Gynecological Cancer Types: महिलाओं को होने वाले 5 गायनेकोलॉजिकल कैंसर

महिलाओं की प्रजनन प्रणाली से जुड़े कैंसर को गायनेकोलॉजिकल कैंसर कहा जाता है। इस कैंसर के अलग-अलग प्रकार होते हैं। यह कैंसर काफी गंभीर होते हैं इसलिए महिलाओं को इनके बारे में जानकारी रखना आवश्यक है-

Monika Pundir
07 Dec 2022
Gynecological Cancer Types: महिलाओं को होने वाले 5 गायनेकोलॉजिकल कैंसर

Gynecological Cancer Types

Gynecological Cancer Types: महिलाओं को होने वाले 5 गायनेकोलॉजिकल कैंसर

महिलाओं की प्रजनन प्रणाली (Reproductive system) से जुड़े कैंसर को गायनेकोलॉजिकल कैंसर कहा जाता है। लेकिन इस कैंसर के भी अलग-अलग प्रकार होते हैं। यह कैंसर काफी गंभीर होते हैं इसलिए महिलाओं को इनके बारे में जानकारी रखना आवश्यक है ताकि इनके लक्षण दिखने पर आप तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें। आइए जानते हैं रिप्रोडक्टिव सिस्टम से जुड़े पांच ऐसे कैंसर के बारे में जो महिलाओं के लिए गंभीर साबित होते हैं।

1. गर्भाशय कैंसर (Uterine Cancer)

महिलाओं के गर्भ में होने वाले कैंसर को गर्भाशय कैंसर यानी यूटरिन कैंसर कहा जाता है। इस कैंसर में महिलाओं का वजन तेजी से घटता है, पेट और उसके आसपास के हिस्सों में दर्द होता है, योनि से एक प्रकार का लिक्विड बाहर आता है जिसमें काफी बदबू होती है, और मेनोपॉज होने के बावजूद भी महिलाओं में रक्त स्त्राव देखा जाता है। यह कैंसर महिलाओं को आमतौर पर 50 से 60 साल की उम्र के बीच होता है।

2. वल्वर कैंसर (Vulvar Cancer)

वल्वर कैंसर महिलाओं के जननांग के बाहरी हिस्सों में होता है। इस कैंसर के लक्षण बहुत समय बाद दिखाई देते हैं इसलिए महिलाओं को अधिकतर इसके बारे में पता नहीं चलता है। इस कैंसर में महिलाओं को योनि में बहुत अधिक खुजली महसूस होती है, गांठ बनने की समस्या होती है, बार बार पेशाब जाना पड़ता है और काफी दर्द होता है, रक्त स्त्राव की समस्या होती है और हर वक्त बेचैनी जैसा महसूस होता है।

3. ओवेरियन कैंसर (Ovarian Cancer)

ओवेरियन कैंसर महिलाओं की ओवरीज में होता है जिसमें उनकी हेल्दी ओवरी के टिशूज डैमेज हो जाते हैं। यह कैंसर किसी जेनेटिक हिस्ट्री के कारण भी हो सकता है साथ ही महिलाओं को अगर देर से मेनोपॉज आया है तो उस कारण भी यह कैंसर हो सकता है। इस कैंसर में महिलाओं के ब्लैडर के फंक्शन प्रभावित होते हैं, उनकी भूख प्रभावित होती है, पाचन में समस्या आती है और पेट में अत्यधिक दर्द महसूस होता है।

4. योनि कैंसर (Vaginal Cancer)

महिलाओं की योनि में होने वाला कैंसर एक प्रकार का ट्यूमर होता है। इस कैंसर का पता लगाने के लिए बायोप्सी और पैप स्मीयर जैसी जांच करवानी पड़ती है। योनि कैंसर में महिलाओं की योनि में गांठ बन सकती है, योनि से डिस्चार्ज आता है, पेल्विक एरिया में काफी दर्द होता है, पेशाब बार बार जाना पड़ता है और काफी दर्द होता है।

5. सर्वाइकल कैंसर (Cervical Cancer)

सर्वाइकल कैंसर सर्विक्स में होता है। इस कैंसर के लक्षण भी काफी समय बाद दिखाई पड़ते हैं। इस कैंसर के इलाज के लिए वैक्सीन लगवाई जाती है। सर्वाइकल कैंसर में महिलाओं को पीरियड के बाद भी रक्तस्राव होता है, सेक्स करने के बाद भी खून आने की समस्या होती है, कभी भी असामान्य ब्लीडिंग होती है और तेजी से वजन कम होता है।

Read The Next Article