Safely Driving Tips: स्कूटी चलाते समय क्या सावधानियां रखें

क्या आप भी स्कूटी या 2 व्हीलर ड्राइविंग का शौक़ रखते हैं। शौक़ बड़ी चीज़ है लेकिन सावधानी रखना कहीं ज़्यादा बेहतर है। आइए आज हम इस सुरक्षा ब्लॉग में जाने स्कूटी चलाने के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों से।

Prabha Joshi
13 Jan 2023
Safely Driving Tips: स्कूटी चलाते समय क्या सावधानियां रखें

woman driving scooty

Safely Driving Tips: क्या आप भी स्कूटी या 2 व्हीलर ड्राइविंग का शौक़ रखते हैं। शौक़ बड़ी चीज़ है लेकिन सावधानी रखना कहीं ज़्यादा बेहतर है। आइए आज हम इस ब्लॉग में जाने स्कूटी चलाने के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों से। हर किसी का शौक़ होता है ड्राइव करना। ये शौक़ भारी न पड़े इसलिए ज़रूरी है स्कूटी या 2 व्हीलर ड्राइविंग से पहले हम जान लें सेफ़्टी टिप्स की बात।

क्या बरतें सावधानियां

  • ऑन रोड सिग्नल्स की रखें जानकारी : आपने देखा होगा रोड में ट्रेवल करने के दौरान हम बहुत से ट्रैफिक सिग्नल्स से गुज़रते हैं। जब हम ड्राइविंग शुरू कर रहे होते हैं तो ज़रूरी है हम ट्रैफिक सिग्नल्स को अच्छे से समझ और याद कर लें। ट्रैफिक सिग्नल्स की अनदेखी आपको ख़तरे में डाल सकती है।
  • हमेशा हेलमेट साथ रहे : इस बात को न भूलें हेलमेट आपके साथ नहीं। हेलमेट को हमेशा पहन कर ही ड्राइव करें। हेलमेट अच्छी क्वालिटी का हो और डार्क कलर का हो।
  • ट्रैफिक लाइट्स से खेले नहीं : अक्सर जल्दी के चक्कर में लोग रेड लाइट जंप कर जाते हैं। ऐसा न करें। सिग्नल्स की जानकारी रखें और उसे फॉलो करें। 
  • अपने डाक्यूमेंट्स साथ रखें : अक्सर चेकिंग के दौरान ड्राइविंग लाइसेंस पूछा जाता है। ज़रूरी है ड्राइविंग लाइसेंस हर वक़्त ड्राइविंग के दौरान साथ हो। साथ ही ये सुनिश्चित करें कि आपका और आपकी गाड़ी का इंश्योरेंस हो। इंश्योरेंस के काग़ज़ रखें।
  • स्पेस का ध्यान रखें : वाहन को चलाते समय इस बात का ध्यान रखें की आपकी गाड़ी और आगे चलने वाली गाड़ी के बीच अच्छी खासी जगह हो। साथ ही ओवरटेक करते समय आसपास की गाड़ियों का ध्यान रखें।
  • जल्दीबाज़ी में ओवरटेक न करें : बहुत बार जल्दीबाज़ी के चक्कर में हम तेज़ी से ओवरटेक कर जाते हैं। इस दौरान सावधानी रखें। अपने बाईं और से ओवरटेक करने वाले वाहनों पर नज़र रखें।
  • ब्लाइंड स्पॉट का ध्यान रखें : वाहन चलने के दौरान ये ध्यान रखें आप किसी गाड़ी के ब्लाइंड स्पॉट में न हो। किसी भी गाड़ी का ब्लाइंड स्पॉट वो हिस्सा है जिसे वह देख नहीं पाती।
  • वाहन की जांच कराएं : समय-समय पर अपने वाहन की जांच कराते रहें। इससे बीच में कभी आपका वाहन ख़राब होने की शिक़ायत नहीं रहेगी।    

इस तरह आप अपनी ड्राइविंग और ट्रैवेलिंग दोनों सेफ़्टी के साथ कर सकते हैं। अपनी सेफ़्टी के लिए आप ट्रैफिक अपडेट्स पर भी नज़र रखें।

Read The Next Article