Advertisment

Child Stress: 5 निशानिया की आपका बच्चा स्ट्रेस में है

पेरेंटिंग: समस्या सिर्फ हमारे जिंदगी में नहीं है बच्चों के जिंदगी में भी समस्याएं आ सकती है। सभी के लिए उनकी समस्या अलग–अलग होती हैं। शायद वह उनकी समस्या आप को बोल नहीं पा रहे हैं पर आप कुछ चीजों से समझ सकते हैं कि वह स्ट्रेस में है।

author-image
Ria Dey
New Update
Child Stress(Anxiety and depression association of America.org).png

5 Signs That Your Child Is Under Stress (Image Credit:Anxiety and depression association of America.org)

Problems Of Children: समस्या सिर्फ हमारे जिंदगी में नहीं है बच्चों के जिंदगी में भी समस्याएं आ सकती है। सभी के लिए उनकी समस्या अलग–अलग होती है। तो बच्चे के लिए भी उनकी समस्या उनकी तरह है। शायद वह उनकी समस्या आप को बोल नहीं पा रहे हैं पर आप कुछ चीजों से समझ सकते हैं कि बह स्ट्रेस में है।

Advertisment

5 निशानिया की आपका बच्चा स्ट्रेस में है

1. ज्यादा गुस्सा करना

जब बच्ची स्ट्रेस में होते हैं तब बह ज्यादा गुस्सा करने लगते हैं। आप अगर खयाल करेंगे तो देखेंगे कि बह हर छोटी से छोटी चीजों के ऊपर गुस्सा करने लग रहे हैं। या फिर गुस्सा की वजह से किसी चीज़ को हिट कर रहा है, चिल्ला रहा है। आप अगर इन सभी लक्षण अपने बच्चो में पाएं तो आप समझ जाइए की बह स्ट्रेस में है।

Advertisment

2. लोगों से दूर रहना

जब बच्चो के जीवन में कोई समस्या आते हैं तब बह खुद को दूसरों से दूर रखते हैं। बह लोगों से बात करना, मिलना बंध कर देते हैं।

3. खाना ना खाना

Advertisment

जब आप दिखेंगे की बह खाना टिक से नही खा रहे हो तो समझ जाइए की उनके जीवन में कुच समस्या है। आप इसे कन्फर्म करने के लिए उनका कुछ पसंदीदा खाना बनाइयें अगर फिर भी बह नहीं खा रहे हैं तो आप को उनसे बात करनी चहिए।

4. रात तक जागना

हम सभिके जीवन में जब समस्या आते हैं तो हम रात को टिक से नही सो पाते है। बच्चे भी इसी समस्या से गुजरते हैं। स्ट्रेस के समय रात को नींद न आना, बुरा स्वप्न आना बहुत ही साधारण है इन सभी चीज को आप को ध्यान रखना पड़ेगा।

5. पढ़ाई में मन ना लगना

स्ट्रेस के कारण बह अपना पढ़ाई टिक से नही कर पाएंगे। उन्हें आपनी होमवर्क करने में मन नहीं लगेगा। अगर आप इन सभी लक्षण को अपने बच्चो में पाएं तो आप को उनके साथ बात करके उनका समस्या का समाधान करना पड़ेगा। आप इस समय उन्हें डांटना या उनकी गलती के लिए कोई दंड मत देना उससे बह और भी स्ट्रेस में चले जायेंगे।

Problems children पढ़ाई
Advertisment