टी एंड सी | गोपनीयता पालिसी

संचालित द्वारा Publive

फ़ीचर्ड ब्लॉग

Common Breastfeeding Problems: ब्रेस्ट फीड कराते समय महिलाओं को किन परेशानियों का सामना करना पड़ता है? 

Common Breastfeeding Problems: ब्रेस्ट फीड कराते समय महिलाओं को किन परेशानियों का सामना करना पड़ता है? 
SheThePeople Team

18 Dec 2021


Common Breastfeeding Problems:  एक महिला के लिए मां बनने की खुशी से बढ़कर और कोई खुशी नहीं होती। जितनी खुशी एक महिला को अपने बच्चे को देखने के बाद होती है उससे कोई व्यक्ति नहीं कर सकता, लेकिन एक बच्चे के साथ आती है ढेर सारी परेशानियां। महिलाओं को लेबर से लेकर ब्रेस्टफीडिंग तक कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

ब्रेस्टफीडिंग कोई आसान काम नहीं है खासकर की जब आप पहली बार मां बनने हो। ब्रेस्टफीडिंग के समय महिलाएं को किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है उसके बारे में यहां बताया जा रहा है। 

ब्रेस्टफीडिंग के समय किन 5 समस्याओं का सामना करना पड़ता है: Common Breastfeeding Problems


1. निप्पल में दर्द 

निप्पल में दर्द होना ब्रेस्टफीडिंग के समय काफी सामान्य परेशानी है। निप्पल में दर्द डिलीवरी के बाद कुछ हफ्तों के लिए रहती है। अगर दर्द बहुत तेज होने लगे और असहनीय हो जाए तो यह लैच की वजह से होता है। अगर बच्चा सही से लैच नहीं कर रहा तो महिलाओं के निप्पल में दर्द बढ़ सकती है जिसकी वजह से निप्पल में क्रैक, खून भी आ सकता है। इसलिए ऐसी स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें, ब्रेस्टफीडिंग की अलग अलग पोजिशन ट्राई करें, निप्पल पर हाइड्रोजेल पैड लगाएं, आदि।

2. एंगोर्जमेंट 

एंगोर्जमें एक ऐसी सिचुएशन होती है जिसमे ब्रेस्ट में ब्रेस्ट मिल्क काफी ज्यादा भरना। नवजात शिशु हर 2-3 घंटे बाद फीड करता है, और अगर बच्चा दूध नहीं पीता तो ब्रेस्ट में एंगोर्जमेंट होने लगता है। जब बच्चा दूध नहीं पीता तब दूध ब्रेस्ट में भरने लगता है और ब्रेस्ट हार्ड और सुजने लगती हैं और ब्रेस्ट में दर्द भी होने लगता है। इसके लिए ब्रेस्ट पर गर्म सेक करें, अच्छी मसाज करें और बच्चे को दूध पिलाने से पहले थोड़ा हैंड एक्सप्रेस करना। 

3. लीक ब्रेस्ट

लिकिंग ब्रेस्ट्स सामान्य परेशानी है और यह हर महिला को होता है। लिकिंग ब्रेस्ट्स पहले 2 महीने के लिए सबसे ज्यादा होता है। लिकिंग ब्रेस्ट का कारण ऑक्सीटोसिन होता है, जो एक हार्मोन है जो ब्रेस्ट मिल्क को निकलने में मदद करता है। ऑक्सीटोसिन कई कारणों से बढ़ जाता है जैसे एक मां का उसके बच्चे की तरफ प्यार से देखना, उसके बारे में सोचना, आदि जिसकी वजह से ब्रेस्ट मिल्क खुद ही बाहर आने लगता है। हालांकि यह समय के साथ रुकने लगता है। इसके लिए आप अपनी ब्रा के अंदर डिस्पोजेबल और वॉशेबल पैड का इस्तमाल कर सकते हैं। 

4. पर्याप्त ब्रेस्ट मिल्क नहीं है

कम दूध की सप्लाई मुख्य रूप से इसलिए होती है क्योंकि ब्रेस्ट से दूध को बार-बार नहीं निकाला जा रहा है। ब्रेस्ट, दूध बनने के लिए होते हैं और अगर ब्रेस्ट मिल्क सही समय पर बाहर नहीं निकाला जाएगा, तो हमारे दिमाग को सिग्नल जाता है की अब शायद दूध की जरूरत नहीं है इसलिए दूध की सप्लाई कम होने लगती है। इसके लिए बच्चे को फीड करें हर 2-3 घंटे बाद, यां फिर आप एक ब्रेस्ट पंप का इस्तमाल करके भी दूध को बाहर निकाल सकते हैं।

5. बच्चा सही से दूध नहीं पी रहा 

जब एक महिला पहली बार मां बनती है तो उससे इस परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसमें बच्चा सही से निप्पल से दूध पी नहीं पाता। इसके कई कारण होते हैं जैसे बच्चे को सही पोजिशन में नहीं पकड़ना, अगर मां के फ्लैट यां इनवर्टेड निप्पल हैं, आदि। यह समस्या काफी आम है क्योंकि नई मां को बच्चे को ब्रेस्ट से सही तरह से फीड कैसे करना होता है उसका तरीका नहीं पता होता। इसलिए अपने डॉक्टर से सलाह लें, अलग तरीके से पकड़ने की कोशिश करें, आदि।

Disclaimer: यह सार्वजनिक रूप से एकत्रित जानकारी है। यदि आपको किसी विशिष्ट सलाह की आवश्यकता है तो कृपया डॉक्टर से परामर्श करें।





अनुशंसित लेख