5 Period Myths That You Don't Have To Believe: 5 पीरियड मिथ जिन पर आपको विश्वास नहीं करना चाहिए

5 Period Myths That You Don't Have To Believe: 5 पीरियड मिथ जिन पर आपको विश्वास नहीं करना चाहिए 5 Period Myths That You Don't Have To Believe: 5 पीरियड मिथ जिन पर आपको विश्वास नहीं करना चाहिए

SheThePeople Team

29 Nov 2021


Period Myths That You Don't Have To Believe: क्या आपको अपने पीरियड्स के दौरान खाने, सोने, चलने और एक अलग तरीके से रहने के लिए सख्त गाइडलाइन्स मिली हैं? क्या आप कभी उनसे सवाल करते हैं?
अक्सर लोग पीरियड्स के बारे में बात करने में शर्म महसूस करते हैं। लड़कियों को यह कहा जाता है कि इस बारे में किसी को पता नहीं चलना चाहिए। यहां तक कि अपने ही घर में एक लड़की कम्फर्टेबल हो कर नहीं रह सकती। हालाँकि इन सब चीज़ों में बदलाव तो आ रहा है, लेकिन फ़िर भी इसकी सही एजुकेशन बहुत ज़रूरी है। पीरियड्स से रिलेटेड अभी भी कई मिथ ऐसे हैं जिन पर हमे विश्वास नहीं करना चाहिए। 


Period Myths That You Don't Have To Believe: पीरियड मिथ जिन पर आपको विश्वास नहीं करना चाहिए-


1. पीरियड्स में लड़कियां इमप्योर होती हैं 


जी हाँ, हमारे समाज में अभी भी ऐसा ही माना जाता है कि अपने पीरियड्स के दौरान लड़कियां अशुद्ध होती हैं। उन्हें रसोई में जाने की, खाना बनाने की इजाज़त नहीं दी जाती। लेकिन असल में ऐसा नहीं होना चाहिए। पीरियड्स तो बस नेचर का एक तरीका है हमसे ये कहने का कि हम बड़े हो रहे हैं। इसमें इम्प्योरिटी जैसी कोई बात नहीं होती। इसलिए लोगों को अब इस बात पर विश्वास करना छोड़ देना चाहिए।


2. अचार, दही मत खाओ 


अक्सर पीरियड्स के वक्त लड़कियों से कहा जाता है कि उन्हें इस दौरान अचार, इमली, दही, और खट्टी चीज़ें नहीं खानी चाहिए। यह एक मिथ है कि ये सब खाने से मेंस्ट्रुअल फ़्लो में गड़बड़ होने लगती है। लेकिन फैक्ट तो यह है कि ये सब चीज़ें मेंस्ट्रुअल फ़्लो पर कोई असर नहीं डालती, बल्कि दही खाने से बॉडी एनर्जेटिक ही फ़ील करती है। इसलिए आपका जो मन करे, आप ख़ुशी से खाएं, लेकिन इसी के साथ अपनी सेहत का भी ख्याल रखें। 


3. पीरियड्स चार दिन तक ही होने चाहिए 


यह तो सबसे बड़ा मिथ है कि पीरियड्स सिर्फ़ चार दिनों के लिए होने चाहिए। हर औरत का साईकल अलग होता है और यह पूरी तरह से शरीर पर निर्भर करता है कि महिलाओं को कितने समय तक पीरियड्स हो रहे हैं। नॉर्मली तो मेंस्ट्रुएशन पीरियड 2-8 दिनों तक रहता है। लेकिन अगर आपको 2 से कम या 8 दिनों से ज़्यादा पीरियड्स हो रहे हैं, तो आपको डॉक्टर से ज़रूर मिलना चाहिए। लेकिन इसमें दूसरों की बात सुनकर बुरा फ़ील करने जैसी कोई बात नहीं है।


4. आपको अपना सिर नहीं धोना चाहिए


पीरियड्स का नहाने, सिर धोने, मेकअप प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने से कोई लेना-देना नहीं है। असल में, रेगुलरली नहाने से और सिर धोने से आपकी हाईजीन मेन्टेन होगी। आप किसी भी तरीके के इन्फ़ेक्शन से बच सकते हैं। लेकिन आखिर में सिर धोना या न धोना आपका अपना डिसिशन है। आप अपनी बॉडी और अपने कम्फर्ट के हिसाब से अपने पीरियड को मैनेज करें।


5. पेड़ पौधों को हाथ मत लगाओ 


पीरियड्स के दौरान लड़कियों को पेड़-पौधों के नज़दीक जाने से और उन्हें छूने से मना किया जाता है और ये कहा जाता है कि उनके ऐसा करने से पेड़-पौधे मर जायेंगे, लेकिन ये सिर्फ़ एक मिथ है। पेड़-पौधे इंसानों की तरह किसी में भेदभाव नहीं करते। इसलिए इस तरह के मिथ्स पर विश्वास करना अब छोड़ देना चाहिए। पीरियड्स में हमें हमारे कम्फर्ट पर सबसे ज़्यादा ध्यान देना चाहिए।


 







अनुशंसित लेख