Why Miscarriage: बार बार गर्भपात होने के पांच बड़े कारण

बार बार गर्भपात हो जाने के कारण आप मां नही बन पा रही हैं तो आपको इसके पीछे के कारणों को जानना चाहिए। बार बार गर्भपात होना आपके स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं है और ऐसा होने के कारण आप तनाव में जा सकते हैं, पढे इस हैल्थ ब्लॉग में-

Monika Pundir
29 Nov 2022
Why Miscarriage: बार बार गर्भपात होने के पांच बड़े कारण

reason for miscarriage

Why Miscarriage: बार बार गर्भपात होने के पांच बड़े कारण

अगर आप गर्भधारण करना चाहती हैं और इसमें काफी दिक्कतें आ रही हैं या फिर बार बार गर्भपात हो जाने के कारण आप मां नही बन पा रही हैं तो आपको इसके पीछे के कारणों को जानना चाहिए। बार बार गर्भपात होना आपके स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं है और ऐसा होने के कारण आप तनाव में जा सकते हैं। अगर ऐसी स्तिथि में आप गर्भधारण करना चाहती हैं तो आपको डाक्टर से अवश्य परामर्श करना चाहिए। आइए जानते हैं कि बार बार गर्भपात होने के पीछे क्या कारण हो सकते हैं।

1. ज्याद वजन के कारण गर्भपात

अधिक मोटापा गर्भपात के खतरे को बढ़ाता है। जो महिलाएं डायबिटीज और थायराइड की समस्या से ग्रसित है उनका वजन बहुत बढ़ जाता है जिस कारण उनमें गर्भपात के चांसेस भी बढ़ जाते हैं। ऐसी महिलाओं को अपनी डाइट पर खास ध्यान देना चाहिए और अगर वह इस समस्या के दौरान गर्भवती हो जाती हैं तो उन्हें अपना ब्लड शुगर लेवल और वजन कंट्रोल में रखना चाहिए।

2. उम्र ज्यादा हो जाना

जैसे जैसे आपकी उम्र बढ़ती है वैसे ही शरीर में कुछ शारीरिक परेशानियां हो सकती हैं जिस कारण गर्भपात होने का खतरा बढ़ जाता है। उम्र बढ़ने के साथ जो शारीरिक समस्याएं शरीर में होती हैं उनका असर भूर्ण स्वास्थ्य पर पड़ता है।

3. फाइब्रॉयड्स हो जाना

फाइब्रॉयड यानी के जब आप के गर्भाशय में गांठ हो जाती है तो उस कारण भी गर्भपात होता है। इसीलिए फाइब्रॉयड्स के लक्षणों की जानकारी आपको होनी चाहिए ताकि इस समस्या का समय पर पता लगाया जा सके और उचित इलाज किया जा सके।

4. यौन संचारित रोग का होना

अगर महिलाओं में यौन संचारित रोग होते हैं तो इस कारण भी गर्भपात होता है। महिलाओं में यौन संचारित रोग होने पर क्लैमीडिया और पॉलीसिस्टिक नामक दो रोग हो सकते हैं। इन कारण भी महिलाओं में गर्भपात होता है इसलिए जब आप गर्भधारण करना चाहे तो एक बार अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

5. हार्मोंस बदलाव होना

महिलाओं के शरीर में अगर हार्मोन ज्यादा असंतुलित हो जाते हैं तो यह उनके शरीर में काफी परेशानियां पैदा करता है जिस कारण गर्भपात हो सकता है। जो महिलाएं डायबिटीज, थाइरॉएड, अधिक मोटापा से ग्रसित हैं उनमें हार्मोन ज्यादा असंतुलित होते हैं। अगर आपने गर्भधारण कर लिया है तो इस दौरान हार्मोंस के असंतुलित होने से बचने के लिए आपको मेडिटेशन, एक्सरसाइज और उचित डाइट लेनी चाहिए।

Read The Next Article