Diabetes: डायबिटीज़ से लड़ने के पांच साधारण तरीके

मधुमेह (डायबिटीज़) एक आधुनिक महामारी है पर आप थोड़े बहुत ज्ञान और समर्पण से इसको नियंत्रित कर सकते हैं। मधुमेह के दुष्प्रभावों में दृष्टि समस्या से लेकर जोड़ों की सूजन, गुर्दे (kidney) के स्वास्थ्य और पाचन प्रक्रिया तक सब कुछ शामिल है।

Rajveer Kaur
24 Nov 2022
Diabetes: डायबिटीज़ से लड़ने के पांच साधारण तरीके

Diabetes

मधुमेह (डायबिटीज़) एक आधुनिक महामारी है पर आप थोड़े बहुत ज्ञान और समर्पण से इसको नियंत्रित कर सकते हैं। हालांकि इसका कोई प्राकृतिक इलाज नहीं है। मधुमेह के दुष्प्रभावों में दृष्टि समस्या से लेकर जोड़ों की सूजन, गुर्दे (kidney) के स्वास्थ्य और पाचन प्रक्रिया तक सब कुछ शामिल है। इसलिए, एक व्यापक जीवन शैली योजना को लागू करना बहुत महत्वपूर्ण है।

यहां आपके डायबिटीज़ से लड़ने के 5 प्रभावी तरीके दिए गए हैं:

1. खाने की आदत
पूरे दिन छोटे छोटे मात्रा में भोजन करना महत्वपूर्ण है। कभी भी बहुत अधिक भोजन न करें क्योंकि यह आपके शुगर लेवल को बढ़ा सकता है। आप अपने भोजन को संयम से खाएं।

2. नियमित रूप से व्यायाम करें
व्यायाम डायबिटीज़ कंट्रोल का एक महत्वपूर्ण पहलू है। यह इंसुलिन संवेदनशीलता (insulin sensitivity) में सुधार, वजन घटाने और रक्त शर्करा (blood sugar) के स्तर को कम करने में मदद करता है। व्यायाम करने से शरीर में मौजूद अतिरिक्त चीनी बर्न होती है।

3. कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थों का विकल्प चुनें
लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ खाना डायबिटीज़ रोगियों के लिए आदर्श है। ग्लाइसेमिक इंडेक्स ये आकलन करने के लिए विकसित किया गया है कि भोजन कितनी जल्दी ग्लूकोज में परिवर्तित होता है। ग्लाइसेमिक इंडेक्स जितना कम होगा, भोजन को चीनी में बदलने में उतना ही अधिक समय लगेगा।   इनमें मांस, जौ, बीन्स, शकरकंद, मक्का और अधिकांश फल शामिल हैं।

4. तनाव को दूर करें
तनाव आसानी से आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है। यह सिद्ध हो चुका है कि तनाव ग्लूकागन और कोर्टिसोल हार्मोन उन्मुक्त करता है जो शर्करा के स्तर को बढ़ाता है। ध्यान (meditation), व्यायाम और विश्राम (relaxation) तनाव के स्तर को कम करने के उपाय हैं। अध्ययनों ने सुझाव दिया है कि योग (yoga) शरीर के इंसुलिन संवेदनशीलता में भी सुधार कर सकता है।

5. शुगर लेवल की जांच करते रहे
डायबिटीज़ कंट्रोल में पहले यह जानना है होगा आपकी स्थिति कितनी खराब है। यही कारण है कि नियमित अंतराल पर शुगर लेवल की निगरानी करना महत्वपूर्ण है। इसके अलावा, इससे आपको यह समझने में भी मदद मिलेगा कि विभिन्न खाद्य पदार्थ आपके शुगर लेवल को कैसे प्रभावित करते हैं।

अनुशंसित लेख