Relationship Taboos: ऐसी बातें जो रिलेशनशिप में नहीं होनी चाहिए

Rajveer Kaur
13 Oct 2022
Relationship Taboos: ऐसी बातें जो रिलेशनशिप में नहीं होनी चाहिए

प्यार एक खूबसूरत एहसास हैं।इसमें आप एक दूसरे को मिलते हों उसको जानते हो। अगर कई बार पार्ट्नर अच्छा भी मिल जाए तो आप उसके साथ लाइफ़ गुज़ारने का भी प्लान बना लेते हो। आज भी बहुत सी ऐसी बातें जो रिलेशनशिप में नहीं होनी चाहिए। हमें रिलेशन अपने पार्ट्नर को कंट्रोल नहीं करना चाहिए उसे सपोर्ट करना चाहिए। उसका साथ देना चाहिए। आज हम आपको रिलेशनशिप में मजूद ऐसी बातें बताएँगे जो नहीं होनी चाहिए-

1. पर्सनल स्पेस

प्यार में दो लोग इन्वोल्व होते है लेकिन पर्सनल स्पेस भी बहुत ज़रूर नहीं। अगर आप किसी के साथ रिलेशनशिप में हो इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपने पार्ट्नर को पर्सनल स्पेस ही ना दो। हर वख्त उसे बात करने लिए कहो। उसे पूछो कि वो अभी क्या कर रहा है, कहाँ जा रहा है, किसके साथ हैं, क्या पहन रहा है। आपको यह भूलना चाहिए वे एक अलग पर्सन है। इसका मतलब यह नहीं अगर वे रिलेशन में है तो आपको उसकी हर बात जाननी ही है।

2. पसंद 

प्यार या रिलेशनशिप में होने का मतलब यह नहीं है जो चीजें आपको पसंद हों आपके पार्ट्नर को भी वहीं चीजें पसंद हो। वे एक अलग पर्सनैलिटी है आप एक अलग हो। प्यार का मतलब यह नहीं आप उस पर पसंद लागू करो इसका मतलब है आप उसकी पसंद इज़्ज़त करो। रिलेशनशिप में एक दूसरे से अलग पसंद होना बिल्कुल जायज़ है और इसमें कोई अलग बात नहीं है। हमें इस चीज़ को बिल्कुल सहज करना चाहिए। ख़ासकर महिलाओं पर अपने पार्ट्नर की पसंद को अपनी पसंद मानने पर ज़ोर डाला जाता हैं।

3. फ़ैसले

रिलेशनशिप में ज़रूरी नहीं हर फ़ैसले मर्द को ही करने है। औरतें भी फ़ैसले ले सकती है। उसको अपने फैसले लेने का पूरा हक़ है।हमारे समाज के अनुसार माने औरतें फैसले नहीं ले सकती है लेकिन रिलेशन में मर्द और औरत को बराबर मानना चाहिए और दोनों को फैसले लेने का अधिकार होना चाहिए।

4. दोस्तों के साथ घूमना

अक्सर देखा जाता जब दो लोग रिलेशन में आते है तब लड़की को उसके मेल पार्ट्नर की तरफ़ से कहा जाता है दोस्तों के साथ तुमने घूमना नहीं है। तुमने अब मेरे साथ ही जाना है यहाँ पर जाना है। क्यों रिलेशन में लड़की को कोई आज़ादी नहीं है? उसको कोई हक़ नहीं है अपनी लाइफ़ जीने का? आप किसी से प्यार करते हों इसका मतलब यह नहीं है आपकी अपनी कोई लाइफ़ नहीं है।

5. खर्च हमेशा लड़का उठाए

रिलेशन में होने का मतलब यह बिल्कुल नहीं है सारा खर्चा लड़का ही उठाए। आज की लड़की पढ़ी-लिखी है और नौकरी भी करती है वे अपने पार्ट्नर को पैसे की सपोर्ट दे सकती है। यह एक बहुत बढ़ी टैबू है कि खर्चा हमेशा लड़के को ही उठाना है।

अनुशंसित लेख