Children And Screen Time: कैसे करें बच्चों को दूर जाने कुछ टिप्स

Rajveer Kaur
07 Nov 2022
Children And Screen Time: कैसे करें बच्चों को  दूर जाने कुछ टिप्स

Children and Screen Time

आजकल हर चीज़ डिजिटल हो गई। पेमेंट से लेकर सर्विसेज़ तक आप हर चीज़ डिजिटल मँगवा सकते हैं। यह दुनिया पुरी डिजिटल हो गई है। इस बीच जो एक बड़ी समस्या पेरेंट्स के सामने खड़ी हो गई है वह है बच्चों का बड़ता हुआ स्क्रीन टाइम। इसका एक कारण यह भी हैं करोना के बाद बच्चों का आधे से ज़्यादा काम डिजिटल शिफ़्ट हो गया और कुछ बच्चे इसके ऐडिक्ट भी हो रहे हैं। स्क्रीन टाइम 2-3 टाइम से ऊपर हो तो हमारे दिमाग़ पर इसका बुरा असर पड़ता है। इससे हमारे होर्मोन बैलेन्स भी नहीं रहते हैं। इससे बच्चों के ध्यान लगने में भी कमी आती है। उनकी सोचने, पढ़ने की शामत में भी बदलाव आता है। आज जानेंगे कि कैसे बच्चों का स्क्रीन टाइम कम कर सकते है

कैसे करें बच्चों को स्क्रीन से दूर जाने कुछ टिप्स

स्क्रीन टाइम पर लिमिट लगाकर 
बच्चों पर आप स्क्रीन छोड़ने के लिए ज़बरदस्ती भी नहीं कर सकते हैं लेकिन आप उसका स्क्रीन का समय निर्धारित कर सकते है जैसे दिन आधा या एक घंटा है। अगर बहुत ज़रूरी तो 2 घंटे।

बात करें 
आप बच्चों से बात करें उन्हें इस चीज़ के फायदे और नुक़सान के बारे में बताए। आप उन्हें यह भी बता सकते है कि इंटर्नेट पर कैसे सुरक्षा करनी हैं, साइबर क्राइम क्या होता हैं? जब भी आप के पॉज़ समय उनसे इस बारे में ज़रूर चर्चा करें। इसके अलावा यह भी पूछे कि उन्होंने स्क्रीन टाइम में  कौन सी ऐप यूज़ की या फिर गेम कौन सी खेली।

फ़िज़िकल एक्टिविटी करवाना 
बच्चों को ज़्यादा ज़्यादा से फ़िज़िकल क्रियाओं में शामिल करें। उनके साथ कोई गेम खेलें या फिर उन्हें बाहर सैर कराने ले जाए। उन्हें उनकी हाबीज़ पहचानने में मदद करें जैसे सिंगिंग, डान्स, पेंटिंग, ट्रेकिंग, स्पोर्ट्स, गेम आदि। इससे उसकी रुचि फ़ोन में से काम हो जाएगी। उन्हें किताबें पढ़ने की आदत भी स्क्रीन पर ना डालें। बच्चों को किताबें ख़रीदकर दे।

स्क्रीन फ़्री टाइम 
घर में ऐसे टाइम रखें जिसमें कोई भी फ़ोन नहीं चलाएगा। यह सिर्फ़ फ़ैमिली टाइम होगा। इसमें सिर्फ़ बातें ही होगी। यह कोई भी समय हो सकता चाहे डिनर टाइम या फिर शाम के टाइम या संडे के दिन। यह आपको थोड़ा मुश्किल लग सकता लेकिन धीरे-धीरे इसकी आदत हो जाएगी।

बच्चों का स्क्रीन टाइम नोट करें 
आजकल फ़ोन में यह तकनीक होती हैं जो आपका स्क्रीन टाइम नोट कर लेती हैं। इस चीज़ को बच्चों को दिखाए उन्हें पता चलेगा कि वे कितने घंटे फ़ोन का इस्तेमाल करते हैं  आपको भी उनकी डेली और वीक्ली रिपोर्ट मिल जाएगी।

अनुशंसित लेख