Delhi Murder Case पर केंद्रीय मंत्री ने कहा 'शिक्षित लड़कियों को लिव-इन में नहीं आना चाहिए'

हाल ही में दिल्ली में हुए मर्डर केस को लेकर केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर ने एक बड़ा बयान दिया जिस कारण उनको लोगों की नफरत का सामना करना पड़ा, आइए जानते हैं क्या कहा उन्होंने इस न्यूज़ ब्लॉग में-

Vaishali Garg
18 Nov 2022
Delhi Murder Case पर केंद्रीय मंत्री ने कहा 'शिक्षित लड़कियों को लिव-इन में नहीं आना चाहिए'

Union minister on Delhi Murder Case

Delhi Murder Case: हाल ही में हुए दिल्ली मर्डर केस को लेकर केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर ने कहा "शिक्षित लड़कियों" पर दोष लगाया जाना चहिए जो अपने माता-पिता को छोड़कर लिव-इन रिलेशनशिप का ऑप्शन चुनती हैं,

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता ने आफताब अमीन पूनावाला द्वारा श्रद्धा वाकर की हत्या का जिक्र करते हुए कहा कि लिव-इन रिलेशनशिप "अपराध को जन्म दे रहे हैं"

किशोर ने कहा कि शिक्षित लड़कियां अपने माता-पिता को छोड़ने और लिव-इन रिलेशनशिप में रहने के लिए जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा, "ऐसी घटनाएं उन सभी लड़कियों के साथ हो रही हैं जो अच्छी तरह से पढ़ी-लिखी हैं और सोचती हैं कि वे बहुत स्पष्टवादी हैं और अपने भविष्य के बारे में निर्णय लेने की क्षमता रखती हैं।"

केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर ने कहा कि एजुकेट गर्ल्स अपने माता-पिता को छोड़ने और लिव इन रिलेशन में रहने के लिए जिम्मेदार है इस टाइप की दुष्कर्म के लिए।

दिल्ली मर्डर पर कौशल किशोर


केंद्रीय मंत्री ने कहा, "यह (Live in relationship) अपराध को जन्म दे रहे हैं और यह एक गलत बात है और लोग इसके परिणाम भुगत रहे हैं।" शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने मंत्री के इस बयान की निंदा करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। उन्होंने लिखा, "आश्चर्य है कि मंत्री जी ने यह नहीं कहा कि लड़कियां इस देश में पैदा होने के लिए जिम्मेदार हैं।"

प्रियंका चतुर्वेदी ने मंत्री कौशल किशोर की टिप्पणी को "बेशर्म, हृदयहीन और क्रूर" बताया। प्रियंका ने कहा कि केंद्रीय मंत्री ने "सभी समस्याओं की मानसिकता के लिए महिला को दोष दिया"। प्रियंका चतुर्वेदी ने उनके इस्तीफे की भी मांग की।

एक्टिविस्ट बृंदा अडिगे ने भी मंत्री कौशल किशोर की खिंचाई की और कहा, “मंत्री महिलाओं को दोष देना जारी रखते हैं। यह पितृसत्तात्मक, महिला विरोधी, सेक्सिस्ट मानसिकता क्या है?” बृंदा अडिगे ने कहा कि मंत्री को मृतक को दोष नहीं देना चाहिए और उसे "इस तरह बोलने का कोई अधिकार नहीं है"। उसने यह भी कहा, "हमें उसके किसी भी 'संस्कारी ज्ञान' की आवश्यकता नहीं है"।

कौशल किशोर जिस दिल्ली हत्याकांड का जिक्र कर रहे थे, वह श्रद्धा वाकर की हत्या उनके लिव-इन पार्टनर आफताब अमीन पूनावाला ने की थी। पुलिस ने बताया कि दंपति का 18 मई को विवाद हो गया, जो पूनावाला द्वारा वाकर का गला घोंटने के साथ समाप्त हुआ। Aftab Ameen Poonawala ने स्वर्गीय श्रद्धा वॉकर के शरीर को 35 टुकड़ों में काट दिया और उन्हें स्टोर करने के लिए 300 लीटर जरेटर खरीदा। 18 दिनों के दौरान, उन्होंने महरौली के जंगल में टुकड़ों को बिखेर दिया।

Shraddha Walker के पिता द्वारा पुलिस में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराने के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। आपको बता दें पूनावाला ने आखिरकार अपराध कबूल कर ही लिया।


अनुशंसित लेख