Foods To Avoid In Arthritis: अर्थराइटिस है तो भूलकर भी न खाएं ये फूड

Foods To Avoid In Arthritis: अर्थराइटिस है तो भूलकर भी न खाएं ये फूड Foods To Avoid In Arthritis: अर्थराइटिस है तो भूलकर भी न खाएं ये फूड

Sanjana

01 Jul 2022

आर्थराइटिस एक ऐसी बीमारी है जिसमें घुटनों मे या जॉइंट्स में इंफ्लेमेशन हो जाता है। इसके कारण आपको दर्द या फिर ज्वाइंट्स और हड्डियां डैमेज भी हो सकती हैं। ओस्टो अर्थराइटिस एक नॉन इन्फ्लेमेटरी बीमारी है जो बहुत ही आम होती है। इसके हजार से भी ज्यादा प्रकार हैं।

40% पुरुष और 47% महिलाएं इससे जिंदगी भर के लिए पीड़ित हो सकते हैं। इस बीमारी का हमारे खानपान से गहरा संबंध है। रिसर्च के मुताबिक कुछ चीजों को ना खाने से इसके लक्षण कम हो सकते हैं और मरीज की स्थिति बेहतर हो सकती है। कुल मिलाकर कुछ चीजें ना खाने से उसकी पूरी जिंदगी सुधर सकती है।

आर्थराइटिस में नहीं खाने चाहिए ये फूड्स -

1. एडेड शुगर

आर्थराइटिस से पीड़ित मरीजों को एडिड शुगर का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए। यह शुगर आइसक्रीम, कैंडी, कुकीज, ब्राउनी और चॉकलेट जैसी चीजों में अधिक मात्रा में पाई जाती है। शुगर का सेवन करने से अर्थराइटिस के लक्षण अधिक हो सकते हैं। एक रिसर्च के मुताबिक 100 में से 20 लोगों ने एडिड शुगर का सेवन किया और उनकी यह बीमारी दूसरों से ज्यादा बदतर हो गई।

2. ग्लूटन युक्त फूड

जो लोग आर्थराइटिस से पीड़ित होते हैं उन्हें ग्लूटेन फ्री फूड खाना चाहिए। ग्लूटेन युक्त जैसे गेहूं, जौ, राई, आदि का सेवन करने से इन्फ्लेमेशन की समस्या बढ़ सकती है। इसलिए यह आर्थराइटिस के मरीजों को नहीं खाना चाहिए। ग्लूटेन फ्री फूड खाने से आर्थराइटिस के लक्षणों में कमी देखी गई है।

3. एल्कोहोल

एल्कोहल का सेवन करने  से आर्थराइटिस के लक्षण बढ़ सकते हैं। जिस भी व्यक्ति को इन्फ्लेमेटरी आर्थराइटिस हो उसे एल्कोहल से दूर ही रहना चाहिए। स्टडीज में यह दिखाया गया है एल्कोहल का सेवन करने से gout attacks का खतरा भी कई गुना बढ़ जाता है।

4. वेजिटेबल ऑयल

आर्थराइटिस से पीड़ित मरीजों को ओमेगा6  का कम और ओमेगा 3 का ज्यादा सेवन करना चाहिए। ओमेगा 6 ज्यादातर वेजिटेबल ऑयल में पाया जाता है इसलिए इसका सेवन कम करना चाहिए। ओमेगा 3 से भरपूर फैटी फिश आपके आर्थराइटिस के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकती है।

5. नमक वाला खाना

जिन फूड्स में नमक की मात्रा ज्यादा होती है उनका सेवन करने से आर्थराइटिस के लक्षण अधिक गहन हो जाते हैं। कम नमक वाली डाइट को फॉलो करने से आर्थराइटिस के बेहतर होने के चांसेस होते हैं। नमक में सोडियम होता है और रिसर्च के मुताबिक सोडियम के सेवन से इन्फ्लेमेटरी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

नमकीन फूड जैसे पिज़्ज़ा, बर्गर और चीज आदि का सेवन करने से आर्थराइटिस के मरीजों की जान को भी खतरा हो सकता है।

अनुशंसित लेख