Fact Check: क्या Periods में रक्तस्राव से हो सकती है खून की कमी?

पीरियड के 1 से 2 दिन तक रक्तस्राव अधिक होता है उसके बाद यह नार्मल हो जाता है। लेकिन कुछ महिलाओं को पीरियड के दिनों में बहुत अत्यधिक रक्तस्राव होता है। अधिक रक्तस्राव के कारण क्या एनीमिया हो सकता है, जाने इस हैल्थ ब्लॉग में-

Monika Pundir
12 Dec 2022
Fact Check: क्या Periods में रक्तस्राव से हो सकती है खून की कमी?

periods

Fact Check: क्या Periods में रक्तस्राव से हो सकती है खून की कमी?

प्रत्येक महिला को पीरियड के दिनों में रक्त स्राव का अनुभव अलग-अलग होता है। पीरियड शुरू होने के 1 से 2 दिन तक महिलाओं में रक्तस्राव अधिक होता है उसके बाद यह नार्मल हो जाता है। लेकिन कुछ महिलाओं को पीरियड के दिनों में बहुत अत्यधिक रक्तस्राव होता है। यह रक्तस्राव पीरियड के पहले दिन से लेकर आखिरी दिन तक रह सकता है। ऐसे में महिलाओं के मन में यह सवाल आना स्वाभाविक है कि पीरियड्स में हो रहे अधिक रक्तस्राव के कारण उनमें एनीमिया यानी खून की कमी तो नहीं हो जाएगी। आइए जानते हैं इस हैल्थ ब्लॉग में|

महिलाओं में अत्यधिक रक्तस्राव

पीरियड्स के दिनों में होने वाला रक्तस्राव प्रत्येक महिला के लिए अलग-अलग होता है। कुछ महिलाएं सामान्य रक्तस्राव का अनुभव करती हैं तो कुछ के लिए यह बहुत अधिक और दर्द भरा होता है। अगर आपको पीरियड के दिनों में अत्यधिक रक्तस्राव होता है तो ऐसी स्थिति को हैवी पीरियड या मेनोरेजिया (menorrhagia) कहा जाता है। इसके बहुत से कारण हो सकते हैं जैसे शरीर में आयरन की कमी हो जाना, गर्भाश्य में ट्यूमर होने के कारण, सर्वाइकल पॉलिप्स होने के कारण आदि।

एनीमिया कैसे होता है?

शरीर में खून की कमी हो जाने पर एनीमिया होता है। अगर किसी इंसान को एनीमिया होता है तो उसके शरीर में हीमोग्लोबिन और रेड ब्लड सेल्स की मात्रा कम हो जाती है। अगर शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा की कमी हो जाती है तो सभी जरूरी पोषक तत्व और ऑक्सीजन शरीर के सभी अंगों तक सही से नहीं पहुंच पाते हैं। एनीमिया हो जाने के कारण नसों में ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में नहीं पहुंच पाता है जिस कारण शरीर की एनर्जी खत्म हो जाती है और थकान महसूस होती है। एनीमिया होने का असर शरीर के पूरे स्वास्थ्य पर पड़ता है।

पीरियड्स के कारण हो सकता है एनीमिया?

Anemia due to periods blood loss: पीरियड्स में हो रहे रक्तस्राव के कारण एनीमिया होने का वैसे तो कोई सीधा संबंध नहीं है। लेकिन अगर किसी महिला में रेड ब्लड सेल्स की मात्रा सही नहीं है और पीरियड के दौरान ज्यादा रक्तस्राव हो रहा है तो एनीमिया होने का खतरा रहता है। वहीं अगर पीरियड्स में अधिक रक्तस्राव हो रहा है लेकिन रेड ब्लड सेल्स सही मात्रा में बन रहे हैं तो एनीमिया होने का कोई खतरा नहीं होता है। हालांकि पीरियड्स के दौरान होने वाले लक्षण और एनीमिया में दिखाई पड़ने वाले लक्षण लगभग एक जैसे होते हैं इसलिए कई बार महिलाएं इन लक्षणों के कारण कंफ्यूज हो सकती हैं।

पीरियड्स और एनिमिया में दिखने वाले एक जैसे लक्षण

पीरियड्स और एनीमिया में आपको कुछ लक्षण एक जैसे दिखाई दे सकते हैं जिस कारण कंफ्यूज होना स्वाभाविक है। जैसे पीरियड्स और एनीमिया में आपको थकान महसूस होगी, शरीर में कमजोरी महसूस होगी और चक्कर आ सकते हैं। धड़कन असामान्य हो जाएगी, हथेली ठंडी प्रतीत होने लगेगी और आंखों व त्वचा में पीलापन नजर आएगा। इन लक्षणों को पहचानकर आपको सही जांच करवाने की जरूरत होती है।

Read The Next Article