Advertisment

Urinary Incontinence की समस्या महिलाओं को किस प्रकार प्रभावित करती है?

बढ़ती उम्र के साथ आमतौर पर महिलाओं को अनेक स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है, और यूरिनरी इनकंटीनेंस एक ऐसी ही समस्या है जो उनके जीवन को प्रभावित कर सकती है। इस समस्या का असर बड़ी उम्र की महिलाओं के जीवन पर कई तरह का होता है। 

author-image
Ritika Negi
New Update
Urinary Incontinence in women

(Image Credit: Lybrate)

Impact of urinary incontinence on older women's life: बढ़ती उम्र के साथ आमतौर पर महिलाओं को अनेक स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है, और यूरिनरी इनकंटीनेंस एक ऐसी ही समस्या है जो उनके जीवन को प्रभावित कर सकती है। यह समस्या अधिकतर बड़ी उम्र की महिलाओं में होती है और इसका उनके जीवन पर कई प्रकार का प्रभाव पड़ता है। इस आर्टिकल में हम यूरिनरी इनकंटीनेंस और उसके प्रभावों के बारे में जानेंगे। 

Advertisment

क्या होता है यूरिनरी इनकंटीनेंस? (What is Urinary Incontinence?)

यूरिनरी इनकंटीनेंस एक ऐसी स्थिति है, जिसमें अनवांटेड रूप से यूरिन हो जाती है। यह यूरिन न रोक पाने की स्थिति होती है, इसका मतलब मरीज उस समय यूरिन कर देता है, जब वह नहीं चाहता। इस बीमारी के चलते शरीर में यूरिन को कंट्रोल करने वाले स्फिंक्टर (Sphincter) कमजोर पड़ जाते हैं। यह एक समान्य समस्या होती है लेकिन इसकी गंभीरता तब बड़ जाती है, जब सिर्फ खांसने या छींकने पर यूरिन हो जाती है और अचानक से यूरिन करने की इच्छा होती है और टॉयलेट जाने तक यूरिन कंट्रोल नहीं हो पाती। यह समस्या उम्र बढ़ने के साथ आम हो जाती है, यूरिन इनकंटीनेंस की समस्या पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में होती हैं। 

यूरिनरी इनकंटीनेंस की समस्या किस प्रकार महिलाओं को प्रभावित करता है?  

Advertisment

1. शारीरिक परेशानीयाँ

यूरिनरी इनकंटीनेंस से पीड़ित महिलाओं को शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। वे अक्सर बार-बार यूरिन करने की आवश्यकता महसूस करती हैं, जिससे उनका दिनचर्या असंतुलित हो जाता है। इसके अलावा, कई महिलाओं को रात में बिना पता चले यूरिन हो जाती है, जिससे उन्हें नींद की परेशानी होती है। 

2. सामाजिक और मानसिक प्रभाव

Advertisment

यूरिनरी इनकंटीनेंस के कारण महिलाओं को सामाजिक और मानसिक तनाव भी होता है। वे घर से बाहर जाने से डरती हैं, और सामाजिक घटनाओं में भाग नहीं लेती हैं क्योंकि उन्हें अपमान और लज्जा का अनुभव होता है। इससे उनका सामाजिक और साइकोलॉजिकल विकास प्रभावित हो सकता है।

3. स्वास्थ्य संबंधी समस्याएँ 

यूरिनरी इनकंटीनेंस की समस्या के बढ़ जाने से स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा भी बढ़ जाता है। महिलाओं को अन्य बीमारियां जैसे कि मूत्र मार्ग संक्रमण (Urinary Tract Infection UTI), योनि में परेशानी, यूरिन करते वक्त दर्द, इंफेक्शन और किडनी से संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 

Advertisment

4. आत्मविश्वास की कमी

यूरिनरी इनकंटीनेंस की समस्या से प्रभावित होने पर बड़ी उम्र की महिलाओं का आत्मविश्वास कम हो जाता है। वे सामाजिक घटनाओं या सामाजिक मिलनसर कार्यक्रमों में भाग नहीं लेना चाहतीं क्योंकि वे आत्मनिर्भर नहीं महसूस करतीं। 

Disclaimer: इस प्लेटफार्म पर मौजूद जानकारी केवल आपकी जानकारी के लिए है। हमेशा चिकित्सा या स्वास्थ्य संबंधी निर्णय लेने से पहले किसी एक्सपर्ट की सलाह लें।

older women's Urinary Incontinence Impact
Advertisment