Advertisment

Menopause: मेनोपॉज़ से जुड़े बदलाव क्या हैं जानें यहां

blogs | हैल्थ: मेनोपॉज़ के समय, महिलाओं के शरीर में हार्मोनों की मात्रा में बदलाव होता है। इसके कारण, महिलाओं के अंडाशय अपनी कार्यक्षमता खो देते हैं और उनके मासिक धर्म बंद हो जाते हैं।

author-image
Ayushi
08 Apr 2023
Menopause: मेनोपॉज़ से जुड़े बदलाव क्या हैं जानें यहां

Everything You Need To Know About Menopause

Everything You Need To Know About Menopause: मेनोपॉज़ एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जो महिलाओं में होती है। यह महिलाओं के जीवन का एक महत्वपूर्ण अध्याय है, जब उनकी गर्भावस्था की संभावना नहीं होती है। मेनोपॉज़ के समय, महिलाओं के शरीर में हार्मोनों की मात्रा में बदलाव होता है। इसके कारण, महिलाओं के अंडाशय अपनी कार्यक्षमता खो देते हैं और उनके मासिक धर्म बंद हो जाते हैं। महिलाओं में मेनोपॉज़ के सामान्य लक्षणों में शामिल होते हैं: गर्मी लगना, नींद की कमी, वजन बढ़ना, मूड में बदलाव, सूखी त्वचा और सेक्स की इच्छा में कमी। ये लक्षण सामान्य तौर पर 2 से 5 साल तक जारी रहते हैं। तो आइए इस हेल्थ ब्लॉग में हम जानें मेनोपॉज़ के बारे में 

Advertisment

मेनोपॉज़ के बारे में क्या जानने की आवश्यकता है

1. हॉर्मोन स्तर में बदलाव

Advertisment

मेनोपॉज के समय, महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रोन जैसे हॉर्मोनों के स्तर में बदलाव होता है। मेनोपॉज के सबसे सामान्य लक्षण हॉट फ्लैशेस, नाइट स्वेट्स, मूड बदलाव, योनि की शुष्कता और नींद की बाधाएँ शामिल होती हैं।

2. शारीरिक बदलाव

मेनोपॉज से पहले और बाद में महिलाओं के शारीरिक बदलाव होते हैं, जैसे कि हड्डियों की कमजोरी और सूखापन। मेनोपॉज अंडाशयों द्वारा हार्मोनों, विशेष रूप से एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन के उत्पादन में कमी के कारण होता है। मेनोपॉज धीरे-धीरे होने वाला प्रक्रिया हो सकता है जो कई वर्षों तक चलता रहता है, या यह चिकित्सा उपचारों या अंडाशयों की शल्य निकासी के कारण एकाएक हो जाता है।

Advertisment

3. मानसिक बदलाव

मेनोपॉज से पहले और बाद में महिलाओं के मानसिक स्वास्थ्य में बदलाव होते हैं, जैसे कि तनाव, दिमागी तनाव और नींद की समस्याएं। मानसिक बदलाव के कारण उनका मन और भी ज्यादा चिड़चिड़ा हो जाता है।

4. शरीर का वजन बढ़ने लगता है

Advertisment

महिलाओं के शरीर की वजन बढ़ने लगता है क्योंकि उनके शरीर में अंडे नहीं बनते हैं। वजन‌ बढ़ाने से वे और भी ज्यादा परेशान हो‌ जाती हैं।

5. हृदय रोगों का खतरा बढ़ता है

महिलाओं के शरीर में अनेक हृदय के रोग होने लगते हैं। इससे उन्हें जान का खतरा भी बना रहता है।

चेतावनी : प्रदान की जा रही जानकारी केवल सूचनात्मक उद्देश्य से है। कुछ भी प्रयोग में लेने से पूर्व चिकित्सा विशेषज्ञ से अवश्य परामर्श लें।

Advertisment
Advertisment