सूर्य नमस्कार का मतलब है “सूर्य को नमस्कार करना” । यह योगासनों में सर्वश्रेष्ठ है। सूर्य नमस्कार से शरीर और रोग मुक्त हो जाता है। रोज 5-10 मिनट सूर्य नमस्कार करने के बाद आपको कोई आसन करने की भी आवश्यकता नहीं होगी।

image

इसमें कुल 12 योगा के पोज़ होते हैं । प्रत्येक पोज में सूर्य के अलग नाम होते हैं । यह एक्सरसाइज घर में भी हो सकती है, जब आपके पास बाहर पार्क में जाने का ऑप्शन ना हो।

इसमें आपको सिर्फ एक योगा मैट चाहिए और आप सूर्य नमस्कार करने के लिए तैयार हो जाएंगे। ‌

सूर्य नमस्कार के फायदे (surya namaskar ke fayde) 

1. इसमें कुल 12 आसन होते हैं। इसमें आपको किसी बाहरी वस्तु की जरूरत भी नहीं पड़ती।  इसे करने से केवल आपका मोटापा ही कम नहीं होता बल्कि आपके बैली को एक शेप प्रदान करता है और टोनिंग करता है।

2. सूर्य नमस्कार रोज़ करने से, आप 1 दिन में 400 से भी अधिक कैलोरी बर्न कर सकते हैं।

3. इसका असर नर्वस सिस्टम पर पड़ता है । इसे करने से गुड हार्मोन्स का स्त्राव बढ़ता है। इतना ही नहीं इस आसन से थॉयरायड ग्लैंड की क्रिया नॉर्मल होती है।

“इस एक्सरसाइज से मेटाबॉलिज्म , ब्लड सरकुलेशन लेवल इंप्रूव होता है और महिलाओं के पीरियड्स को रेग्युलर करने मैं भी फायदेमंद है” – प्रियंका मेहता

4.महिलाओं के लिए सूर्य नमस्कार बहुत ही फायदेमंद होता है।  पीरियड्स को रेग्युलर करने, हैवी ब्लीडिंग या कम ब्लीडिंग को सही करने के साथ डिलीवरी के समय होने वाली दिक्कतों या दर्द को कम करता है।

5. जो महिलाएं रोज सूर्य नमस्कार करती हैं , उनके चेहरे पर झुर्रियां नहीं आती और स्किन भी ग्लो करती है। इसे करने से ब्लड सरकुलेशन भी अच्छा रहता है।

6. सूर्य नमस्कार के 12 आसनों को करने से सेक्सुअल फंक्शन में भी सुधार होता है।

महिलाओं के लिए यह बहुत ही फायदेमंद होता है।  पीरियड्स को रेग्युलर करने, हैवी ब्लीडिंग या कम ब्लीडिंग को सही करने के साथ डिलीवरी के समय होने वाली दिक्कतों या दर्द को कम करता है।

7. सूर्य नमस्कार आप पूरे दिन में किसी भी टाईम कर सकते हैं लेकिन ज्यादातर लोग सूर्य उदय के समय इसे करना सही समझते हैं।

8. सूर्य नमस्कार की स्पीड आप अपने मन मुताबिक चुन सकते हैं। कई लोग और ट्रेनर्स अपने प्रेफरेंस के अनुसार इसकी स्पीड चुनते  हैं।‌ कुछ लोग फ्लैक्सिबिलिटी के लिए इसे धीरे करना पसंद करते हैं , तो कुछ वजन घटाने के लिए तेज स्पीड में करते हैं।

9. फिटनेस कोच प्रियंका मेहता ने कहा – ”सूर्य नमस्कार के‌ पोस्चर एक अच्छा कॉन्बिनेशन है , जो वार्म अप और आसन करने के लिए  है। सूर्यनमस्कार को फुल बॉडी वर्कआउट के तौर पर माना जाता है। यह हमारी बैक और मसल्स को भी मजबूत करता है ”।

10. ”इस एक्सरसाइज को ‘अल्टीमेट आसन’ के नाम से जाना जाता है क्योंकि यह फिजिकल बॉडी के अलावा भी और फायदे करता है। इस एक्सरसाइज से मेटाबॉलिज्म , ब्लड सरकुलेशन लेवल इंप्रूव होता है और महिलाओं के पीरियड्स को रेग्युलर करने मैं भी फायदेमंद है” – मेहता ने कहा।

ये हैं surya namaskar ke fayde

पढ़िए : जानिए क्यों योग को मॉडर्न डे टॉनिक कहा गया है

Email us at connect@shethepeople.tv