Advertisment

Yoga Poses: आपके प्रजनन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए योगासन

हैल्थ: योग करने से हमारे शरीर को कई तरह के स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। इतना ही नहीं यह हमारे फिजिकल और मेंटल हेल्थ दोनो के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है। लेकिन योग की मदद से आप अपना प्रजनन स्वास्थ्य भी ठीक कर सकते हैं। अधिक पढ़ें इस ब्लॉग में-

author-image
Priya Singh
New Update
Yoga Poses(Mom Junction)

Yoga Poses To Boost Your Reproductive Health (Image Credit - Mom Junction)

Yoga Poses To Boost Your Reproductive Health: योग करने से हमारे शरीर को कई तरह के स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। इतना ही नहीं यह हमारे फिजिकल और मेंटल हेल्थ दोनो के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है। लेकिन योग की मदद से आप अपना प्रजनन स्वास्थ्य भी ठीक कर सकते हैं। योग हमारे स्वास्थ्य में सुधार करने, स्ट्रेस कम करने और रेस्ट को बढ़ावा देने के रूप में जाना जाता है। इससे आपको रिप्रोडक्शन में सहायता मिल सकती है। इसके साथ ही आप अपने प्रजनन स्वास्थ्य को बेहतर करने के लिए कुछ योगासन की भी मदद ले सकती हैं। आइए जानते हैं कि कौन से हैं वो योगासन। 

Advertisment

रिप्रोडक्टिव हेल्थ को ठीक करने वाले कुछ योगासन 

1. बद्ध कोणासन

यह योग मुद्रा कमर और हिप्स की मांसपेशियों को फैलाने में मदद करती है, जिससे अक्सर श्रोणि क्षेत्र में ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता है। 

Advertisment

2. उष्ट्रासन 

यह बैकबेंड शरीर के अगले हिस्से को खोलने में मदद कर सकता है, जिससे प्रमुख रूप से प्रजनन अंगों में ब्लड के फ्लो में सुधार हो जाता है। जिससे महिलाओं को रिप्रोडक्शन में कम समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

3. अर्ध चंद्रासन

Advertisment

यह संतुलन मुद्रा कोर को संलग्न कर सकती है और स्थिरता को बढ़ावा दे सकती है, जिससे संभावित रूप से श्रोणि क्षेत्र को लाभ हो सकता है और महिलाओं की रिप्रोडक्टिव हेल्थ में सुधार होता है।

4. सुप्त बद्ध कोणासन 

बैठे हुए संस्करण के समान यह झुकी हुई मुद्रा हिप्स को खोलने और श्रोणि क्षेत्र को आराम देने में मदद करती है।

Advertisment

5. विपरीत करणी 

यह पुनर्स्थापनात्मक मुद्रा पेल्विक एरिया में ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने और तनाव को कम करने में मदद कर सकती है।

6. बालासन

Advertisment

चाइल्ड पोज़ एक हल्का आराम करने वाला पोज़ है जो पेल्विक एरिया और पीठ के निचले हिस्से को आराम देने में मदद करता है। इससे महिलाओं को रेस्ट के साथ साथ प्रजनन में भी सहायता मिलती है।

7. उत्कट कोणासन 

देवी मुद्रा हिप्स को खोलने और पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद करती है। जिससे प्रजनन में सुधार होता है।

चेतावनी: प्रदान की जा रही जानकारी केवल सूचनात्मक उद्देश्य से है। कुछ भी प्रयोग में लेने से पूर्व चिकित्सा विशेषज्ञ से अवश्य परामर्श लें।

Yoga Poses
Advertisment