Advertisment

Emotions: जानें शरीर का कौन सा अंग किस इमोशन से प्रभावित होता है

हमारे सभी इमोशंस हमारी बॉडी के अलग-अलग पार्ट्स पर अपना असर डालते हैं। इससे बॉडी पर कई अच्छे और बुरे प्रभाव भी पड़ते हैं। लेकिन हर व्यक्ति के इमोशन अलग होते हैं इसलिए अलग-अलग लोगों पर इसके अलग प्रभाव भी दिखाई दे सकते हैं। अधिक पढ़ें इस हैल्थ ब्लॉग में - 

author-image
Priya Singh
Jun 01, 2023 13:20 IST
New Update
Which part of the body is affected by which emotion 

Which part of the body is affected by which emotion ( Image Credit - FamilyDoctor.org)

Emotions: हमारी बॉडी के अलग अलग हिस्सों पर हमारे इमोशन का अलग अलग प्रभाव पड़ता है। जब हम कुछ सोचते हैं हंसते हैं या रोते हैं या उदास या फिर दुखी होते हैं तो इसका सीधा असर हमारे बॉडी पार्ट्स पर पड़ता है। हर इमोशन का असर हमारी बॉडी पर पड़ता है। हमारे इमोशन सबसे ज्यादा हमारे माइंड को इफ़ेक्ट करते हैं। लेकिन ये हमारी बॉडी के अलग अलग पार्ट्स पर भी अपना सर डालते हैं। हमारी बॉडी के अंगों का हमारी भावनाओं के साथ जुडाव होता है जिसकी वजह से हम ऐसा फील करते हैं।

Advertisment

इमोशन ऐसे करते हैं हमारी बॉडी पर असर 

1. प्यार या अट्रैक्शन (Love & Attraction)

जब हम प्यार या अट्रैक्शन को महसूस करते हैं तो अक्सर हमारी हार्टबीट बढ़ जाती है और हमारी आंखों की पुतलियाँ फैलने लगती हैं और हमारे गाल कुछ उभरे हुए महसूस होते हैं। इस समय हम एक्साइटनमेंट भी महसूस करते हैं।

Advertisment

2. सरप्राइज (Surprise)

अक्सर जब हमें किसी बार का आश्चर्य होता है तो इसका असर हमारी बॉडी में आंखों पर और हमारी आईब्रोज़ पर पड़ता है। साथ ही सांस का तेज होने और चौंक जाने जैसा अनुभव होता है।

3. खुशी (Happiness)

Advertisment

खुशी की भावना ज्यादातर हमारी बॉडी की रिलैक्सेशन से जुड़ी होती है। इससे शरीर पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता बॉडी रेस्ट जैसा महसूस करती है। हैप्पीनेस और स्माइल अक्सर हमारी बॉडी से जुड़े इमोशन होते हैं।

4. दिल का दर्द, उदासी (Sadness)

हमारे सीने का हिस्सा ज्यादातर उदासी जैसी भवनाओं से जुड़ा होता है। जब हम उदासी या शोक का अनुभव होता है हम ज्यादातर हृदय के आस पास के एरिया में दर्द महशूस करते हैं।

Advertisment

5. स्ट्रेस, एंग्जाइटी (Stress, Anxiety)

जब हम तनाव और चिंता महसूस करते है तब हमारे शरीर पर सबसे ज्यादा नकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं। हमारी बॉडी में पेन महसूस होने लगता है। सिर दर्द महसूस होता, मसल्स में पेन होने लगता है और हार्टबीट भी बढ़ जाती है, साथ ही पसीना आना आदि समस्याएं हमें बॉडी में महसूस होती हैं।

6. कॉन्फिडेंस, पावर (Confidence, Power)

Advertisment

जब हम अपने इमोशन में आत्मविश्वास या पावर का अनुभव करते हैं तो अक्सर हमारी बॉडी को अच्छा महसूस होता है। इस समय मे हमारे शरीर का पॉस्चर सही होता है और बॉडी लैंग्वेज में सुधार आ जाता है ओर हम स्ट्रांग महसूस करते हैं।

7. तितलियां, घबराहट (Butterflies, panic)

अक्सर हम सभी पेट मे तितलियों के जैसा कुछ अनुभव करते हैं ऐसा अक्सर तब होता है जब हमें बहुत ज्यादा घबराहट होती है। स्ट्रेस ओर नर्वसनेस की स्थिति में हमें पेट में तितलियों का अनुभव होता है।

Advertisment

8. गुस्सा (Anger)

ज्यादातर लोगों को जब गुस्सा आता है तो वे अपने चेहरे पर गर्मी और तनाव को महसूस करते हैं। यह इमोशनल ज्यादातर हमारी बॉडी के फेस हाथों और माथे पर असर करता है। हाथ की मुट्ठियाँ कसी हुई और हार्टबीट बढ़ना अक्सर गुस्से के समय ही होता है।

9. डर (Fear)

दर हमारी बॉडी को ज्यादा एक्टिव करता है। इससे हमारी बॉडी के अलग-अलग कई पार्ट्स पर असर पड़ता है। दिल की धड़कन बढ़ना, पसीना आना, हाथ पैर कांपना आदि हम सभी महसूस करते हैं।

#emotions #Love & Attraction #इमोशन #बॉडी पार्ट्स
Advertisment