाइट्स और कुकीज़ को ब्लॉक कर सकते हैं।

इंटरनेट है काल्पनिक दुनिया

बच्चों को प्यार से समझाएं कि वह सच नहीं है जो इंटरनेट पर दिखता है। और यदि कोई उन्हें यहाँ कोई गलत शब्द कहता है, तो उन्हें कभी भी अपने ऊपर ज्यादा हावी नहीं होने देना चाहिए, क्योंकि यह सभी एक काल्पनिक दुनिया है, जिसका कोई भी संबंध रियलिटी से नहीं होता।

ई-मेल आईडी रियलिटी ब्लॉक Protect Children Internet Abuse पेरेंट्स इंस्टाग्राम सोशल मीडिया पेरेंटल कंट्रोल
Advertisment