Breast Cancer: कैसे पहचाने ब्रेस्ट या स्तन कैंसर तो नहीं

हैल्थ : महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर या स्तन कैंसर जैसी समस्या बढ़ती जा रही है। यह 40 साल के भीतर होना शुरू हो गया है। स्तन कैंसर का समय रहते इलाज न कराने पर यह आगे के लिए ख़तरा होता है।

Prabha Joshi
23 Jan 2023
Breast Cancer: कैसे पहचाने ब्रेस्ट या स्तन कैंसर तो नहीं

ब्रेस्ट कैंसर महिलाओं में बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है

Breast Cancer: महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर या स्तन कैंसर जैसी समस्या बढ़ती जा रही है। यह 40 साल के भीतर होना शुरू हो गया है। स्तन कैंसर का समय रहते इलाज न कराने पर यह आगे के लिए ख़तरा होता है। अपने ब्रेस्ट की समय-समय पर जांच ख़ुद करने से इससे ठीक समय पर बचा जा सकता है। ब्रेस्ट कैंसर की मुख्य वजह जो सामने आई है वह है सही दिनचर्या या लाइफ़स्टाइल न होना, शारीरिक परिश्रम में क़मी करना, अत्यधिक नशीले पदार्थों का सेवन जैसे शराब, धूम्रपान आदि। बहुत से काम मशीनों के हो जाने से, और मशीनों से निकलने वाले रेडिएशन्स इसके पीछे की मुख्य वजह हैं। आइए जाने ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण जो अक्सर पाए जाते हैं :-

  • बग़ल में या ब़गल और ब्रेस्ट के आसपास गांठ महसूस होना
  • ब्रेस्ट को छूने में दर्द और गांठ महसूस होना
  • निप्पल में दर्द, रंग का फ़र्क या उसमें से द्रव्य-सा निकलना या कुछ भी परिवर्तन 
  • ब्रेस्ट में सूजन या उनका अनावश्यक बढ़ना
  • ब्रेस्ट या आसपास की त्वचा में परिवर्तन

हालांकि बहुत बार अन्य कारणों से भी स्तनों में परिवर्तन आता है। ब्रस्ट का बदलना उम्र के साथ होता रहता है। पीरियड्स से पहले भी ब्रेस्ट में बदलाव आने स्वभाविक हैं। फिर भी, इन सबसे कारणों से हटकर अगर ऊपर बताए कुछ भी परिवर्तन आपको महसूस हों तो तुरंत स्त्री रोग विशेषज्ञ से परामर्श लें। स्तन कैंसर के लक्षण हर किसी को अलग-अलग तरह के होतें हैं। बहुत बार स्तन कैंसर का कोई उचित लक्षण भी नहीं समझ आता। 

ब्रेस्ट कैंसर से बचाव के लिए ज़रूरी है आप धूम्रपान और शराब सेवन से बचें। पौष्टिक आहार लें और साथ ही शारीरिक व्यायाम करें। ऐसा भी देखा गया है कि महिलाएं ब्रेस्ट के आकार बिगड़ने या अन्य कारणों के चलते स्तनपान कराने से बचती हैं। लेकिन बता दें, स्तनपान कराने से ब्रेस्ट कैंसर का ख़तरा टल जाता है।

ख़ुद कैसे करें ब्रस्ट की जांच 

समय-समय पर ख़ुद से ब्रेस्ट की जांच ज़रूरी है। अपने ब्रेस्ट की जांच के लिए आप हाथ को ऊपर को सीधा रखें। बग़ल और उसके आसपास जांच करें किसी तरह की कोई गांठ तो नहीं। ऐसे ही ब्रेस्ट और निप्पल के आसपास समय-समय पर दबाकर जांच करते रहें। किसी भी तरह के दर्द या गांठ के महसूस होने पर विशेषज्ञ से परामर्श लें। 

इस तरह आप समय रहते अपने ब्रेस्ट हैल्थ को बचा सकती हैं। समय रहते स्तन कैंसर को सही न करने पर एडवांस स्टेज में सर्जरी कराने की आवश्यकता पड़ जाती है। ऐसे में ज़रूरी है आप हिचकिचाए नहीं और कुछ भी असहजता महसूस होने पर किसी स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह लें। 

चेतावनी : प्रदान की जा रही जानकारी केवल सूचनात्मक उद्देश्य से है। कुछ भी प्रयोग में लेने से पूर्व चिकित्सा विशेषज्ञ से अवश्य परामर्श लें।

Read The Next Article