1 महीना पहले एक 15 साल की लड़की गुरुग्राम से दरभंगा अपने घायल पिता को अपने पीछे साईकल पर बैठा कर ले आयी थी। अब वही लड़की अपनी ही ज़िन्दगी पर बनी फ़िल्म में अपना किरदार निभाएंगी। ज्योति कुमारी लॉकडाउन में माइग्रेंट क्राइसिस में धैर्य और हेरोइस्म का सिंबल बन कर उभरी थीं।

image

ज्योति कुमारी की फ़िल्म बनाएंगे चार दोस्त

चार दोस्त जो फ़िल्म मेकिंग और डॉक्युमेंट्रीज़ बनाने के पैशन से एक हुए हैं उन्होंने ज्योति की कहानी पर फ़िल्म बनाने के राइट्स ले लिए हैं। प्रोजेक्ट अगस्त से शुरू होगा और इसकी जानकारी रिपब्लिक को फ़िल्म डायरेक्ट करने वाले शाइन कृष्णा ने दी है।

फ़िल्म का नाम होगा आत्मनिर्भर

आत्मनिर्भर नाम से शुरू होने वाली ये फ़िल्म सिर्फ ज्योति की कहानी ही नहीं बल्कि उन इश्यूज को हाईलाइट करेगी जिन्होंने ज्योति को मई अपने की गर्मी में पिता को साईकल के पीछे बैठाए घर जाने निशचय लिया

वीमेकफिल्म्स प्रोड्यूस करेगी ये फ़िल्म

मिराज और फैरोज़ मिडिल ईस्ट में काम करते हैं जिन्होंने कृष्णा और सजीत नाम्बियार के साथ फ़िल्म के राइट्स ले लिए हैं। ‘वीमेकफिल्म्स’, करीब 20 साल पुरानी कंपनी जिसे कृष्णा ने एस्टेब्लिश किया है, वो इस फ़िल्म को प्रोड्यूस करेगी।

डॉक्यूमेंट्री नहीं होगी फ़िल्म

कृष्णा ने पीटीआई को बताया, “फ़िल्म डॉक्यूमेंट्री नहीं होगी और इसे काल्पनिक तरीके से बनाया जाएगा। इसमें कई और घटनाएं भी शामिल की जाएंगी। फ़िल्म की शूटिंग दरभंगा और गुरुग्राम के बीच होगी जहां ज्योति ने सफर तय किया था।”

कई भाषाओं में बनेगी फ़िल्म

ज्योति के पिता का रोल फाइनलाइज़ किया जा रहा है। फ़िल्म को हिंदी, इंग्लिश और मैथिली भाषा मे बनाया जाएगा और बाकी भाषाओं में डब किया जाएगा। इंटरनेशनल ऑडियंस के लिए फ़िल्म का नाम होगा ,”अ जर्नी ऑफ अ माइग्रेंट” और फ़िल्म को 20 भाषाओं के सबटाइटल्स दिए जाएंगे।

ज्योति कुमारी एक बड़ा नाम

बता दें कि ज्योति कुमारी ने अपने घायल पिता को दरभंगा से लेकर गुरुग्राम पहुँचाया था जो कि करीब 1200 किलोमीटर है।

साईकल पर ज्योति और उसके पिता ने 8 दिन का सफर तय किया। मीडिया ने उन्हें बहुत कवरेज दी। इससे आये बदलाव के बारे में पूछने पर ज्योति कहती हैं, “बहुत चेंज होगया है। गांव वालों से भी बहुत सपोर्ट मिला है।

बहुत अच्छा लग रहा है

उसके पिता वापस गुरुग्राम जाएंगे कि नहीं के सवाल पर ज्योति ने कहा कि अब वो वापस नहीं जाएंगे। फ़िल्म में रोल के बारे में पूछने पर वो पी.टी.आई से कहती हैं,”हमें बहुत अच्छा लग रहा है।”

और पढ़िए- बाइसिकल गर्ल ने ठुकराया सी.एफ.आई के ट्रायल का आफर, कहा पहले पढ़ाई पूरी करेंगी

Email us at connect@shethepeople.tv